Take a fresh look at your lifestyle.

अक्टूबर २०२०अमावस्या जानिए शुभ तिथि,समय,और पर्व और त्यौहार

हिन्दू धर्म में तिथिओं, वार, पंचांग, ग्रह, नक्षत्र सभी का बहुत ही महत्त्व है। इन्ही सब में से एक है तिथि। शास्त्रों में हर तिथि का किसी न किसी रूप में महत्त्व बताया गया है।  और इन सब तिथिओं में ये भी बताया गया है की कब – कब कौन  से तिथि किस देवी या देवता को समर्पित है।

इन्ही में से एक है अमावस्या तिथि। ज्योतिष शास्त्र और हिन्दू पंचाग के अमावस्या तिथि को पांच घटकसे बनाया गया है। पांच घटक यानी की -तिथि, वार, करण ,नक्षत्र, और योग। पंचाग की 15 तिथिओं में  एक शुक्ल पक्ष और एक कृष्ण पक्ष में होतीं है। कैसे ज्ञात हो अमावस्या तिथि ?

कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि को अमावस्या तिथि कहते है।  

शाश्त्रों के अनुसार, अमावस्या तिथि के स्वामी पितृदेव हैं। यही कारण है की सर्वपितृ मोक्ष अमावस्या तिथि को पितरों के श्राद्ध कर्म, पिंड दान कर उनकी आत्मा शांति की प्रार्थना की जाती है। प्रत्येक अमावस्या तिथि महत्वपूर्ण होती है।

पितरों की आत्म शांति के लिए किसी पवित्र नदी में स्नान करके, उनके नाम की पूजा करवाए, उनके लिए पिंड दान करें और उनके नाम का तर्पण करें। उनके नाम से किसी गरीब या जरूरतमन्द व्यक्ति को यह दान दिया जा सकता है।  ऐसा करने से पितृ प्रसन होते है और सदा खुश रहते है।

आइए जानते है कब है अक्टूबर में अमावस्या तिथि?

अमावस्या का दिन – शुक्रवार २०२०  समय – 01:00 AMअक्टूबर 17 तक

 अमावस्या का पंचांग 16 अक्टूबर 2020

तिथि
अमावस्या – 01:00 AMअक्टूबर 17 तक
पक्ष कृष्ण पक्ष
नक्षत्र
हस्त – 02:58 PM तक
चित्रा
माह आश्विन ( अधिक )

सूर्य व चंद्र से संबंधित जानकारी

सूर्योदय 05:57 AM चंद्रोदय चन्द्रोदय नहीं
सूर्यास्त 05:30 PM चंद्रास्त 05:27 PM
सूर्य राशि
कन्या
चंद्र राशि
कन्या

16 अक्टूबर 2020 शुभ मुहूर्त

अभिजित मुहूर्त 11:20 AM से 12:06 PM अमृत काल
09:43 AM से 11:07 AM
सर्वार्थ सिद्धि योग कोई नहीं रवि योग 
कोई नहीं

16 अक्टूबर 2020 का अशुभ मुहूर्त

दुष्टमुहूर्त 08:15:34 से 09:01:44 तक, 12:06:22 से 12:52:32 तक कालवेला / अर्द्धयाम 14:24:51 से 15:11:01 तक
कुलिक 08:15:34 से 09:01:44 तक यमघण्ट 15:57:10 से 16:43:20 तक
कंटक 12:52:32 से 13:38:42 तक यमगण्ड 14:36:24 से 16:02:57 तक
राहुकाल 10:16:45 से 11:43:18 तक गुलिक काल 07:23:38 से 08:50:11 तक

16 अक्टूबर 2020 का व्रत और त्यौहार

आश्विन अधिक अमावस्या, अधिक दर्श अमावस्या, अन्वाधान, आश्विन अधिक मास समाप्त