Take a fresh look at your lifestyle.

अप्रैल 2020-पंचांग और कैलेंडर

अप्रैल 2020-पंचांग और कैलेंडर, अप्रैल 2020 के मुख्य व्रत और त्यौहार, वैशाख संक्रांति फल, एकादशी व्रत, अमावस्या, पूर्णिमा, प्रदोष व्रत, गणेश चतुर्थी, लोक भविष्य, राशिफल, दुर्गाष्ठमी, राम नवमीं, श्री सत्यनारायण व्रत, अक्षय तृतीया-अप्रैल 2020

आईये जानते है अप्रैल 2020 के माह  में कौन कौन से व्रत व त्यौहार है।

श्री दुर्गाष्ठमी अप्रैल 2020 

  • 1 अप्रैल 2020 बुधवार के दिन दुर्गाष्ठमी है।

राम नवमी अप्रैल 2020

  • 2 अप्रैल 2020 गुरूवार के दिन रामनवमी है।

नवरात्र व्रत पारणा अप्रैल 2020

  • 3 अप्रैल 2020 शुक्रवार के दिन चैत्र नवरात्र का पारण दिन है।

एकादशी व्रत अप्रैल 2020

  • 4 अप्रैल 2020 शनिवार को कामदा एकादशी व्रत है।
  • 18 अप्रैल 2020 शनिवार को वरुथिनी एकादशी व्रत है।

प्रदोष व्रत अप्रैल 2020

  • 5 अप्रैल 2020, रविवार
  • 20 अप्रैल 2020, सोमवार

श्री सत्यनारायण व्रत अप्रैल 2020

  • 7 अप्रैल 2020, मंगलवार

चैत्र पूर्णिमा अप्रैल 2020

  • 8 अप्रैल 2020, बुधवार
  • इस दिन स्नानोपरांत अनाज व रंग बिरंगे कपड़ो का सौभाग्य को देने वाला है।

 श्री गणेश चतुर्थी व्रत अप्रैल 2020

  • 11 अप्रैल 2020, शनिवार

 

वैशाख अमावस्या अप्रैल 2020

  • 22 अप्रैल 2020 , बुधवार

वैशाख संक्रांति अप्रैल 2020

  • 13 अप्रैल 2020, सोमवार, वैशाख कृष्ण पक्ष, सप्तमी तिथि, पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र, रात्रि 8:23 पर तुला लग्न में प्रवेश करेगी।
  • 30 मुहूर्त्ति इस संक्रांति का स्नान-दान एवं जपादि का पुण्यकाल मध्याह्न बाद से प्रारम्भ होगा।
  • वारानुसार ध्वांक्षी तथा नक्षत्रानुसार घोरा नमक यह संक्रांति व्यापारियों के लिए लाभप्रद रहेगी।

अक्षय तृतीया अप्रैल 2020

  • 26 अप्रैल 2020 रविवार को पूर्वाह्न व्यापिनी ‘अक्षय तृतीया’ का पर्व रोहिणी नक्षत्रकालीन मनाना विशेष प्रशस्त होगा।
  • यह स्वयं सीधी मुहूर्त तिथि है।
  • मत्सयपुराण के अनुसार इस दिन अक्षत से भगवान विष्णु जी का पूजन करने का विधान है।
  • इस दिन किये गए जप, तप, ध्यान, यज्ञ, दानादि शुभ कार्यो का अक्षय फल होता है।

लोक भविष्य 

  • वैशाख संक्रांति कुंडली में कालसर्प योग तथा मकर राशि पर गुरु-शनि-मंगल आदि ग्रहों के योग के प्रभाव से भारत, पाकिस्तान एवं अफगानिस्तान आदि देशों में अराजकता,राजनितिक अस्थिरता, हिंसा, विस्फोट एवं महंगाई आदि विकट समस्याओं का सामना रहेगा।
  • वैशाख चंद्र मास में पांच बुधवार और पांच गुरूवार आने से आगामी तीन माह में जबरदस्त महंगाई होगी।
  • पश्चिमी देशो अथवा भारत के पश्चिमी राज्यों में कहीं विग्रह, जनान्दोलन एवं युद्ध का भय रहेगा।

राशिफल 

  • मेष, कर्क, सिंह, तुला, वृश्चिक, मकर एवं कुम्भ राशि वालों को यह संक्रांति शुभ एवं फलदायक रहेगी।
  • अन्य राशि वालों के लिए अशुभफली है।