Take a fresh look at your lifestyle.

अमावस्या की तिथी 2020

हिन्दू धर्म में अमावस्या को बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है। हिन्दू धर्म में अमावस्या के दिन व्रत रखने, पूजा करने और ध्यान करने का विशेष महत्व है। अमावस्या माता काली का पसंदीदा दिन माना जाता है , इस दिन कई लोग उन्हें खुश करने के लिए विशेष पूजा भी करते है। अमावस्या पितृ पक्ष के लिए भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अमावस्या के दिन पितृ श्राद और पितृ पूजा करने से उनकी आत्माओं को शान्ति मिलती है।

सोमवार को पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या कहते है, शनिवार को पड़ने वाली अमावस्या शनि अमावस्या कहते है। अमावस्या के दिन कालसर्प दोष की पूजा करने का भी विशेष महत्व है। अमावस्या के दिन कोई भी शुभ कार्य करना अच्छा नहीं माना जाता है। आइये जानते है 2020 कब कब अमावस्या आने वाली है।

जनवरी अमावस्या 2020 (माघ अमावस्या )

माघ अमावस्या 24 जनवरी 2020 को शुक्रवार के दिन है। यह अमावस्या 24 जनवरी , शुक्रवार को सुबह 2:17 से शुरू होकर, 25 जनवरी 2020 शनिवार सुबह 3:15 पर ख़त्म है। माघ माह की अमावस्या मौनी अमावस के नाम से जाना जाता है। मौनी अमावस्या के दिन मौन व्रत रखा जाता है, इस दिन गंगा नदी व अन्य पवित्र नदियों में स्नान को बहुत शुभ माना गया है। 

फरवरी अमावस्या 2020 (फाल्गुन अमावस्या)

फाल्गुन अमावस्या 23 फरवरी  2020 रविवार के दिन है। फाल्गुन माह की अमावस्या 22 फरवरी 2020 को शाम 7:02 से प्रारम्भ होगी और अगले दिन 23 फरवरी 2020 शाम 9:01 बजे तक रहेगी।

मार्च अमावस्या 2020 (चैत्र अमावस्या)

चैत्र माह की यह अमावस्या  23 मार्च 2020 को सोमवार के दिन है। यह अमावस्या 23 मार्च 2020 को दिन में 12:30 से शुरू होकर 24 मार्च 2020 दोपहर 2:57 तक है।सोमवार के दिन पड़ रही इस अमावस्या को सोमवती अमावस्या के रूप में बहुत पूजा जाता है। सोमवती अमावस्या के दिन भगवान् शिव ओर पितृ पक्ष को खुश करने के लिए विशेष पूजा  है। 

अप्रैल अमावस्या 2020 (वैशाख अमावस्या )

अप्रैल माह की यह अमावस्या 22 अप्रैल 2020 बुधवार के दिन है। वैशाख अमावस्या 22 अप्रैल 2020 सुबह 5:37 से शुरू होकर 23 अप्रैल 2020 सुबह 7:55 तक है। 

मई अमावस्या 2020 (ज्येष्ठ अमावस्या )

ज्येष्ठ अमावस्या 22 मई 2020 शुक्रवार के दिन है।  यह अमावस्या 21 मई 2020 रात 9:35 से आरम्भ हो कर 22 मई 2020 रात 11:08 तक है। 

जून अमावस्या 2020 (आषाढ़ अमावस्या)

जून माह की यह अमावस्या 21 जून 2020, रविवार के दिन है। आषाढ़ माह की यह अमावस्या 20 जून 2020 सुबह 11:52 से शुरू होकर 21 जून 2020  के दिन 12:10 तक है।

जुलाई अमावस्या 2020 (श्रवण अमावस्या)

श्रवण माह की यह अमावस्या 20 जुलाई 2020, सोमवार के दिन है। यह अमावस्या 20 जुलाई 2020 सुबह 12:10 से शुरू होकर दोपहर 11:02 तक है। 

अगस्त अमावस्या २०२० (भाद्रपद अमावस्या)

भाद्रपद माह की यह अमावस्या 19 अगस्त 2020, बुधवार के दिन है। अगस्त महीने की यह अमावस्या 18 अगस्त 2020 के दिन 10:39 से शुरू होकर 19 अगस्त 2020 को सुबह 8:11 तक है।

 सितम्बर अमावस्या 2020 (अश्विनी अमावस्या)

अश्विनी अमावस्या 17 सितम्बर 2020,  गुरूवार के दिन है। यह अमावस्या 16 सितम्बर 2020 शाम 7:56 से शुरू होकर 17 सितम्बर 2020  शाम 4:29 तक है। 

अक्टूबर  अमावस्या 2020 (अश्विनी अधिक अमावस्या)

अश्विनी अधिक माह की यह अमावस्या 16 अक्टूबर 2020 को शुक्रवार के दिन है। यह  16 अक्टूबर 2020 को सुबह 4:52 से शुरू होकर 17 अक्टूबर 2020 सुबह 1:00 बजे तक है। 

नवंबर अमावस्या 2020 (कार्तिक अमावस)

कार्तिक माह की अमावस्या 15 नवंबर 2020 को रविवार के दिन है। यह अमावस्या 14 नवंबर 2020 को दोपहर 2:17 से शुरू होकर 15 नवंबर 2020 सुबह 10:36 तक है। 

दिसंबर अमावस्या 2020 (मार्गशीर्ष अमावस्या)

मार्गशीर्ष की अमावस 14 दिसंबर 2020, सोमवार के दिन है। यह अमावस्या 14 दिसंबर 2020 सुबह 12:44 से शुरू होकर 14 दिसंबर 2020 रात 9:36 तक है।