Hindi Panchang, Online Muhurat, Astrology Services, Festivals, Vrat Tyohar

चैत्र नवरात्र 2020

चैत्र नवरात्र 2020 , मार्च नवरात्र 2020, Chaitr Navratr 2020, March Navratra

माँ दुर्गा के नवरात्र पुरे भारत में बहुत ही भक्तिभाव से मनाये जाते है। नवरात्र हिन्दुओ द्वारा मनाये जाने वाला प्रमुख त्योहारों में से एक है।

नवरात्रों में माँ के नौ अलग अलग रूपों को पूजा जाता है। पुरे वर्ष में चार बार नवरात्र आते है, परन्तु चैत्र माह के नवरात्र और अश्विनी माह के नवरात्र बहुत ही धूमधाम और श्रद्धा से मनाये जाते है।

 चैत्र नवरात्र २०२०, चैत्र नवरात्र तिथि 2020

आइये जानते है चैत्र नवरात्र कब आरंभ हो रहे है  और इन नौ दिनों में माँ के कौन कौन से रूप को पूजना है ?

नवरात्रदिनांकदिनतिथिमाँ का स्वरुप
पहला व्रत25 मार्च 2020बुधवारप्रतिपदामाँ शैलपुत्री
दूसरा व्रत26 मार्च 2020गुरूवारद्वितीयामाँ ब्रह्मचारिणी
तीसरा व्रत27 मार्च 2020शुक्रवारतृतीयामाँ चंद्रघंटा
चौथा व्रत28 मार्च 2020शनिवारचतुर्थीमाँ कुष्मांडा
पांचवा व्रत29 मार्च 2020रविवारपंचमीमाँ स्कंदमाता
छठा व्रत30 मार्च 2020सोमवारषष्ठीमाँ कात्यायनी
सातवां व्रत31 मार्च 2020मंगलवारसप्तमीमाँ कालरात्रि
आठवां व्रत1 अप्रैल 2020बुधवारअष्टमीमाँ महागौरी
नौवा व्रत2 अप्रैल 2020गुरूवारनवमीमाँ सिद्धिदात्री

 

माँ दुर्गा के नवरात्र फलाहार या निर्जला, अपनी श्रद्धा और सामर्थ्य के अनुसार किये जाते है। पहले व्रत पर कलश स्थापना या घट स्थापना भी की जाती है।

कलश या घट स्थापना का मुहूर्त

माँ दुर्गा के नवरात्रो में कलश स्थापना पहले व्रत यानी प्रतिपदा की दिन की जाती है। 25 मार्च 2020  बुधवार को सुबह 6:23 से लेकर 7:14 तक आप कलश स्थापना कर सकते है।

कई लोग नवरात्र के समय दुर्गा सप्तशती का पाठ करवाते है। पाठ के साथ साथ घर में अखंड दिप भी जलाते है।

दसवें दिन छोटी कन्याओं को बुलवाकर अपने घर में कन्या पूजन किया जाता है, तभी नवरात्री व्रतों का परायण होता है।

स्थानीय क्षेत्रों के हिसाब से कई लोग अष्टमी, नवमी या दशमी पर भी कन्या पूजन या व्रत परायण करते है।