Hindi Panchang, Online Muhurat, Astrology Services, Festivals, Vrat Tyohar

जून 2020-पंचांग और कैलेंडर

जून 2020-पंचांग और कैलेंडर, शुभ तिथियां और व्रत, आषाढ़ संक्रांति फल, एकादशी व्रत, अमावस्या, पूर्णिमा, प्रदोष व्रत, गणेश चतुर्थी,  लोक भविष्य, राशिफल, वट सावित्री व्रत, गङ्गा-दशहरा पर्व, रथयात्रा उत्सव

इस लेख हम जून माह 2020 के बारे में जानेंगे के कब कब है व्रत व् त्यौहार ? जून 2020 में कब आने वाली है पूर्णिमा और अमावस्या ?

श्रीगङ्गा-दशहरा पर्व  जून 2020 

  • 1 जून 2020, सोमवार श्रीगङ्गा-दशहरा पर्व (हरिद्वार) है।
  • गङ्गा दशहरा पर्व गंगास्नान के उपरांत पुष्प, अक्षत, धुप-दीप, नारियल आदि द्रव्यों से श्री गङ्गा जी की पूजा करना एवं स्तोत्रों का पाठ करके यथाशक्ति दान करने का विशेष माहात्म्य होगा।
  • ज्येष्ठ शुक्ल प्रतिपदा से दशमी तक श्री गंगाष्टक स्तोत्र का पाठ करने से सब प्रकार के पापसमूह नष्ट हो जाते है और दुर्लभ संपत्ति प्राप्त होती है।

एकादशी व्रत जून 2020 

  • 2 जून 2020 मंगलवार, निर्जला एकादशी व्रत है।
  • 17 जून 2020 बुधवार को योगिनी एकादशी व्रत है।

प्रदोष व्रत जून 2020

  • 3 जून 2020, बुधवार
  • 18 जून 2020, गुरूवार

पूर्णिमा जून  2020

  • 5 जून 2020, शुक्रवार के दिन ज्येष्ठ पूर्णिमा है।

श्री गणेश चतुर्थी व्रत जून  2020

  • 8 जून 2020, सोमवार

आषाढ़ संक्रांति जून  2020

  • आषाढ़ संक्रांति 14 जून 2020, रविवार के दिन है।
  • 14 जून 2020, रविवार, आषाढ़ कृष्ण पक्ष,  नवमी तिथि एवं उत्तराभाद्रपद नक्षत्र रात्रि 11:53 पर लग्न में प्रवेश करेगी।
  • 45 मुहूर्त्ति इस संक्रांति का पुण्यकाल अगले दिन प्रातः 6:17 तक रहेगा।
  • वारानुसार घोरा तथा नक्षत्रानुसार नंदा नामक यह संक्रांति विप्रों तथा कपटी लोगो के लिए लाभप्रद रहेगी।

अमावस्या जून  2020 

  • 20 जून को शनिवासरी अमावस है।
  • शनिवासरी अमावस्या को पितृकार्येषु (11:52) के पश्चात् तथा 21 को आषाढ़ी अमावस को सूर्यग्रहण भी होने से तीर्थ पर स्नान-दान, देव  पितृपूजन करने का विशेष माहात्म्य होता है।
  • 21 जून 2020 रविवार को आषाढ़ी अमावस है।

वटसावित्री व्रत जून  2020

  • 3 जून 2020, बुधवार के दिन वटसावित्री व्रत आरम्भ है।
  • 5 जून 2020, शुक्रवार को वटसावित्री व्रत पूजा जायेगा।

रथयात्रा उत्सव 

  • 23 जून 2020 को रथयात्रा उत्सव है।
  • यह उत्सव विशेष रूप से द्वितीया तिथि  भगवान श्री जगन्नाथ की रथयात्रा का भव्य उत्सव विशेषकर उड़ीसा में मनाया जाता है।

लोक भविष्य जून  2020

  • रविवार की संक्रांति एवं संक्रांति कुंडली में लग्नस्थ मंगल और मकर राशि पर गुरु-शनि का योग होने से देश के कुछ भागों में आंतरिक कलह, उपद्रव एवं अशांति  वातावरण होगा।
  • किसी  विशिष्ट नेता के अपदस्थ या अपमृत्यु के योग है।
  • देश  युद्ध का  वातावरण बनेगा।
  • चान्द्रआषाढ़ मास में पांच शनिवार और पांच रविवार होने से दैनिक उपभोग्य वस्तुओं के मूल्यों में आशातीत तेजी होगी।
  • राजनितिक वातावरण भी अनिश्चित होगा।
  • कहीं सत्ता परवर्तन टकराव, अग्निकांड, सीमाओं एवं देश में भी युद्ध जन्य वातावरण रहेगा।

राशिफल जून  2020

  • मेष, वृष, सिंह, तुला, वृश्चिक, कुम्भ एवं मीन राशि वालों के लिए लाभप्रद  तथा अन्य राशि वालो को कष्ट रहेगा।