Take a fresh look at your lifestyle.

सितम्बर 2020 में अमवस्या कब है? शुभ तिथि,समय,और पर्व और त्यौहार

पितृ पक्ष का आरम्भ भाद्रपद पूर्णिमा से शुरू हो जाता है। कृष्ण पक्ष के ये 15 दिन पूर्ण रूप से पितरों की आत्म शांति के लिए होते है। अशिवन माह का प्रथम दिन जो की कृष्ण पक्ष का होता है पितृपक्ष के रूप में जाना जाता है।

हिन्दू धर्म के अनुसार जब पितरों का समरण करते है और उनके प्रति अपना श्रद्धा भाव प्रकट करते है। उनके लिए स्नान, दान, पिंड दान,तर्पण और श्राद्ध कर्म किया जाता है। हालांकि हर अमवस्या को पिंड दान किया जाता है लेकिन अश्विन मास की अमावस्या  का महत्त्व बहुत अधिक होता है।क्योंकि इस दिन किया गया पिंड दान सर्वोपरि माना गया है।

आजकल समय की व्यस्तता के चलते लोग अपने परिजनों की तिथि भूल जाते है। इसलिए अश्विन माह की अमावस्या साल की सबसे बड़ी अमावस्या के नाम सर्व पितृ अमावस्या भी कहा जाता है। पितरों के लिए श्राद्ध कर्म करने को ही सर्वपितृ अमावस्या कहते है।

मानयता के अनुसार यदि अपने पितरों को संतुष्ट करने से वह खुश और संतुष्ट हो जाते है तो वह हमे सुख और शांति प्रदान करते है। उनके आशीर्वाद से घर और जीवन में सदैव खुशियों का आगमन होता है। एक बार को तो यह भी कहा गया है की चाहे एक बार को ईश्वर नाराज़ हो जाये पर पितृ नाराज़ नहीं होने चाहिए। क्यूंकि यदि वह नाराज़ हो गए तो उन्हें मानना बहुत ही मुश्किल हो जाता है।  इसलिए हमे पितृ कर्म के सभी कार्य भी पूर्ण करने चाहिए।

अमावस्या का दिन – गुरूवार २०२० समय – 04:29 PM तक

सर्वपितृ अमावस्या का पंचांग 17 सितम्बर 2020

तिथि
अमावस्या – 04:29 PM तक
प्रतिपदा
पक्ष कृष्ण पक्ष
नक्षत्र
पूर्वाफाल्गुनी – 09:49 AM तक
उत्तराफाल्गुनी
माह आश्विन

सूर्य व चंद्र से संबंधित जानकारी

सूर्योदय 05:45 AM चंद्रोदय चन्द्रोदय नहीं
सूर्यास्त 06:00 PM चंद्रास्त 06:16 PM
सूर्य राशि
कन्या
चंद्र राशि
सिंह – 03:07 PM तक
कन्या

17 सितम्बर 2020 शुभ मुहूर्त

अभिजित मुहूर्त 11:28 AM से 12:17 PM अमृत काल
12:39 AMसितम्बर 18 से 02:03 AM, सितम्बर 18
सर्वार्थ सिद्धि योग कोई नहीं रवि योग 
कोई नहीं

17 सितम्बर 2020 का अशुभ मुहूर्त

दुष्टमुहूर्त 09:49:39 से 10:38:38 तक, 14:43:32 से 15:32:31 तक कालवेला / अर्द्धयाम 16:21:30 से 17:10:29 तक
कुलिक 09:49:39 से 10:38:38 तक यमघण्ट 06:33:44 से 07:22:43 तक
कंटक 14:43:32 से 15:32:31 तक यमगण्ड 05:44:46 से 07:16:36 तक
राहुकाल 13:23:57 से 14:55:47 तक गुलिक काल 08:48:26 से 10:20:16 तक

17 सितम्बर 2020 का व्रत और त्यौहार

आश्विन अमावस्या, दर्श अमावस्या, अन्वाधान, सर्वपित्रू अमावस्या