Take a fresh look at your lifestyle.

सितम्बर महीने में जानिए कब है पूर्णिमा? और क्या है शुभ समय,तिथि,पर्व और त्यौहार

हिन्दू पंचाग में एक विशेष दिन होता है। जिसे पूर्णिमा कहते है। हर पूर्णिमा का अपना ही विशेष महत्व होता है।  देखा जाये तो भविष्यपुराण के अनुसार इस दिन यदि किसी भी पवित्र नदी में स्न्नान किया जाये तो इसका विशेष ही लाभ होता है। और माना जाता की नदी में  स्नान करने से सारे पाप मिट जाते है। दान करने का भी महत्त्व होता है। ऐसा विधान है।

हिन्दू धर्म  के अनुसार और प्रमुख और शुभ दिन जिसे पूर्णिमा कहते है भगवान् विष्णु नारायण का दिन माना गया है। 

एक वर्ष में 12 महीने और 12 महीनो में बारह ही पूर्णिमा होती है। हर पूर्णिमा का अलग और विशेष महत्त्व और उनसे प्राप्त होने वाला फल दोनों ही अलग होते है। इस दिन भगवान् श्री विष्णु नारायण की पूजा की जाती है। उनके नाम  का व्रत किया जाता है। श्री विष्णु जी की कथा और पूजन किया जाता है।

पूर्णिमा को श्री सत्यनारायण पूजा करने का विशेष महत्त्व है है। घरों में लोग पूजा करते है सत्यानारयण भगवान् की कथा करवाते हैं। इस बार सितंबर माह पूर्णमासी कब है आइए जानते है?

सितम्बर माह की पूर्णिमा का दिन – मंगलवार – 1 सितम्बर – समय – सुबह 9:38 से शुरू होकर  दिन – बुधवार – 2 सितम्बर 2020 बुधवार – समय -सुबह 10 :51 

सितम्बर महीने की पूर्णिमा 1 सितम्बर 2020 को है। भाद्रपद की यह पूर्णिमा 1 सितम्बर 2020 मंगलवार के दिने सुबह 9:38 से आरम्भ है और अगले दिन 2 सितम्बर 2020 बुधवार, सुबह 10:51 तक है। भाद्रपद की पूर्णिमा पर  पूजा जाता है। यह व्रत भगवान शिव व पार्वती माता की पूजा के लिए रखा जाता है।

आज का पंचांग 1 सितम्बर 2020

तिथि
चतुर्दशी – 09:38 AM तक
पूर्णिमा
पक्ष शुक्ल पक्ष
नक्षत्र
धनिष्ठा – 04:38 PM तक
शतभिषा
माह भाद्रपद

सूर्य व चंद्र से संबंधित जानकारी

सूर्योदय 05:39 AM चंद्रोदय 06:04 PM
सूर्यास्त 06:17 PM चंद्रास्त 05:30 AMसितम्बर 02
सूर्य राशि
सिंह
चंद्र राशि
कुम्भ

1 सितम्बर 2020 शुभ मुहूर्त

अभिजित मुहूर्त 11:32 AM से 12:23 PM अमृत काल
कोई नहीं
सर्वार्थ सिद्धि योग कोई नहीं रवि योग 
05:39 AM से 04:38 PM

1 सितम्बर 2020 का अशुभ मुहूर्त

दुष्टमुहूर्त 08:10:14 से 09:00:46 तक कालवेला / अर्द्धयाम 08:10:14 से 09:00:46 तक
कुलिक 13:13:25 से 14:03:56 तक यमघण्ट 09:51:18 से 10:41:50 तक
कंटक 06:29:11 से 07:19:43 तक यमगण्ड 08:48:08 से 10:22:53 तक
राहुकाल 15:07:06 से 16:41:50 तक गुलिक काल 11:57:37 से 13:32:21 तक

1 सितम्बर 2020 का व्रत और त्यौहार

अनंत चतुर्दशी, गणेश विसर्जन, अन्वाधान, भाद्रपद पूर्णिमा व्रत, पूर्णिमा श्राद्ध