Auspecious Muhurat, Daily Panchang and Festivals

साल 2023 में जनवरी से दिसम्बर तक पंचक कब-कब है?

0

हिन्दू ज्योतिष के अनुसार पंचक को शुभ नक्षत्र नहीं माना जाता है साथ ही हिन्दू पंचांग के अनुसार पंचक एक ऐसा नक्षत्र होता है जिसमे कोई भी शुभ काम नहीं किया जाता है। क्योंकि पंचक को हानिकार नक्षत्रों का योग माना जाता है। इसके अलावा नक्षत्रों के मेल से बनने वाले विशेष योग को पंचक कहा जाता है।

कब होता है पंचक योग?

जैसे की जब चन्द्रमा, कुंभ और मीन राशि पर रहता है, तब उस समय को पंचक कहते हैं। साथ ही पांच नक्षत्र घनिष्ठा, शतभिषा, पूर्व भाद्रपद, उत्तर भाद्रपद और रेवती जब ये नक्षत्र पर चन्द्रमा गोचर करता है तो उस काल को पंचक कहा जाता है। पंचक के समय में कुछ कार्यों को करने की भी मनाही होती है क्योंकि यह समय शुभ नहीं होता है।

आइये अब सालभर में पंचक कब और कौन से दिन हैं उसके बारे में विस्तार से बताते हैं।

पंचक का महीनापंचक की तारीख और समय
जनवरी 2023 में पंचकपंचक आरम्भ: 23 जनवरी 2023 दिन सोमवार को दोपहर 01:51 बजे से
पंचक समापन: 27 जनवरी 2023 दिन शुक्रवार को शाम 06:37 बजे तक।
फरवरी 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : सोमवार, 20 फरवरी 2023 पूर्वाह्न 01:14 बजे se
पंचक समापन: शुक्रवार, 24 फरवरी 2023 पूर्वाह्न 03:44 बजे तक।
मार्च 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : रविवार, 19 मार्च 2023 पूर्वाह्न 11:17 बजे से
पंचक समापन: गुरुवार 23 मार्च 2023 दोपहर 02:08 बजे तक।
अप्रैल 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : शनिवार, 15 अप्रैल 2023, शाम 06:44 बजे से
पंचक समापन: बुधवार, 19 अप्रैल 2023 पूर्वाह्न 11:53 बजे तक।
मई 2023 में पंचकपंचक आरम्भ: शनिवार, 13 मई 2023 पूर्वाह्न 00:18 बजे से
पंचक समापन: बुधवार, 17 मई 2023 पूर्वाह्न 07:39 बजे तक।
जून 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : शुक्रवार, 09 जून 2023 पूर्वाह्न 06:02 बजे से
पंचक समापन : मंगलवार, 13 जून 2023 दोपहर 01:32 बजे तक।
जुलाई 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : गुरुवार, 06 जुलाई 2023 दोपहर 01:38 बजे से
पंचक समापन: सोमवार, 10 जुलाई 2023, शाम 06:59 बजे तक।
अगस्त 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : बुधवार, 02 अगस्त 2023 पूर्वाह्न 11:26 बजे से
पंचक समापन: सोमवार, 07 अगस्त 2023 पूर्वाह्न 01:43 बजे तक।
सितम्बर 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : बुधवार, 30 अगस्त 2023 पूर्वाह्न 10:19 बजे से
पंचक समापन: रविवार, 03 सितंबर 2023 पूर्वाह्न 10:38 बजे तक।
अक्टूबर 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : मंगलवार, 24 अक्टूबर 2023 पूर्वाह्न 04:23 बजे से
पंचक समाप्त: शनिवार, 28 अक्टूबर 2023 पूर्वाह्न 07:31 बजे तक।
नवम्बर 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : सोमवार, 20 नवंबर 2023 पूर्वाह्न 10:07 बजे से
पंचक समापन : शुक्रवार, 24 नवंबर 2023 अपराह्न 04:01 बजे तक।
दिसम्बर 2023 में पंचकपंचक आरम्भ : रविवार, 17 दिसंबर 2023 अपराह्न 03:45 बजे से
पंचक समापन: गुरुवार, 21 दिसंबर 2023 रात 10:09 बजे तक।

पंचक के दौरान कौन से काम नहीं करने चाहिए?

  • पंचक में दक्षिण दिशा की यात्रा करना अच्छा नहीं माना जाता है।
  • यदि आपके घर में कोई मर गया है तो उसका दाह संस्कार भी नहीं करना चाहिए। (लेकिन ऐसा माना जाता है कि यदि किसी परिजन की मृत्यु पंचक में होती है तो उसके दाह संस्कार के समय चन्दन की पाँच लकड़ी को शव के साथ पूरे विधि विधान के साथ करने से, पंचक दोष समाप्त हो जाता है और उसके बाद आप अंतिम संस्कार कर सकते हैं)
  • पंचक के समय में लकड़ी काटने का काम करना भी वर्जित होता है।
  • पेड़ के पत्ते तोडना भी इस दौरान वर्जित होता है।
  • पीतल, तांबा और लकड़ी का संचय करना भी इस दौरान शुभ नहीं माना जाता है।
  • पंचक के समय में मकान की छत डालना, चारपाई बनाना, कुर्सी बनाना, चटाई आदि बुनना, गद्दियाँ बनाना वर्जित है।

तो यह हैं पंचक से जुडी जानकारी साथ ही साल २०२३ में पंचक के दिन कौन कौन से हैं उसके बारे में भी विस्तार से बताया गया है।

Leave a comment