Ultimate magazine theme for WordPress.

21 जनवरी 2019 चंद्र ग्रहण : जानें कब से कब तक है चंद्र ग्रहण, और क्या है खासियत?

21 जनवरी 2019 चंद्र ग्रहण

21 January 2019 Chandra grahan, चंद्र ग्रहण सूतक, चंद्र ग्रहण का समय, Lunar Eclipse 2019, January 2019 lunar eclipse, जनवरी चंद्रग्रहण, Lunar Eclipse in India 2019, Chandra grahan Kab hai, चंद्र ग्रहण कब से कब तक है, चंद्र ग्रहण की सम्पूर्ण जानकारी


Chandra Grahan 2019

सूर्य ग्रहण और चंद्र ग्रहण आकाश की वो आकर्षक खगोलीय घटनाएं हैं जिन्हे हिन्दू धर्म में बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। वैज्ञानिकों के अनुसार, ग्रहण मात्र एक आकाशीय परिवर्तन है जबकि धार्मिक रूप से इसे मनुष्य जीवन के लिए बहुत खास माना गया है।

चंद्र ग्रहण कैसे लगता है?

विज्ञान के अनुसार, जब चंद्रमा पृथ्वी के ठीक पीछे उसकी छाया में आ जाता है तो चन्द्रमा ढक जाता है जिससे चंद्र ग्रहण लगता है। ऐसा तभी होता है जब सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा इसी तरह एक सीधी रेखा में आ जाएं। चंद्र ग्रहण की स्थिति केवल पूर्णिमा के दिन ही घटित होती है जबकि सूर्य ग्रहण अमावस्या के दिन पड़ता है। चंद्र ग्रहण का आकार और उसकी अवधि इस बात पर निर्भर करती है की ग्रहण के दौरान चन्द्रमा किस स्थिति में है? पूर्ण चंद्र ग्रहण होने पर ‘ब्लड मून’ कहा जाता है।

चंद्र ग्रहण 2019

साल का पहला चंद्र ग्रहण 21 जनवरी 2019, सोमवार को लगने वाला है। यह 2019 का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा जो पौष पूर्णिमा के दिन पड़ रहा है।

21 जनवरी 2019 के चंद्र ग्रहण का सूतक 20 जनवरी 2019 की रात्रि 11 बजकर 07 मिनट से शुरू होगा और ग्रहण का आरंभ प्रातः 08 बजकर 07 मिनट को होगा। चंद्र ग्रहण का सूतक काल ग्रहण शुरू होने के 9 घंटे पहले लगता है।

चंद्र ग्रहण का आरंभ 21 जनवरी 2019 की सुबह 08 बजकर 07 मिनट पर होगा। ग्रहण की समाप्ति दोपहर 01 बजकर 07 मिनट पर होगी। यह भारतीय समय से अनुसार है। भारत में इस चंद्र ग्रहण का प्रभाव नहीं है।

चंद्र ग्रहण का समय

कब है चंद्र ग्रहण?

21 जनवरी 2019, सोमवार को पहला चंद्र ग्रहण लग रहा है। 

चंद्र ग्रहण कब से कब तक है?

चंद्र ग्रहण समय = 21 जनवरी 2019 सुबह 08:07 बजे से दोपहर 01:07 बजे तक।
ग्रहण की अवधि = 5 घंटे

चंद्र ग्रहण का सूतक = 20 जनवरी रात्रि 11:07 बजे से। 

21 जनवरी का चंद्र ग्रहण भारत में नहीं देखा जा सकेगा। इसलिए इसका सूतक काल भारत में मान्य नहीं होगा। ना तो ग्रहण मान्य होगा।

चंद्र ग्रहण कहाँ दिखाई देगा?

यह ग्रहण अमेरिका, यूरोप, अफ्रिका, मध्य प्रशांत महासागर, और मध्य पैसिफिक क्षेत्र में दिखाई देगा।