Ultimate magazine theme for WordPress.
Browsing Category

सगाई मुहूर्त 2020

सगाई मुहूर्त 2020, Engagement Muhurat 2020, रोका मुहूर्त, सगाई का शुभ मुहूर्त, लग्न सगाई मुहूर्त, Engagement Auspicious Time, Best Time for Engagement 2020, Sagai Muhurat in 2020, Auspicious Muhurat for Engagement in 2020

जून 2020 सगाई रोका मुहूर्त

June Engagement Muhurat 2020 सगाई, विवाह से पूर्व की जाने वाली महत्वपूर्ण रस्मों में से एक है। जिसे वाग्दान भी कहा जाता है। शादी से कुछ दिन या कुछ महीने पहले ये रस्म की जाती है। जिसमे वर और कन्या एक दूसरे को अंगूठी पहनाते हैं। शास्त्रों

मई 2020 सगाई रोका मुहूर्त

May Engagement Muhurat 2020 सगाई, विवाह से पूर्व की जाने वाली महत्वपूर्ण रस्मों में से एक है। जिसे वाग्दान भी कहा जाता है। शादी से कुछ दिन या कुछ महीने पहले ये रस्म की जाती है। जिसमे वर और कन्या एक दूसरे को अंगूठी पहनाते हैं। शास्त्रों

अप्रैल 2020 सगाई रोका मुहूर्त

April Engagement Muhurat 2020 सगाई, विवाह से पूर्व की जाने वाली महत्वपूर्ण रस्मों में से एक है। जिसे वाग्दान भी कहा जाता है। शादी से कुछ दिन या कुछ महीने पहले ये रस्म की जाती है। जिसमे वर और कन्या एक दूसरे को अंगूठी पहनाते हैं।

मार्च 2020 सगाई रोका मुहूर्त

March Engagement Muhurat 2020 सगाई, विवाह से पूर्व की जाने वाली महत्वपूर्ण रस्मों में से एक है। जिसे वाग्दान भी कहा जाता है। शादी से कुछ दिन या कुछ महीने पहले ये रस्म की जाती है। जिसमे वर और कन्या एक दूसरे को अंगूठी पहनाते हैं।

फरवरी 2020 सगाई रोका मुहूर्त

February Engagement Muhurat 2020 सगाई, विवाह से पूर्व की जाने वाली महत्वपूर्ण रस्मों में से एक है। जिसे वाग्दान भी कहा जाता है। शादी से कुछ दिन या कुछ महीने पहले ये रस्म की जाती है। जिसमे वर और कन्या एक दूसरे को अंगूठी पहनाते हैं।

जनवरी 2020 सगाई रोका मुहूर्त

January Engagement Muhurat 2020 सगाई, विवाह से पूर्व की जाने वाली महत्वपूर्ण रस्मों में से एक है। जिसे वाग्दान भी कहा जाता है। शादी से कुछ दिन या कुछ महीने पहले ये रस्म की जाती है। जिसमे वर और कन्या एक दूसरे को अंगूठी पहनाते हैं।

Engagement Muhurat 2020, सगाई का शुभ मुहूर्त

Engagement Muhurat 2020 शादी, वर और कन्या दोनों के जीवन में खास महत्व रखती है। शास्त्रों के अनुसार, एक निश्चित आयु के बाद लड़का और लड़की को परिणय सूत्र में बांध दिया जाता है। विवाह के समय कई तरह के रस्मों-रिवाज किये जाते हैं जो अलग-अलग