Ultimate magazine theme for WordPress.

चैत्र 2019 : चैत्र मास के पर्व त्यौहार, पूर्णमासी अमावस्या और एकादशी तिथि

चैत्र 2019 पर्व त्यौहार

चैत्र 2019, चैत्र पर्व त्यौहार, पूर्णमासी अमावस्या और एकादशी, Chaitra Date 2019, Chaitra Navratri, Ram Navami, Chaiti Chhath, Gauri Puja, Chaitra in 2019, महावीर जयंती, हनुमान जयंती 2019, पापमोचिनी एकादशी 2019, कामदा एकादशी 2019, चैत्र नवरात्री 2019, कलश स्थापना मुहूर्त 2019


चैत्र 2019

हिन्दू धर्म में चैत्र माह का बहुत खास महत्व है। आज हम आपको चैत्र माह से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियां दे रहे हैं। चैत्र 2019 कब है? चैत्र 2019 के पर्व त्यौहार, चैत्र का महत्व, चैत्र महीने में व्रत, चैत्र माह की विशेषताएं और चैत्र नवरात्री की सम्पूर्ण जानकारी।

चैत्र माह क्या है?

हिन्दू कैलेंडर शक संवत का पहला माह, चैत्र माह है। इसी महीने से राष्ट्रीय नववर्ष शक् संवत् का आरंभ होता है। शक संवत का पहला और अंतिम महीना चैत्र और फाल्गुन दोनों ही प्रकृति के बहुत ही खूबसूरत माह माने जाते हैं। वसंत ऋतू इन्ही महीनों में होती है। इसीलिए इन महीनों में प्रकृति की अलग ही छठा देखने को मिलती है। चैत्र महीने में हिन्दू धर्म के कई बड़े पर्व मनाए जाते हैं जिनमे सबसे बड़ा पर्व चैत्र नवरात्रि है।

चैत्र 2019 कब से कब तक है?

2019 में चैत्र 21 मार्च 2019, गुरुवार से प्रारंभ होगा।
चैत्र 19 अप्रैल 2019, शुक्रवार को समाप्त होगा।

चैत्र के पर्व-त्यौहार

  • 21 मार्च 2019, को होली, धुलेंडी (खेलने वाली होली) है।
  • 22 मार्च 2019, को भाई दूज है। इस दिन से राष्ट्रीय नववर्ष शक 1941 प्रारंभ हो रहा है।
  • 23 मार्च 2019, को शिवाजी जयंती है।
  • 25 मार्च 2019, को रंग पंचमी है।
  • 28 मार्च 2019, को बासोड़ा है।
  • 31 मार्च 2019, को चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी पापमोचिनी एकादशी है।
  • 5 अप्रैल 2019, को चैत्र अमावस्या है। चंद्रवर्ष संवत 2075 समाप्त।
  • 6 अप्रैल 2019, चैत्र नवरात्रि आरंभ। कलश स्थापना, गुड़ी पड़वा। हिन्दू नववर्ष प्रारंभ विक्रम संवत 2076।
  • 7 अप्रैल 2019, सिंधारा दौज है।
  • 8 अप्रैल 2019 को गणगौर पूजा, गौरी पूजा है।
  • 11 अप्रैल 2019, को चैती छठ है।
  • 14 अप्रैल 2019, को राम नवमी है।
  • 15 अप्रैल 2019, को चैत्र शुक्ल पक्ष की एकादशी कामदा एकादशी है।
  • 17 अप्रैल 2019, को महावीर जयंती है।
  • 19 अप्रैल 2019, को चैत्र पूर्णिमा और हनुमान जयंती है।

चैत्र का महत्व

शक संवत और विक्रम संवत का पहला माह चैत्र मास होता है। इस महीने से हिन्दू नववर्ष का आरंभ होता है। हिन्दू नववर्ष का पहला माह होने के कारण चैत्र का बहुत अधिक महत्व होता है। बहुत से पर्व इसी महीने में मनाए जाते हैं। नवरात्रि, गुड़ी पड़वा, गौरी पूजा, राम नवमी, चैती छठ, हनुमान जयंती, जैसे बड़े पर्व चैत्र माह में मनाए जाते हैं। माना जाता है चैत्र मास की पूर्णिमा चित्रा नक्षत्र में होती है इसलिए इस महीने को चैत्र कहा जाता है। सतयुग की शरुवात भी इसी महीने से हुई थी। पौराणिक कथाओं के अनुसार, इसी महीने की प्रतिपदा को भगवान विष्णु के सबसे पहले अवतार मतस्यावतार अवतरित हुए और जल प्रलय में फंसे मनुष्यों को बचाया था। और इस प्रलय के बाद नई सृष्टि का आरंभ हुआ।