Ultimate magazine theme for WordPress.

16 जुलाई 2019 चंद्र ग्रहण का समय

July Chandra Grahan 2019

चंद्र ग्रहण 2019

Chandra Grahan 16 July 2019 : पूर्णिमा की रात को चंद्रमा पुर्णतः गोलाकार का दिखाई देता है, लेकिन कभी-कभी चंद्रमा के पूर्ण हिस्से पर धनुष या हंसिया के आकार की काली परछाई दिखने लगती है। जो कभी-कभी चाँद को पूरी तरह से ढक लेती है। पहली स्थिति को चन्द्र अंश ग्रहण या खंड-ग्रहण कहते है जबकि दूसरी स्थिति को पूर्ण चन्द्र ग्रहण या खग्रास चंद्रग्रहण कहते है। चंद्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा तिथि को ही लगता है।

2019 का चंद्र ग्रहण भी पूर्णिमा के दिन ही लगेगा। चंद्र ग्रहण 2019 16 जुलाई 2019 यानी आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा, मंगलवार के दिन लगेगा। यह साल का दूसरा चंद्रग्रहण होगा जो भारत में पूरी तरह दिखाई देगा। 16 जुलाई का चंद्रग्रहण खण्डग्रास चंद्रग्रहण होगा। इससे पहले 21 जनवरी 2019 को चंद्र ग्रहण लगा था। जो भारत में दिखाई नहीं दिया था।

16 जुलाई चंद्र ग्रहण कौन-कौन से देशों में दिखाई देगा?

2019 का खण्डग्रास चंद्रग्रहण भारत में पूर्ण रूप से दिखाई देगा। इसके साथ-साथ यह ग्रहण एशिया, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिणी अमेरिका, यूरोप में दिखाई देगा। खंडग्रास चंद्रग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 55 सेकंड की होगी।

July Chandra Grahan 2019 Timings

2019 का चंद्रग्रहण 16 जुलाई 2019, मगंलवार को लगेगा। ग्रहण का आरंभ मध्यरात्रि 01 बजकर 37 मिनट से होगा। और समाप्ति 03 बजकर 32 मिनट पर होगा। ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 44 मिनट है।

चंद्रग्रहण 2019 = 16 जुलाई 2019, मंगलवार

ग्रहण का आरंभ = मध्यरात्रि 01:37 बजे।
ग्रहण की समाप्ति = रात 03:32 बजे।
चंद्र ग्रहण की कुल अवधि = 2 घंटे 44 मिनट।

2019 चंद्र ग्रहण का विवरण

चंद्र ग्रहणग्रहण की तारीखवारग्रहण का समय
ग्रहण सूतक16 जुलाईमंगलवार16:37
ग्रहण स्पर्श16 जुलाई – 17 जुलाईमंगलवार25:37
ग्रहण मध्य16 जुलाई – 17 जुलाईमंगलवार27:05
ग्रहण मोक्ष16 जुलाई – 17 जुलाईमंगलवार28:32
पर्व काल16 जुलाई – 17 जुलाईमंगलवार02:55

चंद्र ग्रहण के समय क्या ध्यान रखें?

चंद्र ग्रहण एक तरह की खगोलीय घटना होती है परंतु ज्योतिष में इसका खास महत्व बताया गया है। चंद्र ग्रहण लगने पर कुछ लोगों को लाभ पहुंचता है जबकि कुछ के लिए ग्रहण परेशानी का कारण बनता है। इस बार का चंद्र ग्रहण उत्तराषाढ़ नक्षत्र एवं धनु व् मकर राशि पर पडेगा। अतः जन्म व् पुकारने के नाम से जिन लोगों का उत्तराषाढ़ नक्षत्र एवं धनु व् मकर राशि हो वे ग्रहण काल के दौरान खास सावधानी बरतें।

गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान खास सावधानी रखनी होगी। आप ग्रहण को न देखें और उसकी छाया में भी नहीं जाएं। ग्रहण काल के दौरान ऐसा कोई भी काम नहीं करें जिससे गर्भ को या आपको नुकसान पहुंचे।

राशियों पर ग्रहण का फल

राशिग्रहण का फलराशिग्रहण का फल
मेषमानभंगतुलाश्री
वृषकष्टवृश्चिकहानि
मिथुनस्त्री चिंताधनुघात
कर्कसौख्यमकरक्षति
सिंहचिंताकुंभलाभ
कन्याव्यथामीनसुख