Take a fresh look at your lifestyle.

दिवाली 2018 :- दिवाली और लक्ष्मी पूजा शुभ मुहुर्त और पूजन विधि

दिवाली पर पूजा करने का शुभ समय, 2018 में दिवाली कब है, लक्ष्मी पूजा, दिवाली २०१८, लक्ष्मी पूजा 2018, दिवाली शुभ मुहुर्त, लक्ष्मी पूजा शुभ मुहुर्त, diwali poojan vidhi aur muhurat, diwali puja date in 2018, lakshmi puja deepawali

लक्ष्मी पूजन 2018 दिवाली पूजा का शुभ मुहूर्त

दिवाली हिन्दू धर्म में मनाए जाने वाले बड़े और पवित्र त्योहारों में से एक है जिसे पुरे भारत में बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है। दिवाली को दीपावली और लक्ष्मी पूजन भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन धन की देवी लक्ष्मी का पूजन किया जाता है। इसे हिन्दुओं का सबसे बड़ा पर्व इसलिए भी कहा जाता है क्योंकि ये 5 दिनों तक चलता है जिसमे सबसे पहले धनतेरस, फिर छोटी दीपवाली (नरक चतुर्दशी), उसके बाद दीपावली (मुख्य दिन), फिर गोवेर्धन/विश्वकर्मा पूजा और अंत में भाई दूज आता है।

दीपावली का पर्व कार्तिक माह की अमावस्या तिथि को मनाई जाती है। माना जाता है इस दिन भगवान राम रावण का वध करके 14 वर्ष के वनवास के बाद अपने घर अयोध्या वापस लौटे थे जिनके आने की ख़ुशी में सभी ने दीये जलाए थे और उन दीयों की रोशनी ने अमावस्या की काली रात को भी पूर्णिमा की रात बना दिया था।

दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन का महत्व :-दिवाली 2018 :- दिवाली और लक्ष्मी पूजा शुभ मुहुर्त और पूजन विधि

दीपावली के दिन लक्ष्मी पूजन का खास महत्व होता है। इस दिन सभी अपने घर में विधिवत लक्ष्मी गणेश का पूजन करते है और रात्रि के दौरान पुरे घर को दीयों से रोशन करते है। माना जाता है इस दिन देवी लक्ष्मी सभी के यहाँ भ्रमण करने आती है और जो भक्त पूरी श्रद्धा के साथ दिवाली लक्ष्मी पूजन करता है वह उसके घर सदा के लिए वास कर जाती है। बहुत से लोग इस दिन लक्ष्मी पूजन के समाप्त होने तक व्रत भी रखते है। जिसमे सुबह से लेकर शाम के लक्ष्मी पूजन तक कुछ खाया पीया नहीं जाता।

विशेष मुहूर्त में किया जाता है लक्ष्मी पूजन :-

शास्त्रों के अनुसार दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजन विशेष मुहूर्त में किया जाना चाहिए। जिसके मुताबिक लक्ष्मी पूजन प्रदोष काल में सूर्यास्त के बाद करना चाहिए। हालांकि कुछ मान्यताओं के अनुसार लक्ष्मी पूजन महानिशिता काल में करना अधिक शुभ माना जाता है। लेकिन महानिशिता काल केवल तांत्रिक पूजा और विद्वान पंडितों के लिए ही उपयुक्त होता है जिन्हें लक्ष्मी पूजन के मुहूर्त की सही जानकारी हो। सामान्य लोगों के लिए प्रदोष काल में लक्ष्मी पूजन ही शुभ माना जाता है।

लक्ष्मी पूजन के लिए चौघड़िया मुहूर्त को सही नहीं माना जाता क्योंकि यह केवल यात्रा के लिए शुभ होता है। प्रदोष काल में लक्ष्मी पूजन का सही समय स्थिर लग्न को माना जाता है। यहाँ हम आपको दिवाली 2018 लक्ष्मी पूजन 2018 का शुभ मुहूर्त और सही समय बता रहे है। जिसके मुताबिक आप भी अपनी परंपरानुसार लक्ष्मी पूजन मुहूर्त चुन सकते है।


दिवाली लक्ष्मी पूजन 2018

वर्ष 2018 में दिवाली लक्ष्मी पूजन 7 नवंबर 2018, बुधवार को किया जाएगा।

दीपावली लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त

प्रदोष काल में लक्ष्मी पूजन का मुहूर्त

लक्ष्मी पूजन मुहूर्त = 17:57 से 19:53 तक।
मुहूर्त की अवधि = 1 घंटा 55 मिनट

प्रदोष काल = 17:27 से 20:06 तक।

वृषभ काल = 17:57 से 19:53 तक।

महानिशिता काल में लक्ष्मी पूजन मुहूर्त

पूजन मुहूर्त = इस काल में पूजन का कोई मुहूर्त नहीं है!
महानिशिता काल = 23:38 से 24:31+ तक।
सिंह काल = 24:28+ से 26:45+ तक।

दिवाली लक्ष्मी पूजन में चौघड़िया मुहूर्त

दिवाली लक्ष्मी पूजन के लिए शुभ चौघड़िया मुहूर्त

प्रातःकाल मुहूर्त (लाभ, अमृत) = 16:41 से 09:23
प्रातःकाल (शुभ) = 10:44 से 12:05
मध्याह्न मुहूर्त (चर, लाभ) = 14:46 से 17:28
सायंकाल मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) = 19:07 से 21:31

अमावस्या तिथि का प्रारंभ 6 नवंबर 2018, मंगलवार को 22:27 से होगा।
जिसका समापन 7 नवंबर 2018, बुधवार 21:31 पर होगा।


Diwali 2018, Laxmi Pooja 2018, Diwali Date, लक्ष्मी पूजा, दिवाली, दिवाली २०१८, लक्ष्मी पूजा 2018, दिवाली शुभ मुहुर्त, लक्ष्मी पूजा शुभ मुहुर्त और पूजा करने की विधि हिंदी में, दिवाली की पूजा कैसे करें, दिवाली पर पूजा करने का शुभ समय, 2018 में दिवाली कब है, लक्ष्मी पूजा, दिवाली २०१८, लक्ष्मी पूजा 2018, दिवाली शुभ मुहुर्त, लक्ष्मी पूजा शुभ मुहुर्त