Ultimate magazine theme for WordPress.

द्विरागमन मुहूर्त 2019 : द्विरागमन या गौना का शुभ लग्न दिन 2019

द्विरागमन शादी की एक रस्म होती है, जिसमें लड़की की विदाई की जाती है और उसे ससुराल विदा किया जाता है। यहाँ हम आपको द्विरागमन 2019 के कुछ मुहूर्त दे रहे हैं।

द्विरागमन गौना शुभ मुहूर्त 2019

द्विरागमन मुहूर्त 2019, गौना शुभ मुहूर्त, द्विरागमन के शुभ मुहूर्त, द्विरागमन साल 2019, Dwiragaman Muhurat 2019, Gauna Muhurat 2019, Shubh Muhurat For Second Time Entry Of Bride 2019, Gauna Shubh Muhurat 2019, Gauna Tithi 2019, द्विरागमन शुभ मुहूर्त 2019 के लिए, दुल्हन के द्विरागमन का मुहूर्त कैसे निकालें 2019 में, द्विरागमन मुहूर्त जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई 2019 के लिए 

शादी विवाह में बहुत सारी रस्में होती हैं, और अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग रस्में होती है। उन्ही में से एक रस्म है द्विरागमन की। द्विरागमन का मतलब होता है विदाई करना यानी लड़की को उसके ससुराल विदा करना। बीते समय में द्विरागमन शादी के तुरंत बाद नहीं किया जाता था। लेकिन आजकल द्विरागमन की रस्म भी जल्दी कर दी जाती है। द्विरागमन के लिए भी शुभ मुहूर्त का होना बहुत जरुरी होता है। इसीलिए हम आपको नीचे द्विरागमन का शुभ मुहूर्त दे रहे हैं।

द्विरागमन शादी की मुख्य रस्मों में से एक होता है, जिसे शुभ और उचित मुहूर्त में करना अनिवार्य होता है। शुभ मुहूर्त के साथ-साथ सही नक्षत्र, तिथि, वार और लग्न का होना जरुरी होता है। नीचे हम आपको मुहूर्त टेबल दे रहे हैं जिसकी मदद से द्विरागमन मुहूर्त निकाला जा सकता है।

द्विरागमन मुहूर्त कैसे निकालें?

समय विवाह के बाद 1, 3, 5, 7, 9 वर्षों में कुंभ, वृश्चिक, मेष के सूर्य में द्विरागमन करना शुभ होता है।
नक्षत्र अश्विनी, पुष्य, हस्त, उत्तराषाढ़, उत्तराभाद्रपद, उत्तराफाल्गुनी, रोहिणी, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषा, पुनर्वसु, स्वाति, मूल, मृगशिरा, रेवती, चित्रा और अनुराधा शुभ होते हैं।
वार बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, सोमवार
तिथि प्रतिपदा, द्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, द्वादशी, त्रयोदशी, पूर्णिमा
लग्न द्वितीय, तृतीय, षष्ठ, सप्तम, द्वादश में शुभ होता है।
लग्न शुद्धि लग्न से प्रतिपदा, द्वितीय, तृतीय, पंचम, सप्तम, दशम, एकादश स्थानों में शुभग्रह और तृतीय, षष्ठ, एकादश में पापग्रह शुभ होते हैं।

द्विरागमन मुहूर्त 2019

जनवरी 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
18 जनवरी 2019 शुक्रवार रोहिणी द्वादशी
25 जनवरी 2019 शुक्रवार उत्तराफाल्गुनी पंचमी
28 जनवरी 2019 सोमवार स्वाती अष्टमी
30 जनवरी 2019 बुधवार अनुराधा दशमी

फरवरी 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
1 फरवरी 2019 शुक्रवार मूल द्वादशी
6 फरवरी 2019 बुधवार धनिष्ठा द्वितीया
10 फरवरी 2019 रविवार रेवती पंचमी
14 फरवरी 2019 गुरुवार रोहिणी नवमी
15 फरवरी 2019 शुक्रवार मृगशिरा दशमी
21 फरवरी 2019 गुरुवार उत्तराफाल्गुनी द्वितीया
22 फरवरी 2019 शुक्रवार हस्त तृतीया
25 फरवरी 2019 सोमवार अनुराधा षष्ठी
28 फरवरी 2019 गुरुवार मूल नवमी

मार्च 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
3 मार्च 2019 रविवार उत्तराषाढ़ द्वादशी
4 मार्च 2019 सोमवार श्रवण त्रयोदशी
7 मार्च 2019 गुरुवार उत्तराभाद्रपद प्रतिपदा
8 मार्च 2019 शुक्रवार उत्तराभाद्रपद द्वितीया
13 मार्च 2019 बुधवार रोहिणी सप्तमी
14 मार्च 2019 गुरुवार मृगशिरा अष्टमी

अप्रैल 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
15 अप्रैल 2019 सोमवार मघा एकादशी
17 अप्रैल 2019 बुधवार उत्तराफाल्गुनी त्रयोदशी
19 अप्रैल 2019 शुक्रवार चित्रा पूर्णिमा
22 अप्रैल 2019 सोमवार अनुराधा तृतीया
24 अप्रैल 2019 बुधवार मूल पंचमी
26 अप्रैल 2019 शुक्रवार श्रवण सप्तमी
29 अप्रैल 2019 सोमवार शतभिषा दशमी

मई 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
2 मई 2019 गुरुवार उत्तराभाद्रपद, रेवती त्रयोदशी
6 मई 2019 सोमवार रोहिणी द्वितीया
9 मई 2019 गुरुवार पुनर्वसु पंचमी
10 मई 2019 शुक्रवार पुनर्वसु षष्ठी
15 मई 2019 बुधवार हस्त एकादशी

नवंबर 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
18 नवंबर 2019 सोमवार पुष्य षष्ठी
20 नवंबर 2019 बुधवार मघा अष्टमी
21 नवंबर 2019 गुरुवार उत्तराफाल्गुनी नवमी
22 नवंबर 2019 शुक्रवार उत्तराफाल्गुनी, हस्त दशमी
27 नवंबर 2019 बुधवार अनुराधा प्रतिपदा
28 नवंबर 2019 गुरुवार मूल द्वितीया
29 नवंबर 2019 शुक्रवार मूल तृतीया

दिसंबर 2019 द्विरागमन शुभ मुहूर्त

तारीख दिन नक्षत्र तिथि
2 दिसंबर 2019 सोमवार श्रवण, धनिष्ठा षष्ठी
4 दिसंबर 2019 बुधवार शतभिषा अष्टमी
5 दिसंबर 2019 गुरुवार उत्तराभाद्रपद नवमी
6 दिसंबर 2019 शुक्रवार उत्तराभाद्रपद दशमी
11 दिसंबर 2019 बुधवार रोहिणी चतुर्दशी
12 दिसंबर 2019 गुरुवार मृगशिरा पूर्णिमा