Take a fresh look at your lifestyle.

एकादशी व्रत 2020

एकादशी व्रत क्या होता है 

एकादशी हर महीने में २ बार आती हैं। जिस प्रकार हर व्रत का कोई न कोई अर्थ अवश्य होता है और उनका अपना ही विशेष महत्व है। एकादशी एक बार कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष में आती हैं।   हिन्दू धर्म  के अनुसार मन और तन दोनों ही मोक्षः से परे करने के लिए उपवास करने के नियम बनाए गए है। व्रत करने मानव का शरीर भी ठीक रहता हैं। मन और तन दोनों ठीक रहते है।

एकादशी व्रत का महत्त्व 

एकादशी का व्रत भगवान् श्री विष्णु हरी के नाम का होता है। इस दिन भगवान् विष्णु का आवाहन किया जाता है उनके नाम से व्रत करने से पहले संकल्प लिया जाता हैं। उनका पूजन होता है फूल, फल, चंदन अक्षत, रोली, मौली सब उनकी पूजा में रखा जाता है। आज के दिन विष्णु जी के भजन और कीर्तन बहुत से लोग करवाते हैं। उनकी कथा करते है और सुनते है। इस उपवास को करने से मोह से बंधन नहीं रहता।

इस व्रत को करने की शुरूवात  श्री कृष्ण नै करवाई थी। जब पांडवों को मुक्ति और मोह से छुटकारा पपने की इच्छा हुई तब उन्होंने श्री कृष्ण से इस व्रत के बार में जाना और इस व्रत को किया। तभी से इस व्रत की शुरुवात हुई थी। इस व्रत को करने से शांति मिलती है और मोक्ष की प्राप्ति होती है।

इस व्रत में क्या नहीं खाने चाहिए 

इस व्रत में चावल पूरी तरह से निषेध माना गया है। जो व्यक्ति इस दिन भूल कर भी चावल खा लेता है उसे तभ भी पाप का भागी माना जाता है। इस व्रत में मसूर की दाल, लहसुन, प्याज़ , मांस  मदिरा का भूल कर भी सेवन नहीं करना चाहिए।

2020 में पूरे साल की एकादशी के व्रत : 2020 kei poore saal ki Ekadashi kei vart 

एकादशी व्रत दिन तारीख

पौष पुत्रदा एकादशी

सोमवार 6 जनवरी

षटतिला एकादशी

सोमवार 20 जनवरी

जया एकादशी

बुधवार 5 फरवरी

विजया एकादशी

बुधवार 19 फरवरी

आमलकी एकादशी

शुक्रवार 6 मार्च

पापमोचिनी एकादशी

गुरुवार 19 मार्च

कामदा एकादशी

शनिवार 4 अप्रैल

वरुथिनी एकादशी

शनिवार 18 अप्रैल

मोहिनी एकादशी

सोमवार 4 मई

अपरा एकादशी

सोमवार 18 मई

निर्जला एकादशी

मंगलवार 2 जून

योगिनी एकादशी

बुधवार 17 जून

देवशयनी एकादशी

बुधवार 1 जुलाई

कामिका एकादशी

गुरुवार 16 जुलाई

श्रावण पुत्रदा एकादशी

गुरुवार 30 जुलाई

अजा एकादशी

शनिवार 15 अगस्त

परिवर्तिनी एकादशी

शनिवार 29 अगस्त

इन्दिरा एकादशी

रविवार 13 सितंबर

पद्मिनी एकादशी

रविवार 27 सितंबर

परम एकादशी

मंगलवार 13 अक्टूबर

पापांकुशा एकादशी

मंगलवार 27 अक्टूबर

रमा एकादशी

बुधवार 11 नवंबर

देवुत्थान एकादशी

बुधवार 25 नवंबर

उत्पन्ना एकादशी

शुक्रवार 11 दिसंबर

मोक्षदा एकादशी

शुक्रवार 25 दिसंबर