Business is booming.

फरवरी 2020 के पर्व त्यौहार

0

कोई भी पर्व या त्यौहार हो उसके आने से पहले ही उससे जुडी पूरी जानकारी को लोग जानना चाहते हैं। ताकि उस पर्व त्यौहार या उपवास की अच्छे से तैयारी हो सके। और उसे बेहतर तरीके से व् पूरे विधि विधान व् खुशियों के साथ आपको मनाने में मदद मिल सके। तो अब बस 2020 की शुरुआत होने वाली है और इस वर्ष फरवरी में में कौन कौन से पर्व त्यौहार हैं। आज हम इस आर्टिकल में आपको विस्तार से बताने जा रहे हैं। तो आइये अब जानते हैं की फरवरी 2020 में कौन कौन से पर्व त्यौहार हैं। साथ व्रत व् त्यौहारों पर पूजा के लिए शुभ मुहूर्त क्या है इस बारे में भी आपको बताने जा रहे हैं।

5 फरवरी 2020, दिन बुधवार

  • जया एकादशी है।
  • एकादशी का शुभ समय: एकदशी तिथि की शुरुआत 4 फरवरी 2020 को रात 9 बजकर 49 मिनट से शुरू होगी।
  • और एकादशी तिथि का समापन 5 फरवरी 2020, दिन बुधवार को रात को 9 बजकर 30 पर होगा।

6 फरवरी 2020, दिन वीरवार

  • प्रदोष व्रत (शुक्ल पक्ष) है।
  • व्रत का शुभ समय: त्रयोदशी तिथि की शुरुआत 6 फरवरी 2020 को रात 8 बजकर 23 मिनट से शुरू होगी।
  • और त्रयोदशी तिथि का समापन 7 फरवरी 2020, दिन वीरवार को रात को 6 बजकर 31 पर होगा।

9 फरवरी 2020, दिन रविवार

  • माघ पूर्णिमा व्रत है।
  • व्रत का शुभ समय: पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 8 फरवरी 2020 को रात 4 बजकर 1 मिनट से शुरू होगी।
  • और पूर्णिमा तिथि का समापन 9 फरवरी 2020 को दिन में 1 बजकर 2 पर होगा।

13 फरवरी 2020, दिन बृहस्पतिवार

  • कुम्भ संक्रांति है।
  • संक्रांति का शुभ समय: संक्रांति की शुरुआत 13 फरवरी 2020 को सुबह 9 बजकर 26 मिनट से शुरू होगी।
  • और संक्रांति तिथि का समापन 13 फरवरी 2020 को दिन में 3 बजकर 18 पर होगा।

19 फरवरी 2020, दिन बुधवार

  • विजया एकादशी है।
  • एकादशी का शुभ समय: एकादशी की शुरुआत 13 फरवरी 2020 को सुबह 2 बजकर 32 मिनट से शुरू होगी।
  • और एकादशी तिथि का समापन 19 फरवरी 2020 को दिन में 3 बजकर 2 पर होगा।

21 फरवरी 2020, दिन शुक्रवार

  • महा शिवरात्रि और मासिक शिवरात्रि दोनों है।
  • शुभ समय: निशिता कला पूजा समय की शुरुआत 21 फरवरी 2020 को सुबह 12 बजकर 9 मिनट से शुरू होगी।
  • और समापन 22 फरवरी 2020 को सुबह में 1 बजकर 22 पर होगा।

तो यह हैं फरवरी 2020 के सभी पर्व त्यौहारों की सूची, तो यदि आपको भी फरवरी माह से जुडी कोई भी जानकारी चाहिए। तो आप ऊपर से ले सकते हैं साथ ही व्रत व् पूजा का शुभ समय भी ऊपर बताया गया है। तो आपको व्रत व् त्यौहारों को सही तारीख व् शुभ समय में मनाने में मदद मिल सकती है।