Take a fresh look at your lifestyle.

आयुध पूजा

आयुध पूजा महा नवरात्रि व् शारदीय नवरात्रि के दौरान की जाती है जो मुख्य रूप से दक्षिण भारत के कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और केरल में मनाई जाती है। यह पूजा महा नवरात्रि की नवमी तिथि को की जाती है। आयुध पूजा को शस्त्र पूजा और अस्त्र पूजा भी कहा जाता है। इस दिन घर में मौजूद सभी अस्त्र और शास्त्रों का पूजन किया जाता है। दक्षिण भारत के कई हिस्सों में इस दिन कारीगर विश्वकर्मा पूजन भी करते है। कुछ क्षेत्रों में इस दिन वाहन पूजा का भी विशेष विधान है। जिसके अनुसार लोग इस दिन अपने सभी वाहन जैसे गाडी, स्कूटर, बाइक और साइकिल आदि का पूजन करते है। और उन्हें फूलों की माला से सजाकर उनकी पूजा करते है और उनपर रोली से तिलक लगाकर फल आदि अर्पित करते है।