गौरी पूजा

0

गणगौर, भारत के उत्तरी क्षेत्रों विशेषकर राजस्थान और मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और गुजरात के कुछ हिस्सों में मनाया जाने वाला पर्व है। जो चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की तीज को आता है। इस दिन कुंवारी लड़कियां और शादीशुदा महिलाएं शिव जी और माँ पार्वती का पूजन करते है और पूजा करते हुए दूब से पानी के छींटे देते हुए गोर गोर गोमती गीत गाती है।

इस पर्व को लड़कियां अपना मनचाहा वर पाने की इच्छा से मनाती है। शादीशुदा महिलाएं चैत्र के शुक्ल पलश की तृतीया को गणगौर पूजन और व्रत करती है जिसे उनके पति को दीर्घायु का वरदान प्राप्त हो। होलिका दहन के दुसरे दिन चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा से चैत्र के शुक्ल पक्ष की तृतीय तक मनाया जाने वाला यह पर्व कुल 19 दिनों तक मनाया जाता है।