Take a fresh look at your lifestyle.

देवशयनी

आषाढ़ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को देवशयनी एकादशी तिथि कहा जाता है। इस दिन भगवान विष्णु और अन्य सभी देव 4 महीनों के लिए शयन करने चले जाते है और देवउठनी / प्रबोधिनी एकादशी के दिन जागते है। देवशयनी एकादशी जगन्नाथ रथ यात्रा के ठीक बाद आती है जो ज्यादातर जून और जुलाई के महीने में ही आती है। हिन्दू धर्म में विशेष चतुर्मास की अवधि इसी दिन से प्रारंभ होती है। देवशयनी एकादशी को पद्मा एकादशी, आषाढ़ी एकादशी और हरी शयनी एकादशी भी कहा जाता है।