संधि पूजा

0

नवरात्रि पूजन के दौरान संधि पूजा का खास महत्व होता है। जो अष्टमी तिथि के समाप्त होने और नवमी तिथि के प्रारंभ होने के बीच के समय में की जाती है। माना जाता है इस समय में देवी चामुंडा ने दैत्य चंड और मुंड का संघार करने के लिए अवतार लिया था।