Take a fresh look at your lifestyle.

हरी वासर

हरी वासर द्वादशी तिथि की पहली एक चौथाई अवधि होती है। जिसमे व्रत का पारण या अन्य शुभ कार्य करना वर्जित माना जाता है।