Business is booming.

जब गुरु कमजोर हो तो क्या करें?

0

गुरु कमजोर हो तो क्या करें, ग्रह नौ होते हैं, और पूरे नौ ग्रहों में गुरु यानी बृहस्पति को सबसे शुभ ग्रह माना जाता है। और किसी भी जातक की सफलता के पीछे का कारण कुंडली में गुरु की स्थिति का मजबूत होना हो सकता है। क्योंकि यदि किसी जातक की कुंडली में गुरु सही जगह पर होता है। तो इससे वो व्यक्ति जीवन की बुलंदियों तक पहुँच सकता है। ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि गुरु आशावादी ग्रह है।

यह व्यक्ति के मन से निराशा को निकाल सकारात्मक ऊर्जा को भर देता है। और यदि कोई व्यक्ति सकारात्मक ऊर्जा से भरपूर होता है। तो वो जीवन में कठिन से कठिन समस्या को भी समझदारी व् आसानी से सुलझा सकता है। जिससे सफलता उस व्यक्ति के कदम चूमने लगती है। और उसकी खुशहाली व् तरक्की के रास्ते खुद ही खुलने लगते हैं।

लेकिन यदि यही गुरु किसी की कुंडली में कमजोर होता है। या फिर सही जगह पर नहीं होता है तो यह परेशानी का कारण भी बन सकता है। क्योंकि गुरु का कमजोर होना जीवन में परेशानियों का कारण भी बन सकता है। आपकी सफलता के रास्ते में बाधक बन सकता है। जैसे की पैसे की कमी, काम में नुकसान, स्वास्थ्य पर बुरा असर आदि पड़ सकता है।

गुरु कमजोर होने पर क्या करें

यदि आप चाहते हैं की आपकी कुंडली में गुरु की स्थिति सही रहें। और आपका गुरु मजबूत हो। या फिर किसी से पूछने पर आपको पता चला है की आपका गुरु कमजोर है। तो कुछ आसान उपाय का इस्तेमाल करके आप अपनी कुंडली में गुरु की स्थिति को मजबूत कर सकते हैं। तो आइये अब जानते हैं की वो उपाय कौन से हैं।

गुरु कमजोर होने पर करें वीरवार का व्रत

  • कुंडली में गुरु की स्थिति को मजबूत करने के लिए आप वीरवार को व्रत रखना शुरू करें।
  • जिसमे विष्णु भगवान् व् केले के पेड़ की पूजा करें।
  • कथा करें, पीले फूल, पीले रंग का प्रसाद, पीले वस्त्र, अर्पित करें, व् पूरा दिन उपवास करें।
  • पीले वस्त्र पहनें, पीले रंग का भोजन करें जैसे की बेसन के लड्डू आदि।
  • 108 बार ॐ बृं बृहस्पतेः नमः का जाप करें, आखिर में आरती करें।
  • वीरवार के दिन पीली चीजों का दान भी करें।

गाय को खिलाएं

  • वीरवार के दिन आटे में थोड़ी हल्दी, गुड़, चने की दाल को मिक्स करके गाय को खिलाना चाहिए।
  • ऐसा प्रत्येक वीरवार को करें इससे गुरु की स्थिति को कुंडली में मजबूत होने में मदद मिलती है।

गुरु कमजोर होने पर करें केले व् पीपल की पूजा

  • हर वीरवार को केले और पीपल के पेड़ को जल से सींचना चाहिए।
  • पीपल पर नित्य नियम से जल चढ़ाना चाहिए।
  • घी का दीपक जलाना चाहिए।
  • हाथ जोड़कर प्रार्थना अपनी मनोइच्छा के लिए कामना करनी चाहिए।

बड़ो का सम्मान

  • गुरु की स्थिति को मजबूत करने के लिए आपको अपने सभी बड़ो का सम्मान करना चाहिए।
  • माता, पिता, गुरु, व् अन्य सभी बड़ो से झुककर आशीर्वाद लेना चाहिए।

वास्तु

  • वास्तु के अनुसार घर की चीजों को रखें खासकर जो गुरु के अनुसार हो।
  • साथ ही तिजोरी या घर के ईशान कोण में सफ़ेद कपडे में हल्दी की गाँठ को वीरवार के दिन रखें।
  • ऐसा करने से भी गुरु की स्थिति को कुंडली में मजबूत होने में मदद मिलती है।

तो यह हैं कुछ उपाय जो आपकी कुंडली में गुरु की स्थिति को मजबूत रखने में मदद करते हैं। साथ ही इससे आपकी सफलता के रास्ते में आ रही परेशानियों को दूर करने में मदद मिलती है।