Ultimate magazine theme for WordPress.

जुलाई 2019 में वाहन खरीदने का शुभ मुहूर्त

वाहन खरीदने का मुहूर्त 2019

Vehicle Purchase / Buying Muhurat July 2019, Vahan Muhurat 2019, July 2019 Vahan Muhurat, Vehicle Muhurat July 2019, वाहन खरीदने का मुहूर्त 2019, July 2019 Vehicle Purchase, Vehicle Purchase Muhurat, Vehicle Purchase Muhurat July, वाहन खरीदने का मुहूर्त, जुलाई 2019 में वाहन कब खरीदें?


वाहन खरीदने का मुहूर्त जुलाई 2019 Vehicle Purchase Muhurat in July 2019 Auspicious Date and Time

शास्त्रों के हिसाब से, वाहन खरीदना हो या घर हमेशा शुभ मुहूर्त में ही लेना चाहिए। माना जाता है सही समय और शुभ मुहूर्त में किया गया हर काम सफल होता है। इसी तरह शुभ मुहूर्त में वाहन खरीदना भी बहुत शुभ माना जाता है। सही समय और सही मुहूर्त में खरीदा गया कोई भी वाहन फिर चाहे वो निजी उपयोग के लिए हो या व्यवसायिक उपयोग के लिए हो व्यक्ति को लाभ देता है।

यहाँ हम जुलाई 2019 में वाहन खरीदना का शुभ मुहूर्त, वाहन खरीदने की शुभ तिथि दे रहे हैं जिनके अनुसार ही आप नया वाहन परचेस करें। अगर इन सब मुहूर्त के अलावा आप शुभ तिथि के आगे पीछे कोई नया वाहन खरीदना चाहते है तो आप शुभतिथि डॉट कॉम पर भी अपनी कुंडली के हिसाब से मुहूर्त निकलवा सकते हैं। वाहन मुहूर्त निकलवाने के लिए आप Email ID : shubhtithi.com@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं।

July 2019 Vehicle Purchase Muhurat

तारीख दिन शुभ मुहूर्त नक्षत्र तिथि
4 जुलाई 2019 गुरुवार 19:09 से 26:30+ पुष्य तृतीया
11 जुलाई 2019 गुरुवार 05:35 से 15:56 स्वाती दशमी
12 जुलाई 2019 शुक्रवार 15:58 से 24:31+ अनुराधा एकादशी
19 जुलाई 2019 शुक्रवार 06:55 से 29:39+ धनिष्ठा, शतभिषा तृतीया
28 जुलाई 2019 रविवार 05:44 से 18:49 रोहिणी एकादशी

वाहन हमेशा खरीदार के नाम, राशि, जन्मतिथि और क्षेत्र के अनुसार वाहन कौन सी तिथि को खरीदना चाहिए? और कब शुभ रहेगा आपके लिए ताकि उस वाहन से लाभ हो। मात्र 201 रूपए के डोनेशन पर। डोनेशन के बाद अपना फॉर्म भरें जिसमे नाम, जन्म तिथि, जन्म समय, जन्म क्षेत्र और अपना विवरण भरें। हम आपको जल्द से जल्द मुहूर्त आपके मेल पर भेजे देंगे।

Note : कई क्षेत्रों में खरमास, श्राद्ध, शुक्र-गुरु अस्त, पंचक, चातुर्मास में मुहूर्त नहीं करते। इसलिए मुहूर्त देखने के पहले और करने के पहले इन बातों का जरूर ध्यान रखें। क्यूंकि अलग-अलग क्षेत्रों में अलग-अलग मान्यता के अनुसार ये होता है। आप अपने क्षेत्र के अनुसार ही मुहूर्त करें। यहाँ मुहूर्त देखने के पहले और शुभ कार्य करने के पहले अपने क्षेत्र के पंचांग के अनुसार ही करें। हमारी कोई भी जिम्मेदारी नहीं होगी।