Auspecious Muhurat, Daily Panchang and Festivals

कौन से दिन किस भगवान की पूजा की जाती है?

सनातन धर्म में देवी देवताओं को बहुत पूजनीय माना जाता है और उनकी पूरी निष्ठां व् विश्वास के साथ पूजा व् आराधना की जाती है। सनातन धर्म में कुल 33 करोड़ देवी देवता है। और सृष्टि ने इन सभी देवी देवताओं को मनुष्य की अलग अलग इच्छाओं को पूरा करने का काम सौपा हुआ है। वैसे ही सप्ताह में आने वाले हर दिन का भी एक अलग महत्व होता है और हर दिन किसी न किसी देवी देवता को समर्पित है और हर दिन किसी न किसी देवी देवता की पूजा का खास महत्व होता है। इस आर्टिकल में हम आपको किस दिन काउन्स से भगवान की पूजा करने का सबसे ज्यादा महत्व होता है उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

सोमावर के दिन है इनका महत्व

सोमवार का दिन भोलेबाबा को समर्पित होता है इस दिन भोलेबाबा व् उनके परिवार की पूजा का खास महत्व होता है। इस दिन पूजा के साथ व्रत रखने का भी बहुत ज्यादा शुभ फल मिलता है इसीलिए सोमवार के दिन कुँवारी लडकियां जहां अच्छे जीवनसाथी को पाने की इच्छा से व्रत रखती है वहीँ शादीशुदा महिलाएं अपने वैवाहिक जीवन की कुशलता की कामना करती है। इसके अलावा सोमवार का दिन चंद्र गृह को भी समर्पित होता है ऐसे में जिन लोगो का चद्र्मा कमजोर होता है उन्हें भी सोमवार को विशेष पूजा पाठ करना चाहिए।

मंगलवार के दिन हैं इनका महत्व

मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा का विशेष महत्व होता है। ऐसा माना जाता है की इस दिन हनुमान जी की पूजा पाठ करने से कभी भी जीवन में अमंगल प्रवेश नहीं करता है। इसके अलावा इस दिन पुरुष लोग व्रत रखते हैं महिलाओं के लिए मंगलवार का व्रत करना वर्जित होता है। साथ ही मंगलवार के दिन मंगलग्रह की भी पूजा का विधान है।

बुधवार के दिन है इनका महत्व

शास्त्रों के अनुसार बुधवार का दिन विघ्नहर्ता यानी गणेश जी को समपर्पित होता है साथ ही इस दिन को बुध गृह के नाम भी समर्पित किया जाता है। इस दिन पूजा पाठ करने से दान पुण्य करने से आपके सभी कष्ट दूर हो जाते हैं।

बृहस्पतिवार के दिन है इनका महत्व

इस दिन को वीरवार और गुरूवार के नाम से भी जाना जाता है, यह दिन देवों के गुरु बृहस्पति और भगवान हरी विष्णु को समपर्पित होता है। इस दिन व्रत आदि का भी बहुत महत्व होता है वीरवार के दिन पीला पहनना, पीली चीजों का दान करना आदि बहुत शुभ माना जाता है।

शुक्रवार के दिन है इनका महत्व

शुक्रवार के दिन माँ वैभव लक्ष्मी, माँ संतोषी, महालक्ष्मी, और शुक्र गृह की पूजा का विधान होता है। बहुत सी महिलाएं माँ वैभव लक्ष्मी, माँ संतोषी के नामा का व्रत भी करती है, यह व्रत सुहागिन व् कुंवारे दोनों महिलाओं के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है।

शनिवार के दिन है इनका महत्व

शनिवार के दिन भगवान शनिदेव और हनुमान जी की पूजा का विधान होता है, ऐसा माना जाता है की जिन लोगो की कुंडली में शनि दोष होता है। उन लोगो को शनिवार के दिन शनि देव और सिन्दूरी हनुमान जी की पूजा जरूर करनी चाहिए। ताकि उन्हें शनिदोष से मुक्त होने और शनिदेव की कृपा पाने में मदद मिल सकें।

रविवार के दिन होता है इनका महत्व

रविवार के दिन भगवान सूर्यदेव की पूजा का महत्व होता है इस दिन जो भी सच्चे मन और निष्ठाभाव से सूर्यदेव की पूजा करता है। उसका सम्मान हमेशा बना रहता है उसकी जिंदगी में आने वाली मुश्किलों को दूर करने में मदद मिलती है।

तो यह हैं हर दिन के अनुसार हर एक देवी देवता के पूजा की जानकारी, आप भी चाहे तो दिन के अनुसार पूजा पाठ करके सभी देवी देवताओं की कृपा पा सकते हैं। इसके अलावा आपके मंदिर में बहुत से देवी देवता विराजमान होते हैं आप उन सभी की एक साथ पूजा कर सकते हैं।

Leave a comment