Business is booming.

केले के पेड़ की पूजा करने से क्या होता है?

0

केले के पेड़ की पूजा

केले के पेड़ को बहुत ही पूजनीय माना जाता है, क्योंकि ऐसा माना जाता है की केले के पेड़ में दैवीय शक्तियां निवास करती है। और ऐसा भी माना जाता है की केले के पेड़ में साक्षात भगवान विष्णु और माँ लक्ष्मी का निवास होता है। जहां भी नारायण की पूजा होती है भगवान विष्णु की पूजा होती है वहां केले के पेड़ , केले के पत्तों व् केले के फल को होना अनिवार्य होता है। बिना केले के पेड़ के नारायण की पूजा सम्पूर्ण नहीं मानी जाती है। गुरूवार को केले के पेड़ की पूजा करने का सबसे अधिक महत्व होता है, और पूजा के साथ इस दिन भगवान विष्णु के लिए उपवास भी रखा जाता है। जिसमे केले के पेड़ की पूजा की जाती है। और ऐसा भी माना जाता है जो व्यक्ति पूरे श्रद्धा भाव और आस्था से केले के वृक्ष की पूजा करते हैं। उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी होती है, और सभी समस्याओं का समाधान मिलता है, क्योंकि उन जातकों पर भगवान विष्णु की असीम कृपा बरसती है।

केले के पेड़ की पूजा करने के फायदे

केले के पेड़ को शुभ होने के साथ सम्पन्नता का प्रतिक माना जाता है। और जो भी सच्चे मन से केले के पेड़ की पूजा करता है उसके मन की सभी इच्छाएं पूरी होने के साथ जिंदगी में आने वाली सभी कठिनाइयों से निजात पाने में मदद मिलती है। साथ ही केले के पत्ते, तना, फल आदि सभी पूजनीय होते हैं, तो आइये अब विस्तार से जानते हैं की केले के पेड़ की पूजा करने से कौन कौन से फायदे मिलते हैं।

धन धान्य व् सुख समृद्धि

जो भी जातक पूरे श्रद्धा भाव से केले के पेड़ की पूजा करता है ऐसा करने से उसके घर व् काम में धन धान्य व् बरकत बनी रहती है। साथ ही उसके परिवार में सुख समृद्धि बनी रहती है, परिवार के सदस्यों के बीच प्यार व् सत्कार बना रहता है, जिससे घर में खुशहाली बने रहने में मदद मिलती है।

वैवाहिक जीवन

वैवाहिक जीवन में आ रही कठिनाइयों को केले के पेड़ की पूजा करने से दूर किया जा सकता है, और ऐसा माना जाता है जो महिला केले के पेड़ की पूजा करती है उसके सुहाग की उम्र लम्बी होती है।

बृहस्पति होता है मजबूत

केले के पेड़ की पूजा को गुरूवार को करने का सबसे अधिक महत्व होता है, और जो व्यक्ति गुरूवार को केले के पेड़ की पूजा करता है। तो ऐसा करने से जातक की कुंडली में गुरु की स्थिति को मजबूत करने में मदद मिलती है। और जिसका गुरु उसके साथ होता है उसे किसी चीज का भय नहीं होता है और जीवन में तरक्की और खुशहाली के मार्ग अपने आप खुलने लगते हैं।

शादी में रूकावट

कई बार कुंडली दोष, ग्रहों की स्थिति ठीक न होने के कारण लड़का या लड़की किसी की भी शादी में रूकावट आने लगती है। और इस समस्या के समाधान के लिए केले के पेड़ की पूजा करना बेहतरीन विकल्प होता है, क्योंकि केले के पेड़ की पूजा करने से शादी में आ रही सभी रुकावटों को दूर करने में मदद मिलती है।

मांगलिक दोष

कई बार कुछ जातकों की कुंडली में मांगलिक दोष होने के कारण शादी में दिक्कत आ सकती हैं ऐसे में यदि उस व्यक्ति की शादी एक बार केले के पेड़ से करवा दी जाती है। तो ऐसा करने से व्यक्ति के मांगलिक दोष का निवारण करने में मदद मिलती है, जिससे मांगलिक दोष के कारण आ रही सभी दिक़्कतों को दूर करने में मदद मिलती है।

शत्रु से बचाव

केले के पेड़ की पूजा करने से गुरु की दशा को कुंडली में मजबूत होने में मदद मिलती हैं ऐसे में जिसका गुरु मजबूत होता है। उसे शत्रुओं से डरने की बिल्कुल भी जरुरत नहीं होती है, और उसे कोई भी शत्रु पराजित नहीं कर पाता है।

मनचाहा वर

ऐसा भी माना जाता है की यदि कोई अविवाहित कन्या हर गुरूवार को केले के पेड़ की पूजा करती है, गुरूवार का उपवास करती है तो ऐसा करने से उसे मनचाहा वर मिलने में मदद मिलती है।

केले के पेड़ की पूजा कैसे करें

  • वैसे तो आप केले के पेड़ की पूजा कभी भी कर सकते हैं लेकिन वीरवार को केले के पेड़ की पूजा करने का सबसे अधिक महत्व होता है।
  • इस बात का ध्यान रखें की यदि आपके आँगन में केले का वृक्ष है तो उस पर जल चढ़ाने से बचे और केले के पेड़ की पूजा से मिलने वाले फायदों के लिए अपने आँगन के बाहर वाले केले के पेड़ पर जल अर्पित करें।
  • केले के वृक्ष पर हल्दी की गांठ, चने की दाल, गुड़, अक्षत, पुष्प, धूप व् दीप आदि चढ़ाएं।
  • और पूजा अर्चना करने के बाद केले के पेड़ की परिक्रमा करें।

तो यह हैं केले के पेड़ की पूजा करने की विधि व् केले के पेड़ की पूजा करने से कौन कौन से फायदे मिलते हैं, इससे जुड़े कुछ खास टिप्स, तो यदि आपके जीवन में भी मुश्किलें है कठिनाइयां है तो आप भी केले के पेड़ की पूजा पूरे श्रद्धा भाव से करके अपनी दिक़्कतों का निवारण कर सकते हैं।