Ultimate magazine theme for WordPress.

क्रोध पर नियंत्रण करने के उपाय

क्रोध नियंत्रण के टोटके

क्रोध पर नियंत्रण, क्रोध के उपाय, गुस्सा शांत करने के उपाय, क्रोध कैसे नियंत्रित करें, क्रोध के कारण और उपाय, क्रोध नियंत्रण के टोटके, गुस्सा कैसे कम करें, Krodh Ke Upay, Krosh Shanti Ke Upay, Gussa kam karne ke upay, Krodh Niyantran, क्रोध पर काबू, Krodh shant kaise kare, Krodh kya hai


क्रोध और उसके उपाय

जब भी कोई काम हमारे मन मुताबिक नहीं होता तो हमें गुस्सा आने लगता है। पूरी दुनिया में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसे गुस्सा नहीं आता। गुस्सा करके हम अपने मन की भड़ास तो निकाल देते हैं। लेकिन कई बार ये गुस्सा हमारे लिए परेशानी का कारण बन जाता है। आज हम आपको क्रोध और उसे नियंत्रित करने के उपाय बता रहे हैं।

क्रोध क्या है?

सामान्य भाषा में कहें, तो क्रोध एक मानवीय भावना है। जो अक्सर भय या किसी अन्य कारण से उत्पन्न होती है। क्रोध को मनुष्य के लिए हानिकारक माना जाता है। कहा जाता है, कायर व्यक्ति को सबसे ज्यादा क्रोध आता है। क्यूंकि उनमे परिस्थितियों का सामना करने का सामर्थ्य नहीं होता, धैर्य नहीं होता और ना ही सहन क्षमता होती है।

क्रोध मनुष्य का ऐसा शत्रु है जो उसकी सोचने-समझने की क्षमता को क्षीण कर देता है। भगवान श्री कृष्ण कहते हैं – हर्ष में दिया गया वचन और क्रोध में लिया गया निर्णय सदैव अनिष्टकारी होते हैं। क्यूंकि हर्ष और क्रोध दोनों ही मनुष्य की मति भ्र्ष्ट कर देते हैं।

क्रोध से नुकसान

किसी भी रूप में गुस्सा आना मनुष्य के लिए शुभ नहीं होता। क्यूंकि क्रोध आने पर पहले हम दूसरों को पीड़ा पहुंचाते हैं और बाद में स्वयं भी उसका परिणाम भुगतना पड़ता है। इतना ही नहीं, स्वास्थ्य की दृष्टि से भी क्रोध हमारे लिए ठीक नहीं। क्रोध आने पर शरीर में रक्त का परिसंचरण तेजी से होने लगता है। दिल की धड़कने बढ़ जाती हैं, पाचन तंत्र बिगड़ने लगता है। ऐसे में बेहतर यही है की क्रोध न किया जाए। क्यूंकि क्रोध किसी भी रूप में मनुष्य के लिए ठीक नहीं।

क्रोध पर नियंत्रण कैसे पाएं?

आज हम आपको राशि के अनुसार क्रोध पर काबू पाने के उपाय बता रहे हैं, जो गुस्सा नियंत्रित करने में आपकी मदद करेंगे।

मेष राशि

मेष राशि का स्वामी मंगल है। हालांकि इस राशि के जातकों को गुस्सा कम आता है। लेकिन जब आता है तो उसका प्रचंड रूप होता है। मेष राशि के जातकों को क्रोध पर नियंत्रण करने के लिए मंगलवार का व्रत रखना चाहिए। मंगलवार के दिन हनुमान जी की पूजा करने से भी क्रोध शांत होगा।

वृष राशि

वृष राशि के जातकों को गुस्सा बहुत ज्यादा आता है। इसीलिए कभी-कभी वो छोटी-छोटी बात पर भी गुस्सा करने लगते हैं। वृष राशि के जातकों को क्रोश शांत करने के लिए रोजाना हरी मूंग और सौंफ का सेवन करना चाहिए। इन लोगों को गणेश जी की पूजा करनी चाहिए और पूजा में एक सुपारी जरूर चढ़ानी चाहिए।

मिथुन राशि

क्रोध पर नियंत्रण करने के लिए मिथुन राशि के जातकों को दूध, दही, मक्खन, पनीर आदि सफ़ेद वस्तुओं को ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए। सफेद वस्तुओं का सेवन करने से मन शांत होता है और क्रोध कम आता है। मिथुन राशि के लोगों को माँ दुर्गा की आराधना करनी चाहिए।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों को क्रोध आने का मुख्य कारण तामसिक चीजें हो सकती है। जैसे – तामसिक भोजन, मांस, मदिरा, धूम्रपान। अगर क्रोध को नियंत्रित करना है तो धूम्रपान करना बंद कर दें। मंगलवार के दिन कभी भी धूम्रपान नहीं करें। मंगलवार के दिन मीठी सौंफ का सेवन करें। कर्क राशि के जातक भगवान कार्तिकेय की पूजा करके भी क्रोध पर नियंत्रण पा सकते हैं।

सिंह राशि

सिंह राशि का स्वामी गुरु होता है, अतः क्रोध शांत करने के लिए गुरु से संबंधित चीजों का दान करना चाहिए। पीली वस्तुएं दान करना आपके लिए शुभ रहेगा। घर से निकलते समय पीले चंदन का तिलक अवश्य लगाएं। क्रोध पर काबू पाने के लिए गर्म तासीर वाली चीजों से परहेज करें।

कन्या राशि

कन्या राशि के पंचमेश स्वामी शनिदेव होते हैं। इस राशि के जातकों को गुस्सा शांत करने के लिए शनिदेव को प्रसन्न करना होगा। क्रोध नियंत्रित करने के लिए हनुमान चालीसा का पाठ करें। शनिवार के दिन काली वस्तुओं का दान अवश्य करें और काले कपडे पहनें।

तुला राशि

तुला राशि का स्वामी चंद्र होता है। इसलिए इस राशि के जातकों को गुस्सा बहुत कम आता है। लेकिन फिर भी कुछ परिस्तिथियाँ व्यक्ति में क्रोध की ज्वाला को भड़का ही देती हैं। ऐसे में इन्हे अपने माथे पर चंदन का तिलक लगाना चाहिए।

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि के जातकों को गुस्से पर नियंत्रण रखने के लिए कच्चे दूध में थोड़ी सी दही और केसर मिलाकर तिलक लगाना चाहिए। इस राशि के जातकों को विद्या की देवी माँ सरस्वती की पूजा करनी चाहिए।

धनु राशि

धनु राशि के जातकों को क्रोश पर नियंत्रण रखने के लिए योग करना चाहिए। इससे मन शांत होगा और क्रोध नहीं आएगा। इन जातकों को रात में सोने से पूर्व बड़े बर्तन में पानी डालकर उसमे सेंधा नमक मिलाकर कम से कम 30 मिनट तक पैरों को उसमे डुबोकर रखना चाहिए। इससे दिमाग को ठंडक पहुंचेगी और मन प्रसन्न रहेगा।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों को क्रोध आने का एक कारण उनका गलत भोजन भी होता है। इसलिए इन्हे फास्ट फ़ूड का सेवन बिलकुल भी नहीं करना चाहिए। इसके साथ-साथ आप रोजाना कत्थे का भी सेवन करें। क्रोध पर नियंत्रण रखने के लिए लक्ष्मी जी की पूजा करें।

कुंभ राशि

क्रोध पर नियंत्रण पाने के लिए कुंभ राशि के जातकों को रोजाना एक हरी इलायची का सेवन करना चाहिए। इस राशि के जातकों को ऐसे भोजन से परहेज करना चाहिए, जिससे बादी हो। वे भोजन हैं – कद्दू, मैदा, उड़द की दाल, छोले, राजमा, बैंगन, भिंडी आदि। इन खाद्य पदार्थों की तासीर गर्म होती है जिसके कारण व्यक्ति के स्वाभाव में उग्रता आ जाती है। इसीलिए ऐसे भोजन से परहेज करें।

मीन राशि

मीन राशि के जातकों को क्रोध पर काबू पाने के लिए सोमवार का व्रत रखना चाहिए। भोजन में मीठा ज्यादा खाएं और नमक का कम सेवन करें। इस राशि के जातकों को लहसुन और प्याज का सेवन भी कम से कम करना चाहिए। क्यूंकि ये भी व्यक्ति के स्वाभाव को उग्र बनाते है।

इसे भी समझें

व्यक्ति को क्रोध आने का मुख्य कारण अहंकार भी होता है। तो अगर हम क्रोध पर नियंत्रण रखना चाहते हैं तो सबसे पहले अहंकार को समाप्त करना होगा। कुछ लोग सोचते हैं की गुस्सा करना उनकी शान है, लेकिन यह उचित नहीं। गुस्सा आपकी शान नहीं बल्कि जीवन की सभी परेशानियों का कारण है। इसीलिए पहले अहंकार को समाप्त कीजिये, क्रोध अपने आप शांत हो जाएगा और जीवन सुखमय बीतेगा।