Muhurat Panchang and Festivals

दिसंबर 2021 में अमावस्या कब है? तिथि और मुहूर्त

0

पूरे साल में बारह अमावस्या आती हैं और हिंदी पांचांग के अनुसार अमावस्या वो दिन होता है जिस दिन आपको चन्द्रमा की एक झलक भी दिखाई नहीं देती है। और अमावस्या का दिन को हिन्दू शास्त्रों में बहुत ही खास बताया गया है साथ ही इसका बहुत अधिक महत्व भी होता है। इसीलिए अमावस्या के दिन पूजा पाठ करना, अपने पूर्वजों के नाम पर दान पुण्य करना बहुत ही शुभ होता है साथ ही इस दिन जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए और कोई भी गलत काम नहीं करना चाहिए।

दिसम्बर 2021 में आने वाली अमावस्या?

अमावस्या के दिन को पितरों के नाम से भी जाना जाता है इसीलिए इनका खास महत्व होता है और दिसंबर 2021 में मार्गशीर्ष माह होगा इसीलिए इस दौरान मार्गशीर्ष अमावस्या आएगी। मार्गशीर्ष बहुत ही धार्मिक व् पवित्र महीना माना जाता है।

मार्गशीर्ष अमावस्या का महत्व

शास्त्रों के अनुसार मार्गशीर्ष अमावस्या का दिन बहुत ही पावन होता है। मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन भगवान कृष्ण की पूजा का बहुत अधिक महत्व होता है। इसीलिए इस दिन को भक्ति और श्रद्धा का प्रतिक माना जाता है। इस दिन पितरों के नाम पर पूजा करके अपने पूर्वजों को याद करना भी बहुत शुभ माना जाता है। साथ ही इस दिन पूजा पाठ के साथ व्रत आदि करने का भी बहुत अधिक महत्व होता है। इसके अलावा मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन आप अपने मृत पूर्वजों को श्रद्धा अर्पित करके, सभी दोषों को दूर करने और अपने व अपने परिवार के लिए आनंदमय और खुशहाली से भरपूर जीवन का आशीर्वाद पाने के लिए हाथ जोड़कर उनके सामने प्रार्थना कर सकते हैं।

मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन क्या- क्या करना चाहिए?

  • अमावस्या के दिन सुबह जल्दी उठकर किसी पवित्र नदी, जलाशय, कुंड आदि में स्नान करना बहुत शुभ माना जाता है लेकिन यदि आप ऐसी जगह पर नहीं जा सकते हैं तो घर में ही समय से उठकर स्नान आदि कर लेना चाहिए।
  • मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन यदि आप पितरों के नाम पर हवन करते हैं, गरीबों को भोजन करवाते हैं, जरूरतमंदों की मदद करते हैं या अन्य कोई भी दान धर्म का कार्य करते हैं तो ऐसा करना बहुत अच्छा होता है।
  • आप चाहे तो इस दिन व्रत कर सकते हैं क्योंकि इस दिन व्रत करने का भी बहुत अधिक महत्व होता है।
  • अमावस्या का दिन श्री कृष्ण की पूजा व् आराधना करने के लिए भी यह एक बहुत उत्तम दिन होता है।

मार्गशीर्ष अमावस्या तिथि व् मुहूर्त

मार्गशीर्ष अमावस्या तिथि: साल 2021 में मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर 2021 दिन शनिवार को पड़ेगी।

अमावस्या तिथि प्रारम्भ: मार्गशीर्ष अमावस्या 03 दिसंबर 2021 दिन शुक्रवार को दोपहर 04 बजकर 55 मिनट पर प्रारम्भ होगी।

अमावस्या तिथि समापन: मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर 2021 दिन शनिवार को दोपहर 01 बजकर 12 मिनट पर समाप्त होगी।

दिसंबर माह में आने वाली मार्गशीर्ष अमावस्या 2021 में कब हैं, क्या मुहूर्त है, इसका क्या महत्व, अमावस्या के दिन क्या करें, उससे जुडी जानकारी आपको इस आर्टिकल में ऊपर बताई गई है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.