Muhurat Panchang and Festivals

दिसंबर 2021 में पूर्णिमा कब है? तिथि और मुहूर्त

0

दिसम्बर 2021 में मार्गशीर्ष माह चल रहा होगा ऐसे में दिसंबर में आने वाली पूर्णिमा को मार्गशीर्ष पूर्णिमा भी कहा जाता है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा को अन्य नामों से भी जाना जाता है जैसे की बत्तीसी पूर्णिमा या कोरला पूर्णिमा। इसके अलावा हिन्दू धर्म में मार्गशीर्ष के महीने और मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन दान धर्म करना और पूजा पाठ करना बहुत ही शुभ माना जाता है।

पौराणिक मान्याताओं के अनुसार मार्गशीर्ष माह से ही सतयुग काल आरंभ हुआ था। इसके अलावा श्रीमदभागवत गीता में भी भगवान श्री कृष्ण ने स्वयं कहा है कि महीनों में मैं मार्गशीर्ष का पवित्र महीना हूं इसीलिए इस महीने का महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है। पूर्णिमा के दिन किसी पवित्र नदी में स्नान करने का भी बहुत अधिक महत्व होता है।

मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन क्या करें?

  • मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा का बहुत अधिक महत्व है इसीलिए इस दिन भगवान् विष्णु की पूजा आदि पूरे श्रद्धा भाव के साथ करनी चाहिए।
  • इस दिन जो लोग व्रत करते हैं उन्हें पूरे नियमों के साथ पूजा पाठ करना चाहिए ऐसा करना बहुत ही उत्तम माना जाता है।
  • मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन हवन करना, पंडितों को भोज करवाना और दान करना बहुत शुभ माना जाता है।
  • मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन यदि आपके घर का कोई सदस्य या आप भगवान विष्णु की मूर्ति के पास ही सोता है तो ऐसा करना बहुत ही शुभ माना जाता है।
  • पूर्णिमा के दूसरे दिन जरूरतमंद व्यक्ति को दान करना चाहिए और ब्राह्मणों को भोजन करवाना बहुत ही अच्छा माना जाता है।

मार्गशीर्ष पूर्णिमा का धार्मिक महत्व

पूर्णिमा का धार्मिक महत्व बहुत अधिक होता है साथ ही इस दिन की पौराणिक कथाओं के अनुसार किसी न किसी बात को लेकर मान्यता होती है। वैसे ही पौराणिक मान्यता के अनुसार यदि कोई व्यक्ति मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन तुलसी की जड़ की मिट्टी से किसी भी पवित्र नदी, सरोवर या कुंड में स्नान करता है तो ऐसा करने से भगवान विष्णु की असीम कृपा उन पर और उनके परिवार पर बनी रहती है। इसके अलावा पूर्णिमा के दिन यदि आप दान करते हैं तो आपको इस दिन किये जाने वाले दान का फल दूसरी पूर्णिमा की तुलना में 32 गुना अधिक मिलता है, इसलिए इसे बत्तीसी पूर्णिमा भी कहा जाता है। मार्गशीर्ष पूर्णिमा के दिन भगवान सत्यनारायण की पूजा व कथा भी कही जाती है क्योंकि इस दिन कथा पढ़ना व् सुनना इस दिन बहुत शुभ माना जाता है।

2021 मार्गशीर्ष पूर्णिमा तिथि व् मुहूर्त

मार्गशीर्ष पूर्णिमा तिथि: 19 दिसंबर 2021 दिन रविवार को पूर्णिमा तिथि है।

पूर्णिमा तिथि आरम्भ: दिसंबर 18, 2021 दिन शनिवार को 07:26:35 से पूर्णिमा आरम्भ होगी और

पूर्णिमा तिथि समाप्त: दिसंबर 19, 2021 दिन रविवार को 10:07:20 पर पूर्णिमा समाप्त होगी।

तो यह है मार्गशीर्ष पूर्णिमा यानी दिसंबर माह में आने वाली पूर्णिमा से जुडी जानकारी व् इसका महत्व, इसके अलावा यदि आप भी चाहे तो पूर्णिमा का व्रत कर सकते हैं क्योंकि ऐसा करना बहुत ही शुभ माना जाता है।

Leave a comment