Take a fresh look at your lifestyle.

जानिए घर में मोरपंख रखना कितना शुभ होता है?

मोरपंख कितना शुभ है?

पक्षियों में सबसे सुन्दर मोर को ही माना जाता है। बरसात के दिनों में जब मोर अपने पंख फैला कर नाचता है तो सभी का मन झूमने लगता है। लेकिन क्या आप जानते है की इस अलौकिक पक्षी के पंख कितने अलौकिक हैं? ज्योतिष, वास्तु, धर्म, पुराण, वेद, शास्त्र और संस्कृति में सभी मोरपंख को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इसे घर में रखने से बहुत से फायदे मिलते हैं पर सभी को इन फायदों के बारे में पता नहीं होता। इसलिए आज हम आपको घर में मोरपंख रखने के फायदे बता रहे हैं।

मोरपंख का महत्व

हिन्दू धर्म के देवी-देवताओं को मोरपंख अत्यंत प्रिय है। माँ सरस्वती, श्री कृष्ण, माँ लक्ष्मी, इंद्रदेव, कार्तिकेय, श्री गणेश आदि सभी देवी-देवता अपने आस-पास किसी न किसी रूप में मोरपंख धारण किये हुए हैं, क्यूंकि सभी को मोरपंख अत्यंत प्रिय है। पौराणिक काल से ही, बड़े-बड़े ऋषि मुनियों में मोरपंख की कलम बनाकर ही वेद-पुराण लिखे। श्री कृष्ण भी सदा अपनी मुरली और मस्तक पर मोरपंख धारण किये रहते थे। इसलिए हिन्दू धर्म में मोरपंख को खास माना जाता है।

  • मोरपंख में सकारात्मकता होती है जो किसी भी स्थान को बुरी शक्तियों और प्रतिकूल चीजों के प्रभाव से बचाती हैं। यही कारण है की अधिकतर लोग अपने घरों में मोरपंख रखते हैं।
  • हिन्दू धर्म में मोर को धन की देवी, माँ लक्ष्मी और विद्या की देवी माँ सरस्वती के साथ जोड़कर देखा जाता है। धन और विद्या दोनों को एक साथ पाने के लिए घर में मोरपंख लगाना शुभ होता है।
  • माँ लक्ष्मी की पूजा सौभाग्य, खुशहाली, धन-धान्य और सम्पन्नता के लिए की जाती है। घर में मोरपंख लगाने से ये सभी प्राप्त होते है। घर में मोरपंख लगी बांसुरी रखने से आपसी रिश्ते मजबूत होते हैं और उनमे प्रेम रस घुल जाता है।
  • वैवाहिक जीवन में तनाव, झगड़े, कलश आदि रहता है तो दम्पति के शयनकक्ष में मोरपंख रखें। इससे दोनों के बीच प्रेम बढ़ेगा और रिश्ते मजबूत होंगे।
  • अगर किसी व्यक्ति से लम्बे अरसे से शत्रुता चल रही है और आप उसे समाप्त करना चाहते हैं या शत्रु बहुत तंग कर रहे हैं तो मोरपंख पर हनुमान जी के मस्तक के सिंदूर से उस शत्रु का नाम लिखें। ऐसा मंगलवार या शनिवार को रात में करें और पूजा स्थल में रख दें। सुबह जागकर चलते पानी में प्रवाहित कर दें। शत्रुता समाप्त हो जाएगी।
  • वास्तुशास्त्र के अनुसार, मोरपंख को घर की दक्षिणी दिशा में स्थित तिजोरी में खड़ा करके रखने से कभी भी धन की हानि नहीं होती और समृद्धि बनी रहती है।
  • कुंडली में राहु का दोष होने पर घर की पूर्वी या उत्तर पश्चिमी दीवार पर मोरपंख लगाना शुभ होता है।
  • बहुत से लोग बुरी शक्तियों और उनके प्रभावों से बचने के लिए भी घर में मोरपंख लगाते हैं। मोरपंख लगाने से कोई भी बुरी शक्ति प्रवेश नहीं कर पाती और सकारात्मकता बढ़ती है।
  • वास्तुशास्त्र के अनुसार, घर में मोरपंख लगाने से सभी वास्तु दोष दूर हो जाते हैं।
  • घर की पूर्वी या उत्तर-पश्चिमी दिवार पर मोरपंख रखने से राहु कभी परेशान नहीं करता। मोरपंख की पूजा करना अच्छा होता है, ऐसा करने से परिवार के सभी सदस्यों की सेहत अच्छी रहती है।
  • ग्रहों के अशुभ प्रभावों से बचने के लिए मोरपंख पर 21 बार ग्रह का मंत्र बोलकर पानी की छींटे डालनी चाहिए और इसे ऐसी जगह रखना चाहिए जहाँ से दिखाई दे।
  • आर्थिक लाभ के लिए किसी मंदिर में जाएं और मोरपंख को राधाकृष्ण के मुकुट में लगाएं। ४० दिन बाद मोरपंख लाकर उसे लाकर या तिजोरी में रख दें। आर्थिक स्थिति सुधरने लगेगी।
  • छोटे बच्चों को बुरी नजर से बचाने के लिए चंडी के ताबीज में मोरपंख पहनाएं।
  • घर के मेन डोर पर 3 मोरपंख लगाकर ॐ द्वारपालाय नमः जाग्रय स्थापयै स्वाहा मन्त्र लिखें और नीचे गणेश जी की मूर्ति लगाएं।
  • आग्नेय कोण में मोरपंख लगाने से घर का वास्तु ठीक होता है। इसके अलावा ईशान कोण में कृष्ण भगवान की फोटो के साथ मोरपंख लगाना भी शुभ होता है।

तो अगर आप भी अपने घर में सुख, समृद्धि, शान्ति, धन और विद्या लाना चाहते हैं तो घर में मोरपंख जरूर रखें।