Ultimate magazine theme for WordPress.

मुंडन मुहूर्त 2019, मुंडन कब कराएं, चौल मुंडन मुहूर्त २०१९

मुंडन संस्कार 16 संस्कारों में से एक हैं जो अक्सर बच्चों के जन्म के कुछ साल बाद किया जाता हैं। यहाँ हम आपको 2019 में मुंडन संस्कार के लिए मुहूर्त दे रहे है।

मुंडन मुहूर्त 2019 के लिए

Mundan 2019, Mundan Muhurat 2019, Baby Mundan 2019, Mundan Muhurat in Month 2019, शुभ नक्षत्र वार तिथि और दिन के हिसाब से मुंडन मुहूर्त २०१९ के लिए, हिन्दू पंचांग और हिंदी कैलेंडर के अनुसार साल के शुभ महीनों में शिशु का मुंडन कब कराएं

Mundan Muhurat 2019

मुंडन क्यों किया जाता हैं ?

मुंडन संस्कार 16 संस्कारों में से एक हैं। मुंडन अक्सर बच्चों के जन्म के कुछ साल बाद किया जाता हैं।  कई लोग बच्चे के लिए मन्नत रखते हैं और फिर मुंडन कराते हैं। इसलिए मुंडन कराते हैं। और जब भी पहली बार मुंडन किया जाता हैं उसके लिए अच्छे मुंडन मुहूर्त का होना जरुरी है कभी भी और किसी भी समय नहीं किया जाता हैं।

मुंडन को अलग अलग क्षेत्रों में अलग अलग नामों से जाना जाता हैं। मुंडन को चौलमुंडन और चूड़ाकरण संस्कार भी कहा जाता है,  मुस्लिमों में इसे अक़ीक़ा के नाम से जानते हैं।

मुंडन कितने साल बाद और कब कराया जाता हैं ?

मुंडन अक्सर जन्म के थोड़े दिन बाद या पांच साल के अंदर होता है। पर अलग अलग क्षेत्रों में इनकी अलग-अलग समय है। इसलिए आप अपने क्षेत्र के अंसार ही मुंडन करवाएं।

मुंडन बहुत ही जरुरी है किसी भी बच्चे के लिए क्यों की शास्त्रों के अनुसार और लोगों की धारणा के अनुसार बच्चे के मुंडन से बल, बुद्धि और आयु बढ़ती है। 

मुंडन कौन कौन से स्थान पर किया जाता हैं ?

मुंडन अकसर किसी भी धार्मिक स्थानों पर किया जाता है या घर में भी पुरे विधिवत तरीके से मुंडन कराया जाता हैं।  अक्सर लोग किसी बड़े धार्मिक स्थल पर जैसे हरिद्वार, वैष्णो देवी, वाराणसी या अपने क्षेत्र के प्रसिद्ध मंदिरों में कराया जाता है या जो लोग किसी खास धार्मिक स्थलों की मन्नत रखते हैं वहीं मुंडन कराते हैं।

मुंडन मुहूर्त कैसे निकालें? 

मुंडन करने के लिए शुभ नक्षत्र, शुभ तिथि, शुभ वार और शुभ लग्न का होना जरुरी है। आप नीचे दिए गए मुहूर्त टेबल के अनुसार बच्चे का मुंडन करवा सकते हैं। या अगर आपके पास मुंडन करने का शुभ मुहूर्त है तो मिलान कर सकते हैं, की आपके पास को तिथि है वह मुंडन करने के लिए शुभ है या नहीं?

नक्षत्रज्येष्ठा, मृगशिरा, रेवती, चित्रा, हस्त, अश्विनी, पुष्य, स्वाति, अभिजीत, पुनर्वसु, श्रवण, धनिष्ठा, शतभिषा
वारसोमवार, बुधवार, बृहस्पतिवार, शुक्रवार
तिथिद्वितीया, तृतीया, पंचमी, सप्तमी, दशमी, एकादशी, त्रयोदशी
लग्नद्वितीया, तृतीया, चतुर्थी, षष्ठी, नवमी, द्वादशी
लग्नशुद्धिशुभग्रह प्रतिपदा, द्वितीया, चतुर्थी, पंचमी, सप्तमी, नवमी, दशमी स्थानों में शुभ होते हैं।
पापग्रह तृतीया, षष्ठी, एकादशी में शुभ हैं। अष्टम में कोई गृह ना हो।

2019 मुंडन मुहूर्त, Mundan Muhurat 2019

तारीखदिननक्षत्रतिथि
17 जनवरी 2019गुरुवाररोहिणीएकादशी
18 जनवरी 2019शुक्रवाररोहिणीद्वादशी
21 जनवरी 2019सोमवारपुष्यपूर्णिमा
25 जनवरी 2019शुक्रवारहस्तपंचमी
31 जनवरी 2019गुरुवारज्येष्ठाएकादशी
6 फरवरी 2019बुधवारशतभिषाद्वितीया
7 फरवरी 2019गुरुवारशतभिषातृतीया
15 फरवरी 2019शुक्रवारमृगशिरादशमी
22 फरवरी 2019शुक्रवारहस्ततृतीया
27 फरवरी 2019बुधवारज्येष्ठाअष्टमी
4 मार्च 2019सोमवारश्रवणत्रयोदशी
8 मार्च 2019शुक्रवारउत्तराभाद्रपदद्वितीया
13 मार्च 2019बुधवाररोहिणीसप्तमी
14 मार्च 2019गुरुवारमृगशिराअष्टमी
29 अप्रैल 2019सोमवारशतभिषादशमी
2 मई 2019गुरुवाररेवतीत्रयोदशी
9 मई 2019गुरुवारपुनर्वसुपंचमी
15 मई 2019बुधवारहस्तएकादशी
16 मई 2019गुरुवारचित्राद्वादशी
20 मई 2019सोमवारज्येष्ठाद्वितीया
31 मई 2019गुरुवाररेवतीएकादशी
6 जून 2019गुरुवारपुनर्वसुतृतीया
7 जून 2019शुक्रवारपुष्यचतुर्थी
12 जून 2019बुधवारहस्तदशमी
13 जून 2019गुरुवारचित्राएकादशी
14 जून 2019शुक्रवार स्वातीद्वादशी
27 जून 2019गुरुवारअश्विनीदशमी
28 जून 2019शुक्रवारअश्विनीएकादशी
3 जुलाई 2019बुधवारपुनर्वसुप्रतिपदा
4 जुलाई 2019गुरुवारपुनर्वसु, पुष्यद्वितीया
10 जुलाई 2019बुधवारचित्राअष्टमी
11 जुलाई 2019गुरुवारस्वातिदशमी
17 जनवरी 2020शुक्रवारचित्रासप्तमी
27 जनवरी 2020सोमवारशतभिषातृतीया
7 फरवरी 2020शुक्रवारपुनर्वसुत्रयोदशी
13 फरवरी 2020गुरुवारहस्तपंचमी
14 फरवरी 2020शुक्रवारचित्राषष्ठी
21 फरवरी 2020शुक्रवारश्रवणत्रयोदशी
28 फरवरी 2020शुक्रवारअश्विनीपंचमी
5 मार्च 2020गुरुवारपुनर्वसुदशमी
6 मार्च 2020शुक्रवारपुष्यएकादशी, द्वादशी