Ultimate magazine theme for WordPress.

जब पढ़ाई में मन नहीं लगे, करें ये उपाय

पढ़ाई में मन लगाने के उपाय

जब पढ़ाई में मन नहीं लगे ये उपाय करें, Padhai me Man Lagane ke Upay, Concentration Badhane ke upay, बच्चों का पढ़ाई में मन न लगना ये उपाय करें, Padhai me man kaise lagaye, Jaldi Yad Karne ka tarika, Padhai Me man lgane ke totke, शीघ्र याद करने के तरीके, पढाई में मन लगाने के उपाय


कई बार पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं का मन पढ़ाई से हटने लगता है। कई प्रयास करने के बाद भी एकाग्रता नहीं बन पाती। जिसके कारण परीक्षा के समय कुछ याद नहीं रहता। किसी भी चीज को याद रखने के लिए एकाग्रचित होकर पढ़ना जरुरी होता है। अगर आप पूरी एकाग्रता के साथ पढाई नहीं करते हैं तो कुछ ठीक से याद नहीं रहता और परिणामस्वरिप बच्चे पढ़ाई से जी चुराने लगते हैं। पढ़ाई से दूर भागने लगते हैं। अगर ऐसा कुछ आपके बच्चों के साथ भी हो रहा है तो ध्यान देने का समय आ गया है।

शास्त्रों के अनुसार, पढ़ाई में मन ना लगना या कुछ याद ना रहना कई बार वास्तु और ग्रहों के चाल का प्रभाव भी होता है। ऐसे में जरुरी हैं की उनके लिए उपाय किये जाए। आज हम पढ़ाई में मन लगाने के उपाय बता रहे हैं। अगर दिखे की बच्चे का मन पढ़ाई में नहीं लग रहा है तो इन उपायों को करें।

पढ़ाई में मन लगाने के उपाय

ये कुछ उपाय हैं जिनकी मदद से विद्यार्थी का मन पढ़ाई में लगने लगेगा और एकाग्रता बढ़ेगी।

  • अगर विद्यार्थी का मन पढ़ाई में नहीं लग रहा है, तो नवग्रहों के रंग के अनुसार – बुध का हरा, गुरु का पीला, शुक्र का सफ़ेद, शनि का काला व् नीला, राहु का काला, केतु का चितकबरा, सूर्य का लाल / नारंगी, चंद्र का सफ़ेद, मंगल का लाल आदि) नौ सुलेमानी हकीक पत्थर, हरे रंग के साफ़ कपडे में बांधकर विद्यार्थी के अध्ययन कक्ष में रखें। विद्यार्थी को कहें प्रत्येक बुधवार उन्हें देखकर अपनी अच्छी शिक्षा के लिए प्रार्थना करते हुए फिर से बांध दे। इससे एकाग्रता बढ़ती है और पढ़ाई में मन लगता है।
  • पढ़ने वाले बच्चों के गले में ब्राह्मी बूटी धारण करें। माना जाता है ब्राह्मी बूटी को गले में पहनने से या खाने से स्मरण शक्ति बढ़ती है।
  • जब आप नाक के दाहिने हिस्से से साँस ले रहे हो तब कठिन विषयों का अध्ययन करें, इस उपाय से मुश्किल से मुश्किल विषय भी शीघ्र याद हो जाता है।
  • विद्यार्थी को अपने कमरे की दीवार पर नीम की डाली लगानी चाहिए। इसे कमरे में शुद्ध हवा और सकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बना रहता है।
  • भगवान गणेश को हर बुधवार दुर्गा चढ़ाने से बुद्धि का विकास होता है।
  • परीक्षा में जाने से पूर्व मीठे दही पर तुलसी के पत्ते रखकर खाएं और फिर परीक्षा के लिए निकलें। पेपर अच्छा जाएगा।
  • सिर और गर्दन के पीछे बीच में मेडुला नाड़ी होती है। इस पर उंगली से 3-4 मिनट मालिश करें। ऐसा करने से एकाग्रता बढ़ती है और पढ़ा हुआ याद रहता है।
  • उत्तर दिशा में मुंह करके पिरामिड के आकार की टोपी पहनकर पढ़ाई करने से पढ़ा हुआ जल्दी याद होता है। टोपी, कागज गत्ते या मोटे कपडे से बना सकते हैं।
  • परीक्षा देने के लिए घर से बाहर जाते समय सबसे पहले अपना सीधा पैर बाहर निकालें और परीक्षा कक्ष में भी पहले सीधा पैर ही अंदर रखें।
  • पेपर देने के लिए घर से जाते समय किसी मंदिर में आधा किलो दूध देकर जाएं, इससे आत्मविश्वास बना रहेगा।
  • किसी भी शुभ मुहूर्त में लाल सुलेमानी हक़ीक को धारण करने से दिमाग तेज होता है।
  • पढाई में मन गाने के लिए विद्यार्थी को बांसुरी भेंट दें। बांसुरी के ऊपर रोली या सिंदूर से ॐ नमो भगवते वासुदेवाय लिखें। इस बांसुरी को पढ़ाई वाले कमरे में ईशान कोण में लटका दें।
  • विद्यार्थी अपनी पुस्तकों में मोर पंख (चांद) रखें।
  • विद्यार्थी रात को सोने से पहले किसी चांदी के बर्तन में पानी कर पिए।
  • प्रतिदिन गायत्री मंत्र का जाप करें।
  • तांबे पर बना हुआ सरस्वती यंत्र लाएं और विद्यार्थी प्रतिदिन इसका पूजा करे।

ये कुछ उपाय हैं, जिनका प्रयोग करके विद्यार्थी की एकाग्रता को बढ़ाया जा सकता है। अगर इन नियम का प्रयोग करेंगे तो निश्चित ही बच्चे का मन पढ़ाई में लगने लगेगा।