Ultimate magazine theme for WordPress.

पौष 2019 : पौष माह का महत्व, क्या करें क्या नहीं पौष माह में?

पौष 2019

Paush 2019, पौष कब से कब तक है, पौष माह का महत्व, पौष में धनुर्मास और खरमास, Paush Date 2019, Paush month End Date in 2019, पौष कब खत्म होगा, पौष में क्या करें, पौष माह में क्या ना करें, पौष का धार्मिक महत्व, पौष में सूर्य देव की आराधना


हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, एक वर्ष में बारह माह होते हैं। पौष भी इन्ही में से एक है। जिसे हिन्दू धर्म में बहुत खास माना जाता है। आज हम आपको पौष माह से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारियां दे रहे हैं। पौष 2019 कब से कब तक है? पौष का महत्व, पौष माह में क्या करें क्या नहीं? पौष माह की विशेषताएं।

पौष माह क्या है?

पौष हिन्दू कैलेंडर के १२ महीनों में से एक है। यह साल का दसवां महीना होता है जो जॉर्जियन कैलेंडर के अनुसार दिसंबर/जनवरी के महीने में आता है।

हिन्दू कैलेंडर के मुताबिक पौष माह हेमंत ऋतू का महीना होता है। और इसी महीने सूर्य धनु राशि में प्रवेश करता है। इसीलिए धार्मिक रूप से पौष माह को बहुत खास माना जाता है। पौष महीने भगवान सूर्य की सातवीं प्रतिमा भग की आराधना की जाती है।

पौष माह कब से कब तक है?

2019 में पौष माह 22 दिसंबर, शनिवार से प्रारंभ हुआ है।
पौष माह 21 जनवरी 2019, सोमवार को समाप्त होगा। 

पौष माह के पर्व और त्यौहार

धार्मिक रूप से इस माह को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। लेकिन कुछ खास पर्व है जो पौष के महीने में आते हैं। यहाँ उन्ही के बारे में बता रहे हैं –

  • 25 दिसंबर 2018, को क्रिसमस पौष माह के दौरान था।
  • 1 जनवरी 2019, को नव वर्ष पौष की एकादशी को है।
  • 1 जनवरी 2019, को पौष कृष्ण पक्ष की एकादशी सफला एकादशी है।
  • 5 जनवरी 2019, को पौष अमावस्या है।
  • 14 जनवरी 2019, को मकर संक्रांति है, जिसमे सूर्य देव धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेंगे।
  • 17 जनवरी 2019, को पौष माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी पुत्रदा एकादशी है।
  • 21 जनवरी 2019, को पौष पूर्णिमा है। जो पौष महीने का सबसे खास दिन होता है। इस दिन पवित्र नदियों में स्नान-दान करने से कई गुना पुण्य की प्राप्ति होती है।

पौष माह का महत्व

हिन्दू धर्म में इस महीने को बहुत खास माना जाता है। माना जाता है इस पुरे महीने सूर्य देव के भग रूप की आराधना करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। पर कुछ क्षेत्रों में पौष माह को मांगलिक कार्यों के लिए शुभ नहीं माना जाता। जिसका एक कारण सूर्य का धनु राशि में होना भी माना जाता है।

शास्त्रों के अनुसार, सूर्य जब धनु और मीन राशि में होता है, तब उस दौरान हर प्रकार के मांगलिक कार्य निषेध होता है। और पौष माह उसी बीच पड़ता है। इसलिए पौष महीने के दौरान भी मांगलिक कार्य नहीं किये जाते। पर इस दौरान दान करना बहुत शुभ होता है। विवाह, गृह प्रवेश, भूमि पूजन, जनेऊ धारण, सगाई रोका आदि शुभ कार्य इस दौरान नहीं करने चाहिए।