रोजे में भूलकर भी न करें ये 20 काम

रमजान, रमजान में भूलकर भी न करें ये काम, रोजा रखने के नियम, रोजा रखने पर इन बातों का ध्यान रखें, रोजा रखने के लिए टिप्स, Ramjaan 2018, roja rakhte samay in baato ko na bhule 

0

रमजान के इस पाक महीने में मुसलमान रोजा रखते है। इस दिन कुरान शरीफ के उतरने की ख़ुशी में लोग रोजा रखते है। रोजा रखने से व्यक्ति आध्यात्मिक रूप से पवित्र हो जाता है। और सच्चे मन से यदि आप अपने अलग को याद करते है तो अल्लाह के कर्म को पाने के लिए इस महीने को सबसे अहम माना गया है। ऐसा कहा जाता है इस महीने में अल्लाह जन्नत के सभी दरवाज़े खोल देता है, और अपनी रहमत बरसाता है।

लेकिन अल्लाह की रहमत पाने के लिए रोजा रखने के दौरान आपको बहुत सी बाते हैं जिनका ध्यान रखना पड़ता है। क्योंकि यदि आपका मन रोजा रखने के लिए पवित्र नहीं है तो आपका रोजा मकरूह हो जाता है। इस दौरान आपको पूरी तरह से अल्लाह की इबादत में लीं हो जाना चाहिए। जिससे आपके रोजे सफल हो, तो आइये आज हम आपको ऐसे ही कुछ काम बताने जा रहे हैं जिसे आपको रोजा रखने के दौरान नहीं करना चाहिए।

रोजे रखने के दैरान न करें ये काम:-

अल्लाह के नाम पर झूठ न बोलें:-

रमजान के दौरान आपको अल्लाह की इबादत करनी चाहिए न की उनके नाम पर झूठ बोलना चाहिए। यदि आप रोजा रखने के दौरान अल्लाह के नाम पर झूठ बोलते है, या किसी से अल्लाह के नाम पर पैसे ऐंठते है, या किसी को जान से मारने की धमकी देते है, तो ऐसे में आपका रोजा टूट जाता है।

नशे न करें:-

किसी भी प्रकार का नशा जैसे की धूम्रपान, शराब, तम्बाकू, या अन्य कोई भी नशा, यदि आप रोजा रखने के दौरान करते है। तो वो रोजा मान्य नहीं होता है और न ही अल्लाह के द्वारा कबूला जाता है। इसीलिए रोजा रखने के दौरान आपको हर तरह के नशे से परहेज करना चाहिए।

किसी की बुराई करने पर:-

किसी की उसके सामने निंदा करना हो, या उसकी पीठ पीछे बुराई करना हो, दोनों को ही रोजा रखने वाले को नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से आप अल्लाह को नराज़ करते है। जिससे अल्लाह का कर्म से आप मकररोह हो जाते है, और आपका रोजा भी टूट जाता है।

लड़ाई झगड़ा न करें:-

रमजान का पाक महीना अल्लाह की इबादत में लीं होकर अपने मन को शांत रखने के लिए होता है। ऐसे में यदि आप लड़ाई झगड़ा करते है तो आपको ऐसा नहीं करना चाहिए, क्योंकि लड़ाई झगडे को रोजा रखने के नियमो में वर्जित कहा गया है।

सम्बन्ध न बनाएं:-

शारीरिक सम्बन्ध भी रोजा रखने के दौरान वर्जित होते है, ऐसे में न तो आपको अपने पार्टनर के साथ रिलेशन बनाना चाहिए, और न ही सम्बन्ध बनाने के बारे में अपने पार्टनर से बात भी करनी चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसा करने से आपका रोजा मकरूह हो जाता है।

वजन कम करने के लिए रोजा न रखें:-

कई लोग एक महीने तक रोजा यह सोचकर भी रखते है की इससे उनका वजन कम हो जाएगा। लेकिन अल्लाह की इबादत को छोड़ आप अपने वजन को घटाने के लिए रोजा रखते है तो ऐसा रोजा अल्लाह द्वारा कबूला नहीं जाता है।

किसी महिला पर बुरी नज़र न रखें:-

हमेशा हर महिला को सम्मान और इज्जत ही देनी चाहिए, और कभी भी उसपर बुरी नज़र नहीं रखनी चाहिए। खासकर रोजा रखने के दौरान आपको इस बात का ध्यान देना चाहिए यदि आप रोजा रखकर महिलाओ पर बुरी दृष्टि रखते है ऐसे में आपके रोजा रखने का कोई फायदा नहीं होता है।

गीले कपडे नहीं पहनने चाहिए:-

यदि रोजा रखकर आप गीले कपडे पहन कर रखते है, तो इसे भी रोजा रखने के नियमो में वर्जित कहा गया है। यदि आप ऐसा करते है तो ऐसा करने से भी आपका रोजा मकरूह हो जाता है।

सारा दिन खाने के बारे में न सोचें:-

सूर्योदय से पहले और सूर्यास्त के बाद ही आप कुछ खा पी सकते है, इसके अलावा आपकोपुरा दिन खाने पीने के बारे में नहीं सोचना चाहिए, यदि आप रोजा रखने के बाद सारा दिन खाने पीने के बारे में सोचते है तो इससे भी रोजा टूट जाता है।

मुँह से खून आने पर:-

यदि किसी कारण रोजा रखने के दौरान आपके मुँह या दांत में से खून आने लगता है। या आप अपना दांत निकलवाते हैं तो वह रोजा भी कबूला नहीं जाता है, और आपका रोजा मकरूह हो जाता है।

अश्लील बातें करने से:-

रमजान का महीना अल्लाह की इबादत के लिए होता है। और यदि आप इस दौरान अल्लाह की इबादत को छोड़ अश्लील बातें करते है, या किसी से इस बारे में मज़ाक करते है, किसी से अश्लील चुटकुले बोलते हैं या सुनते भी है। तो ऐसा रखने से भी आपका रोजा टूट सकता है इसीलिए रोजा रखने पर इन बातों को आपस में करने से भी परहेज रखना चाहिए।

तेज से बातें न करें:-

रोजा रखने के दौरान आपको अपनी आवाज़ पर भी संयम बरतना चाहिए, और साथ ही न तो आपको तेज से हंसना चाहिए। यदि आप इस दौरान तेजी से बोलते रहते हैं, या सारा दिन जोर जोर से हँसते रहते है तो ऐसा करने से भी आपके रोजे पर असर पड़ता है।

अपने पहनावे पर ध्यान दें:-

खासकर महिलाओ को रोजा रखने के दौरान अपने पहनावे में शालीनता रखनी चाहिए ताकि कोई भी उन पर बुरी नज़र न डालें। अपना सर भी अच्छे से ढक कर रखना चाहिए। और पुरुषो को भी साफ सुथरे कपडे पहनने चाहिए।

बुरे कर्म न करें:-

धर्म की निंदा करना, दूसरों को बदनाम करना, झूठ बोलना, किसी को फंसाने की कोशिश करना, ऐसे बुरे कर्म आपको रोजा रखने के समय नहीं करने चाहिए। क्योंकि रमजान के इस पाक महीने अल्लाह इबादत से खुश होता है और यदि आप ऐसे बुरे कर्म करते है तो इससे अल्लाह द्वारा आपका रोजा कबूला नहीं जाता है।

नमाज़ न पड़ने पर:-

रोजा रखने पर आपको दिन में पांच बार नमाज़ करना जरुरी होता है, यदि आप ऐसा नहीं करते है तो ऐसा करने से आपका रोजा कबूला नहीं जाता है।और आपका रोजा टूट जाता है, इसीलिए अल्लाह की इबादत आपको रोजा रखने के दौरानजरूर करनी चाहिए।

मुँह में फंसा हुआ न खाने से:-

कई बार खाना खाते समय कुछ कण मुँह में फंस जाते है, ऐसे में रोजा रखने के दौरान अप्न्मे मुँह की साफ़ सफाई का अच्छे से ध्यान रखना चाहिए। यदि कोई व्यक्ति रोजा रखने के समय जान बूझकर मुँह में फंसा हुआ निगल जाता है तो ऐसे में उसका रोजा टूट जाता है।

गलत नियत करने पर:-

यदि कोई व्यक्ति रोजा रखने पर रमजान की नियत को छोड़ किसी और रोजे की नियत करता है। तो ऐसे में भी आपका रोजा कबूला नहीं जाता है, यदि आप रोजे की सही नियत करते है तभी वह कबूला जाता है।

गुस्सा और अहंकार न करें:-

मन को शांत रखना, सब्र करना, घमंड न करना, अच्छी आदतों को ग्रहण करना, और अल्लाह की इबादत करना, ये सब बातें रोजा रखते समय आपको ध्यान रखनी चाहिए। लेकिन यदि आप अपने मन को शांत नहीं रखते है और हमेशा गुस्से और अहंकार में रहते है तो अल्लाह द्वारा आपका रोजा कबूला नहीं जाता है।

जानबूझकर खाना खाने से:-

यदि आप रोजा रखने के समय में जानबूझकर कुछ भी खा लेते है, तो ऐसा करने से आपका रोजा टूट जाता है। क्योंकि रोजा रखने पर सेहरी और इफ्तार के समय ही आप कुछ खा पी सकते है इसके अलावा खाने के बारे में सोचना भी मना होता है।

ज्यादा नहीं खाना चाहिए:-

रमजान रखने के दौरान आपको इफ्तार के समय भी ज्यादा नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इससे हमे अहसास होता है की भूखे और कमजोर लोग कैसे होते है, और हमारे मन में दया की भावना जागती है। और यदि आप पेट भर कर खाते रहते है तो इससे आपके रोजा रखने का पूरा फल नहीं मिल पाता है।

तो ये हैं कुछ काम जो आपको रोजा रखने के दौरान नहीं करने चाहिए। यदि आप इन्हे करते है तो आपका रोजा भी अल्लाह कबूल नहीं करते है। रोजा रखने के दौरान सब्र, संयम, प्रेम, अल्लाह की इबादत इनका ध्यान रखना चाहिए। साथ की अल्लाह की नियत कर अल्लाह की बरकत आप पर हमेशा बनी रहे इसके लिए दुआ करनी चाहिए।

रमजान, रमजान में भूलकर भी न करें ये काम, रोजा रखने के नियम, रोजा रखने के लिए टिप्स, Ramjaan 2018, ramjaan me in baton ko yaad rakhe, ramjaan ke niyam, roja rakhte samay in baato ko na bhule