ज्योतिष शास्त्र में सफलता पाने के उपाय

0

सफलता का महत्व

अच्छा और बेहतर जीवन जीना तभी संभव है जब आपके पास अच्छी नौकरी हो। और ऐसा तभी संभव है जब आपके द्वारा किये जाने वाले कार्यों में सफलता मिलती रहे। फिर चाहे वो परीक्षा की हो या इंटरव्यू की। परन्तु कुछ लोगों की किस्मत के सितारे बुलंद नहीं होते, कई प्रयास करने के बाद भी सफलता नहीं मिलती। ऐसे बहुत से लोग हैं जो मेहनत तो खूब करते हैं लेकिन सफलता लक्ष्य के मुताबिक नहीं मिल पाती। ऐसा क्यों होता है? क्या कारण है की कई कोशिशों के बाद भी सफलता नहीं मिलती? आज हम आपको इन प्रश्नों के उत्तर दे रहे हैं।

सफलता नहीं मिलने के क्या कारण होते हैं?

व्यक्ति के जीवन में मिलने वाले सुख-दुःख, सफलता-असफलता ये सभी व्यक्ति की कुंडली पर निर्भर करता है, ग्रह अपनी शक्ति और स्थिति के अनुसार ही आपको फल देते हैं। जिस व्यक्ति की कुंडली में ग्रह शुभ स्थिति में होंगे उन्हें जीवन के हर पड़ाव पर सफलता मिलेगी। अगर ग्रहों की स्थिति शुभ नहीं है तो मेहनत करने के बाद भी अड़चनें आएंगी।

परन्तु शास्त्रों में इसका भी उपाय दिया गया है। ग्रहों और नक्षत्रों के शुभ-अशुभ योग ही सफलता-असफलता का कारण बनते हैं। अगर कुछ उपाय किये जाएं तो अशुभ फलों को शुभ फलों में बदला जा सकता है। लेकिन इसके लिए जरुरी है की सही उपायों का प्रयोग किया जाए।

सफलता पाने के लिए यंत्र

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सभी कार्यों में सफलता पाने के लिए सर्व कार्य सिद्धि यंत्र अचूक उपाय है। कामयाबी पाने के लिए इस यंत्र को पुरे नियम और विधि के साथ स्थापित करना चाहिए। व्यापार में सफलता पाने के लिए व्यापार वृद्धि यंत्र लाभदायी होता है। सफलता प्राप्त करने के लिए यंत्र को शुभ मुहूर्त देखकर स्थापित करना चाहिए। यंत्र स्थापना के लिए शुक्ल पक्ष के रविवार का दिन शुभ होता है। यंत्र स्थापना के बाद नियमित रूप से पूजा अर्चना करना अनिवार्य होता है।

सफलता पाने के लिए मंत्र

अगर आपको भी अपने द्वारा किये गए परिश्रमों के अनुरूप परिणाम नहीं मिलते हैं तो नीचे दिए मंत्र का नियमित रूप से जप करें। कुछ ही समय में परिणाम दिखने लगेंगे –

ॐ सर्व मंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्र्यम्बिके गौरी नारायणी नमोस्तुते॥

दही शक्कर खाएं

नौकरी, काम, व्यापार और परीक्षा में सफलता पाने के लिए घर से बाहर निकलते समय दही शक्कर खाकर निकलें। इससे कार्य सिद्धि होगी।

गुड़ खाएं

अगर किसी जरुरी काम से घर से बाहर जा रहे हैं तो घर से निकलने से पहले गुड़ खाएं और थोड़ा पानी पी लें। इस उपाय से आपको काम में सफलता मिलेगी।

काम-धंधे में सफलता के लिए

  • हर शुक्रवार को लक्ष्मी नारायण मंदिर में चने का प्रसाद बाटें।
  • मछलियों को आटे की गोलियां बनाकर खिलाएं।
  • कच्चे सूत को केसर के रंग से रंगे और अपने व्यापारिक स्थल पर बाँध दें।
  • घर की स्त्रियों का सम्मान करें।
  • दक्षिण दिशा की ओर पैर करके न सोएं।
  • श्वेतार्क गणपति को कार्यस्थल पर स्थापित करके रोजाना पूजा करें।
  • कार्यस्थल में प्रवेश करने से पूर्व भगवान का ध्यान करें और देहलीज को प्रणाम करें।
  • नौकरी में सफलता पाने के लिए
  • हनुमान जी की पूजा करें। संभव हो तो मंगलवार को प्रसाद चढ़ाएं।
  • शनि देव की आराधना करें। पीपल के पेड़ की पूजा करें।
  • शिव जी की आराधना करें।
  • गौ माता की सेवा करें और खाना खिलाएं।
  • तुलसी की पूजा करें।
  • किसी जरूरतमंद को काला कंबल दान करें।
  • पक्षियों को दाना खिलाएं।
  • चांदी की अंगूठी में मोती जड़वाकर पहनें।
  • गुरुवार के दिन पीपल के वृक्ष में जल चढ़ाएं लेकिन उसे छुएं नहीं।

परीक्षा में सफलता पाने के लिए

  • विद्यार्थी बुधवार के दिन गणेश जी के मंदिर जाकर पूजा करें और उन्हें लड्डुओं का भोग लगाएं।
  • संभव हो तो ब्रह्म मुहूर्त में अध्यन करें। उस समय की पढाई हमेशा स्मरण रहती है।
  • स्टडी टेबल को हमेशा व्यवस्थित रखें।
  • गुरुवार के दिन गौ माता को पेड़े खिलाएं।
  • सूर्य देव की आराधना करें।
  • मन को शांत रखने के लिए अध्यन कक्ष में हरे रंग के पर्दें लगाएं।
  • स्टडी रूम में हरे तोते का चित्र लगाएं।
  • कमरे में मोरपंख लगाना भी अच्छा होता है।
  • परीक्षा कक्ष में प्रवेश करते समय सबसे पहले सीधा पैर रखें।
  • सरस्वती यंत्र का पूजन करें।
  • माँ सरस्वती का पूजन करें और उन्हें सफ़ेद पुष्प चढ़ाएं।
  • हमेशा उत्तर या पूर्व दिशा में बैठकर पढ़ाई करें।
  • तुलसी के पत्तों में मिश्री मिलाकर खाएं इससे स्मरण शक्ति बढ़ेगी और चीजें ज्यादा याद रहेंगी।

ये सब कुछ तरीके हैं जिनका प्रयोग करके व्यापार, नौकरी, परीक्षा में सफलता पाई जा सकती है।