Take a fresh look at your lifestyle.

शनि साढ़ेसाती से ऐसे पाएं छुटकारा

अधिकतर लोग कुंडली में शनि की दशा को लेकर बहुत घबराते हैं। की यदि उनकी कुंडली में शनि ग्रह का प्रभाव होगा तो इसके कारण उनकी जिंदगी पर बहुत बुरा असर पड़ेगा। जबकि ऐसा नहीं है यदि आप पर शनि की अच्छी दृष्टि है तो जीवन में किसी भी काम में आपको परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा, तरक्की व् कामयाबी हमेशा आपका रास्ता चूमेगी। हां, लेकिन यदि शनि की बुरी दृष्टि आप पर है तो इसके कारण आपको परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

जैसे की कुछ लोग शनि की महादशा, शनि की ढैय्या, शनि की साढ़ेसाती से प्रभावित होते हैं। तो आज इस आर्टिकल में हम आपसे शनि की साढ़ेसाती को लेकर बात करने जा रहे हैं। शनि की साढ़ेसाती का मतलब है की एक जातक की कुंडली में साढ़े सात साल तक शनि का प्रभाव रहना, और यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में ऐसा होता है। तो शनि की साढ़ेसाती के बुरे प्रभाव से बचने के लिए आप कुछ आसान उपाय कर सकते हैं ताकि शनि की बुरी दृष्टि से आपको बचे रहने में मदद मिल सके।

मंगलवार को करें यह उपाय

मंगलवार का व्रत करने से, मंगलवार के दिन हनुमान मंदिर जाने से, मंगलवार को सुंदरकांड का पाठ करने से, हनुमान मंदिर में मंगलवार के दिन दिया जलाने से, शनि की साढ़ेसाती के बुरे प्रभाव से बचने में मदद मिलती है। मंगलवार के साथ शनिवार को भी सुंदरकांड व् हनुमान चालीसा का पाठ करना फायदेमंद होता है।

वीरवार को करें यह उपाय

गुरुवार के दिन चने की दाल और गुड़ या फिर ताजे आटे के पेड़े पर हल्दी लगाकर गाय को खिलाने से भी शनि दोष को शांत करने में मदद मिलती है।

शनिवार के दिन करें यह उपाय

शनिवार के दिन एक बर्तन में पानी लेकर उसमे जल डालें और उसके बाद उसमे थोड़ी चीनी और काला तिल मिलाकर पीपल की जड़ में अर्पित करें उसके बाद पीपल के पेड़ की तीन परिक्रमा लगाएं ऐसा करने से शनि प्रसन्न होते हैं। इसके अलावा शनिवार के दिन उड़द दाल की खिचड़ी बनाकर खाएं ऐसा करने से भी शनि दोष के कारण प्राप्त होने वाले कष्ट में कमी आती है और शनि दोष से राहत पाने में मदद मिलती है। शनिवार के दिन पीपल पर दिया जलाने से भी शनि दोष को कम करने में मदद मिलती है।

शनि मन्त्रों का जाप

शनिवार और मंगवार के दिन शनि मन्त्रों का उच्चारण करें ऐसा करने से भी शनि की साढ़ेसाती के बुरे प्रभाव से बचे रहने में मदद मिलती है।

शिव की पूजा

भगवान शिव जी की पूजा करने से भी शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव को खत्म करने में मदद मिलती है। यदि आप पर शनि की साढ़ेसाती है तो इसके लिए आप शनिवार के दिन शिव चालीसा का पाठ करें, महामृत्युंजय मंत्र का जाप करें, ऐसा करने से शनि दोष शीघ्र ही दूर हो जाता है। महामृत्युंजय मंत्र का जाप हो सके तो रोजाना करें।

दान करें

शनिवार के दिन काला कपडा, काले तिल, काली दाल, लोहे के सामान, कम्बल आदि का दान करें। ऐसा करने से शनि की साढ़ेसाती के प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है।

शनि मंदिर जाएँ

शनिवार को शनि मंदिर जरूर जाएँ और सरसों के तेल और काले तिल से शनि देव की पूजा करें, साथ ही सिन्दूरी हनुमान जी की भी पूजा करें ऐसा करने से भी शनि की साढ़ेसाती के कारण होने होने वाले बुरे प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है।

बुरे कर्म न करें

किसी के बारे में बुरा न बोलें, बुरा न सोचें, किसी का बुरा न करें, ऐसा कोई काम न करें जिससे किसी का बुरा हो, सबके लिए अच्छा करें, जरूरतमंद की मदद करें। ऐसा करने से भी शनि की अच्छी दृष्टि आप पर बनी रहती है और शनि की बुरी दृष्टि से आपको बचे रहने में मदद मिलती है।

तो यह है शनि की साढ़ेसाती से बचने के कुछ आसान उपाय, यदि आपके ऊपर भी शनि की साढ़ेसाती का बुरा प्रभाव है तो आप भी इन आसान उपाय को करके शनि की बुरी दशा से बच सकते हैं और शनि की अच्छी दृष्टि आप पर बनी रहती है।