Take a fresh look at your lifestyle.

स्त्री को ससुराल भेजने का मंत्र और तरीका!

स्त्री को ससुराल भेजने के लिए वशीकरण मंत्र, स्त्री को सुसराल भेजने का मंत्र, स्त्री को ससुराल भजने का अचूक मंत्र, stri ko sasural bhejne ka mantra, stri ko sasural bhejne ka tarika

वशीकरण

Stri Ko Sasural Bhejne Ka Mantra – वशीकरण मंत्र – जिन मंत्रों के द्वारा किसी भी प्राणी को, रिश्तों को अपने वश में किया जाए और अपनी कामना पूर्ण की जाए उसे वशीकरण कहते है। वशीकरण मंत्र का प्रयोग पति पर, पत्नी पर, मित्र पर, शत्रु पर या जिनसे आप कुछ काम निकलवाना चाहते है उस पर किया जा सकता है। अपने वशीभूत करने की यह प्रक्रिया “वश्य-कर्म” कहलाती है। वशीकरण की देवी, सरस्वती होती है। वशीकरण का प्रयोग अगर वसंत ऋतू में किया जाए तो बहुत ही अच्छा होता है। वशीकरण प्रातःकाल से कुछ समय पश्चात् उत्तर दिशा की ओर बैठकर किया जा सकता है। वशीकरण में लाल वस्त्र तथा मूंगा, हीरा, स्फटिक एवं अलग-अलग रत्नों की माला इसके लिए अनुकूल होती है। वशीकरण में राई, लवण का हवन बहुत ही अनुकूल होता है।

वशीकरण कब करना चाहिए?

वशीकरण के लिए ताम्र कलश (तांबे का कलश), सप्तमी तिथि और शनिवार का दिन बहुत ही उपयुक्त होता है। वशीकरण प्रयोग करने वाले साधक को हमेशा मीठी, मधुर व् विनम्र वाणी बोलनी चाहिए।

स्त्री को ससुराल भेजने वाला मंत्र

“नमो क्षेत्रपाल मणिभद्राय, आडिआणपीड नवखण्डमध्ये कामणि लगे, अमुकडो (अभिष्ठ व्यक्ति का नाम) अमुकडी (अभिष्ठ स्त्री का नाम) सुप्रेम बान्धिजे,बापवीर गोरिया तोरी शक्ति, अमुकडानो (पुरुष नाम) अमुकडी (स्त्री नाम) मुख देखे तो इज सुख होये, तेहने सुखे सुखं नारसिंहाय नम:।”

बेटी या स्त्री को ससुराल भेजने के लिए सवासेर चावल को इकट्ठा करके 108 बार मंत्र का जाप करें। अब उस पर पाव तेल डालें और सवासेर तिलवट को अभिमंत्रित कर स्त्री अपने पति को खिलाये। क्षेत्रपाल की एक ताम्बे की मूर्ति बनाए और कणेर, तेल और सिंदूर से उसकी पूजा करें। ऐसा करने से स्त्री अपने ससुराल में प्रेमपूर्वक रहेगी और उसका पति सदैव उससे प्रसन्न रहेगा।

जब कोई स्त्री विवाह करके अपने ससुराल जाती है तब उसकी एक नई जिन्दगी की शुरुवात होती है, लेकिन अधिकतर लड़कियों की इस नई जिन्दगी की शुरुवात में कई अड़चने आती है। और कई बार स्थितियां इतनी गंभीर हो जाती है की स्त्री को अपना ससुराल तक छोड़ना पड़ जाता है और मजबूरन मायके आना पड़ता है। ये समस्या हम में से बहुत से लोगों की जिंदगी में आती है। इस स्थिति में इस मंत्र का प्रयोग करके समस्या से बचा जा सकता है। अगर परिवार वाले या स्त्री इस मंत्र का विधि अनुसार प्रयोग करें तो कुछ ही दिनों में स्त्री के ससुराल वाले ख़ुशी-ख़ुशी उसे ससुराल ले जाने आयेंगे और वह वहां प्रेमपूर्वक रहेगी और उसका पति भी उससे प्रसन्न रहेगा।