वास्तु दोष (Vastu Dosh) : वास्तु दोष निवारण उपाय 

अगर आपके घर में सुख शांति नहीं रहती है, कलह रहता है, बरकत नहीं होती, मनमुटाव रहता है, बीमार रहते हों, घर में अशांति रहती है तो हो सकता है आपके घर में वास्तु दोष है, ये उपाय अपनाएं और करे अपने घर के वास्तु दोष दूर.

0

किसी भी नये घर या फ़्लैट में अगर वास्तुदोष है तो वहाँ पर रहने वाले लोग कभी भी सुखी नही रहेंगे। उस घर में तरह तरह की परेशानियाँ होंगी जैसे घर के सदस्यों को सर्दी जुकाम, डाईबिटीज, उच्च रक्तचाप, कोई न कोई रोग लगा रहेगा और परेशान करता रहेगा। इसके अलावा उस घर में बरक्कत नही होगी। पैसा आयेगा तो रुकेगा नही। खर्च हो जायेगा। तरह तरह की मुसीबत बनी रहेगी।

दोस्तों आज के लेख में हम इसी बात की चर्चा करेंगे की कैसे अपने घर का वास्तुदोष दूर करें। पर आपको कैसे पता चलेगा कि आपके घर में ये दोष है। इसे जानने का सबसे अच्छा तरीका है कि उस घर में किसी नवजात (जो अभी जल्दी ही जन्मा हो) बच्चे को ले जायें। अगर घर में जाते ही बच्चा होने लग जाता है तो समझ लीजिये की वहां पर वास्तुदोष है। वहां पर नकारात्मक ऊर्जा है जो लोगो को परेशान करेगी। यदि बच्चा उस घर में जाते की हँसता या मुस्कुराता है तो समझ लीजिये की वो घर अच्छा है। वहाँ पर कोई दोष नही है।

वास्तु दोष ख़तम करने के उपाय 

·        क्रिस्टल बाल टाँगे- जिस घर में दोष हो घर के केंद्र भाग और दरवाजो पर क्रिस्टल बाल टांग देनी चाहिये। उस पर सूर्य की रोशनी न पड़े। इससे घर का दोष दूर होता है। नकारात्मक शक्तियाँ दूर होती है।

·        सही दिशा में तिजोरी बनायें– अगर आप दिन पर दिन कंगाल होते जा रहे है। आपको लगता है कि जितना भी पैसा आप खून पसीने से कमाते है, उसे बचा नही पाते है। पैसा आते ही खर्च हो जाता है तो समझ जाइये कि आपके घर में वास्तुदोष है। आप अपनी तिजोरी को इस तरह से रखे की उसका मुख उत्तर दिशा की तरह खुले। अगर आपने भूलकर भी ऐसे तिजोरी रखी कि उसका मुख दक्षिण की तरह खुलता है तो आपका नुकसान ही नुकसान होगा।

·        नल से पानी का टपकना बंद करें- कई बार हमारे घर में नल की टोटियों से पानी टपकता रहता है। वास्तु के हिसाब से यह दोष है। पानी की तरह आपका धन भी इसी तरह बह जायेगा। इसे आपको फौरन ठीक करवा लेना चाहिये। आपको पानी की निकासी हमेशा उत्तर दिशा में करनी चाहिये।

·        झाड़ू को सही तरह से रखे- कभी भी घर में झाड़ू खड़ा करके न रखें। इसे हमेशा लिटाकर रखे। इसमें किसी का पैर नही लगना चाहिये। घर में आने वाले मेहमानों की नजर झाड़ू पर नही पड़नी चाहिये।

·        प्रेमी-पक्षियों की तस्वीर बेडरूम में लगायें- बेडरूम में आप प्रेमी पक्षियों का चित्र लगाये जो जोड़े मे हो। इसके अलावा मेंडरिन बतख के जोड़े का चित्र भी लगा सकते है। पति पत्नी में प्रेम बढ़ेगा।

·        सिर्फ एक गणेश जी की पूजा करें- आपके घर में गणेश जी की चाहे जितनी मूर्ति हो पर पूजा सिर्फ एक मूर्ति की करनी चाहिये। दो शंख की पूजा नही करनी चाहिये। सिर्फ एक शंख की करनी चाहिये। धूप, दीपक, या अगरबत्ती को कभी भी मुंह से फूंक कर नही बुझाना चाहिये।  

·        रसोई को घर के आग्नेय कोण में बनाये- हमेशा घर के आग्नेय कोण (पूर्व दक्षिण का कोना) में रसोई होनी चाहिये जिससे अग्नि की पुष्टि होती रहे। अगर ऐसा नही है तो पूर्व दक्षिण कोने में टीवी, फ्रिज, ओवन, या कोई इलेक्ट्रानिक उपकरण रख दें। इससे अग्नि की पुष्टि हो जायेगी। घर में सकारात्मक ऊर्जा आएगी।

·        मन्दिर सदैव ईशान कोण में बनाये- घर का मन्दिर हमेशा उत्तर- पूर्व दिशा में होना चाहिये।

·        घर के द्वार पर नेम प्लेट लगाये- आपको अपने घर के मुख्य द्वार पर एक बड़ी सी चमकती हुई नेम प्लेट (name plate) लगानी चाहिये। इससे सम्पन्नता बढ़ती है। आप मुख्य द्वार पर स्वास्तिक का लाल रंग का चिन्ह भी बना सकते है।

·        दरवाजो- खिड़कियों के कब्जे आवाज न करें- इसके लिए आपको सभी कब्जों में तेल डालना चाहिये जिससे आवाज न हो। आवाज को अशुभ समझा जाता है

·        शौचालय की सही स्तिथि- घर के ईशान कोण (उत्तर- पूर्व कोना) में कभी भी शौचालय नही बनाना चाहिये। सदैव इसे घर की दक्षिण- पश्चिम दिशा में बनाना चाहिये।

 

निष्कर्ष: दोस्तों आज के लेख में हमने आपको अनेक उपाय बताये है जिसको अपनाकर आप अपने घर के वास्तुदोष को दूर कर सकते हैं। कोई भी नही चाहता है कि उनके घर में नकारात्मक ऊर्जा रहे और परिवार के लोगो को समस्या हो। इसलिए अगर आप भी वास्तुदोष से पीढित है तो हमारे उपायों को जरुर अपनायें। आपको लेख कैसा लगा जरुर बतायें।

 

Vastu Dosh in Hindi : घर में वास्तु दोष हो तो क्या करना चाहिए? वास्तु दोष के लक्षण, वास्तु दोष निवारण, वास्तु दोष के लक्षण Vastu Dosh Nivaran, Vastu Dosh