Take a fresh look at your lifestyle.

वट सावित्री व्रत 3 जून 2019 पूजा मुहूर्त, क्या खास है? और कौन-कौन से संयोग बन रहे हैं?

ज्येष्ठ माह की अमावस्या को वट सावित्री व्रत मनाया जाता है। इस साल ज्येष्ठ महीने में 3 तारीख को अमावस्या है। तो 3 तारीख को ही महिलाएं वट सावित्री व्रत का पूजन करेंगी। 

क्या संयोग हैं?

इस साल 3 जून 2019 अमावस्या के दिन सोमवार है। इसको सोमवती अमावस्या कहते हैं। सोमवती अमावस्या के दिन पूजा करने से पितृगण प्रसन्न होते हैं। जिनको पितृदोष होता है या जिनके जीवन में परेशानियां चल रही हो उन परेशानियों से मुक्ति मिल सकती है। इसके लिए पीपल पेड़ के नीचे पांच तरह की मिष्ठान चढ़ाएं। और पीपल के पत्ते पर ही चढ़ाएं। और इसको घर नहीं लाएं। वहीं पर बांट दें। जिनका विवाह नहीं हो रहा है वो पीपल पेड़ के नीचे मिठाई चढ़ाकर जरूर बाँट दें। 

शुभ मुहूर्त है 3 जून 2019 को

3 जून को सर्वार्थसिद्धि योग है। महिलाएं अगर पुरे मन से वट वृक्ष की पूजा करती हैं, व्रत रखती हैं तो मनोवंछित फल की प्राप्ति होगी। 

अमृत सिद्धि योग

3 जून 2019 को अमृतसिद्धि योग भी बन रहा है। यह मुहूर्त विशेष फलदायी माना जाता है। इस दिन वट सावित्री व्रत होने के कारण महिलाओं को अखंड सौभाग्य के साथ-साथ सुख-समृद्धि और ऐश्वर्य की प्राप्ति होगी। इस दिन कोई भी शुभ भी शुभ कार्य आप आरंभ कर सकते हैं।

त्रिग्रही योग

3 जून को मिथुन राशि में मंगल, राहु और बुध का त्रिग्रही संयोग बन रहा है। 3 जून 2019 को महिलाएं या कोई भी इंसान पीपल और बरगद के वृक्ष की पूजा करता है तो वो शनि, मंगल और राहु के प्रभाव से बचेगा और मनोवांछित फल प्राप्त होगा।

शुभ मुहूर्त वट सावित्री व्रत के लिए

वट सावित्री व्रत 3 जून 2019 का शुभ मुहूर्त पुरे दिन है। यानी सूर्योदय से सूर्यास्त तक। क्यूंकि इस दिन शुभ संयोग मुहूर्त भी हैं और अमृत सिद्धि योग भी है। इसलिए पूजा पाठ आप दिन में कभी भी कर सकते हैं।