गुरुवार यानी वीरवार व्रत करने की विधि व् इसके फायदे

0

सनातन धर्म में सप्ताह के हर दिन को किसी न किसी धार्मिक रूप से जोड़ा गया है और सप्ताह का हर दिन किसी न किसी देवी देवता को समर्पित होता है। जैसे की सोमवार का दिन भोलेबाबा तो मंगलवार का दिन हनुमान जी और शनि देव को समर्पित होता है। आज इस आर्टिकल में हम वीरवार के दिन के बारे में बता करने जा रहे हैं वीरवार का दिन ब्रहा जी, बृहस्पति देव, विष्णु भगवान को समपर्पित होता है। और इस दिन इनकी खास पूजा अर्चना के साथ कुछ लोग व्रत भी करते हैं जिससे उन्हें बहुत से फायदे भी मिलते हैं। तो आइये अब इस आर्टिकल में आगे हम आपको वीरवार के व्रत को करने की विधि व् उससे आपको कौन कौन से फायदे मिल सके हैं उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

गुरुवार का व्रत रखने की विधि

  • वीरवार के दिन सुबह समय से उठ कर अपने नित्य क्रिया से निवृत्त हो जाना चाहिए।
  • उसके बाद प्रातःकाल स्नान करके साफ़ और स्वच्छ कपडे पहनकर भगवान विष्णु की पूजा बृहस्पति देव के रूप में करनी चाहिए।
  • ध्यान रखें की पूजन में पीली वस्तुएं जैसे की पीले फूल, चने की दाल, मुनक्का, पीली मिठाई, पीले चावल और हल्दी आदि को चढ़ाना चाहिए।
  • उसके बाद कथा करनी चाहिए और कथा करने के बाद व् कथा करते समय सच्चे मन से अपनी मनोकामना पूर्ति के लिए प्रार्थना करनी चाहिए।
  • वीरवार के व्रत में केले के पेड़ की पूजा करना जरूरी होता है और इसके लिए आपको लोटे में जल लेकर उसमे हल्दी डालकर केले के पेड़ पर चढ़ाना चाहिए साथ ही केले की जड़ में चने की दाल, गुड़ और मुनक्का भी जरूर चढ़ाएं।
  • इसके बाद उसके पास ही दीपक जलाकर केले के पेड़ के सामने आरती करें।
  • साथ ही गुरूवार के व्रत में दिन में एक समय ही भोजन करना चाहिए और भोजन में पीली चीजें जैसे बेसन से बनी चीजें, आदि का सेवन ही करना चाहिए।

वीरवार का व्रत रखने के फायदे

यदि आप वीवरा का व्रत रखते हैं तो इससे आपको एक नहीं बल्कि कई फायदे मिलते हैं। क्योंकि वीरवार का व्रत रखने से कुंडली में बृहस्पति की दशा में सुधार लाने में मदद मिलती है। तो आइये अब वीरवार का व्रत रखने के फायदों के बारे में जानते हैं।

  • जिन लोगो की शादी में देरी हो रही हो उन्हें वीरवार का व्रत करना चाहिए क्योंकि इस व्रत को करने से आपकी यह समस्या दूर हो जाती है।
  • शादीशुदा जिंदगी में यदि कोई दिक्कत आ रही हो तो वीरवार का व्रत रखने से आपको इस परेशानी का निवारण करने में मदद मिलती है।
  • घर में धन धान्य की कमी नहीं हो, सुख शांति बनी रहें, माँ लक्ष्मी का वास हो इसके लिए आपको वीरवार का व्रत पूरी निष्ठां व् विश्वास के साथ रखना चाहिए।
  • मनचाहा पति पाने या पत्नी पाने की इच्छा को लेकर भी कुंवारे लड़के व् लड़कियां इस व्रत को कर सकते हैं।
  • नौकरी नहीं मिल रही है या नौकरी में तरक्की नहीं हो रही, काम के रास्ते में रुकावटें आ रही है तो भी आपको इस व्रत को करना चाहिए क्योंकि वीरवार का व्रत करने से आपकी इन सभी परेशानियों को दूर करने में मदद मिलती है।
  • जिन महिलाओं को बच्चे न हो रहे हो उन महिलाओं को वीरवार का व्रत करना चाहिए क्योंकि इस व्रत को करने से उनकी गोद भरने में मदद मिलती है।
  • इसके अलावा आपके मन में कोई भी इच्छा हो उसे लेकर यदि आप पूरे मनोभाव से वीरवार का व्रत करते हैं तो भी आपको इसका फल जरूर मिलता है।

ध्यान रखें:

वीरवार के दिन आपको पीला ही खाना चाहिए, हो सके तो पीला ही पहनना चाहिए, विधि विधान के साथ पूजा करनी चाहिए, केले का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इस दिन केले की पूजा होती है, बुरे काम करने से बचना चाहिए, आदि।

तो यह है वीरवार का व्रत रखने की विधि व् इस व्रत को रखने से कौन कौन से फायदे मिलते हैं उससे जुडी जानकारी, यदि आप भी किसी इच्छा को लेकर वीरवार का व्रत करना चाहते हैं तो कर सकते हैं। क्योंकि यह व्रत आसान होने के साथ फलदायी भी होता है।

Benefits of Thursday Fasting

Leave a comment