Muhurat Panchang and Festivals

दशहरा 2021 कब है? तिथि और मुहूर्त

0

हिन्दू धर्म में त्यौहार के पीछे कोई न कोई कहानी या इतिहास जरूर होता है इसीलिए उनका महत्व भी बहुत अधिक होता है। और इसीलिए उन त्योहारों को खूब धूमधाम से मनाने के साथ उस दिन पूजा पाठ भी की जाती है। आज इस आर्टिकल में हम आपसे दशहरा यानी विजयदशमी के बारे में बात करने का रहे हैं। हिन्दू धर्म में विजयदशमी को काफी धूमधाम से मनाया जाता है। विजयदशमी का दिन बुराई पर अच्छाई की विजय का प्रतिक माना जाता है। इस दिन भगवान् राम में रावण को हराकर अच्छाई पर विजय प्राप्त की थी। इसीलिए इस दिन राम पूजा का बहुत महत्व होता है साथ ही इस दिन दुर्गा पूजा का भी महत्व होता है।

क्योंकि इस दिन माँ दुर्गा ने भी महिषासुर नामक राक्षस को मार गिराया था। साथ ही दशमी से नौ दिन पहले तक माता के नवरात्रि रखे जाते हैं और दशमी के दिन पूरे जोर शोर से इनका विसर्जन किया जाता है। इसके अलावा विजयदशमी के दिन पर रावण, कुम्भकरण, मेघनाथ का पुतला जलाने का भी विधान है। जगह जगह पर इस दिन मेले भी लगते हैं और लोग रावण के पुतले को देखने के लिए जाते हैं। तो आइये अब जानते हैं की साल 2021 में विजयदशमी कब है और पूजा का शुभ मुहूर्त क्या है।

विजयदशमी 2021 कब है?

साल 2021 में विजयदशमी कब है: विजयदशमी 15 अक्टूबर 2021 दिन शुक्रवार को है।

दशमी तिथि प्रारंभ: 14 अक्टूबर दिन गुरूवार शाम 06:५२ से शुरू होकर

दशमी तिथि समापन:15 अक्टूबर 2021 शुक्रवार शाम 06:02 समाप्त होगी।

दशहरा पूजा मुहूर्त (Vijayadashami Puja Shubh Muhurat)

पंचांग के अनुसार 15 अक्टूबर 2021 दिन शुक्रवार विजयदशी के दिन पूजा का शुभ मुहूर्त दोपहर 02 बजकर 02 मिनट से 02 बजकर 48 मिनट तक रहेगा।

दशहरा का महत्व

दशहरा के दिन भगवान राम, माँ दुर्गा की पूजा अर्चना की जाती है। साथ ही ऐसा माना जाता है की इस दिन भगवान राम का नाम जपने से भक्तों की परेशानियां दूर हो जाती हैं। वहीं दूसरी और किसान इस दिन नई फसलों का जश्न मनाते हैं. पौराणिक कथाओं के अनुसार योद्धा इस दिन हथियारों की पूजा करते हैं और ऐसा करके वह अपनी जीत का जश्न मनाते हैं।

तो यह है दशहरा पर्व से जुडी जानकारी ऐसे में आपको भी हमेशा सच्चाई और ईमानदारी का साथ देना चाहिए, सभी की मदद करनी चाहिए, अहंकार व् बुराई से दूर रहना चाहिए।

Leave a comment