Take a fresh look at your lifestyle.

व्यापार बढ़ाने के 5 उपाय

व्यापार बढ़ाने के उपाय

बिजनेस बढ़ाने के उपाय

वर्तमान में प्रतिस्पर्धा बहुत बढ़ गयी है जिसके ज्यादातर लोग नौकरी छोड़कर व्यापार में अपना भाग्य आजमाते हैं। लेकिन उनमे से बहुत ही कम तरक्की कर पाते हैं। क्यूंकि व्यापार खड़ा करना उतना मुश्किल नहीं है जितना की उसे चला पाना। व्यापार को निरंतर सुचारु रूप से चलाने के लिए पैसा, श्रम और मेहनत की आवश्यकता होती है। इन सब के अलावा जो सबसे ज्यादा जरुरी चीज होती है वो है कुंडली में ग्रहों की शुभ स्थिति।

अगर आपकी कुंडली में व्यापार योग है और सभी ग्रह शुभ व् मजबूत स्थिति में बैठें हैं तो बिजनेस में तरक्की होगी। इसके विपरीत अगर ग्रहों की स्थिति ठीक नहीं है, कुंडली में व्यापार योग नहीं बन रहा है तो कई कोशिशों के बाद भी सफलता नहीं मिलेगी। पर आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्यूंकि हमारे शास्त्रों में इसका भी समाधान दिया गया है। कुछ ज्योतिषीय उपाय हैं जिनका प्रयोग करके व्यापार में आने वाली दिक्क्तों को दूर किया जा सकता है। यहाँ हम उन्ही उपायों के बारे में बता रहे हैं।

व्यापार के देवता

जिस प्रकार धन के देवता कुबेर देव हैं उसी प्रकार बुध भी बुद्धि और व्यापार के कारक ग्रह हैं। इसलिए व्यापार बढ़ाने के लिए बुध देव की पूजा का विधान है। दिशाओं में उत्तर दिशा के प्रतिनिधि बुध ग्रह है। इसीलिए अगर घर की उत्तर दिशा दोषपूर्ण हो तो व्यापार में परेशानियां आ सकती हैं। क्यूंकि वास्तु का दिशा असर आर्थिक उन्नति पर पड़ता है। इसीलिए व्यवसाय करने वाले को सिर्फ कार्यस्थल ही नहीं बल्कि घर में भी उत्तर दिशा को दोषमुक्त रखना चाहिए। इसके लिए उत्तर दिशा की दीवार पर हरे रंग के तोते का चित्र लगाएं। आप उत्तरी दिवार पर हरा रंग करवाएं। दोष दूर होगा।

व्यापार बढ़ाने के अचूक उपाय

गंगाजल का उपाय करें

व्यापार वृद्धि के लिए सोमवार के दिन गंगाजल लेकर उसपर फूंक मरकर 21 बार गायत्री मंत्र का जप करें। अब इस जल को अपनी दूकान की दीवारों पर छिड़क दें। ऐसा 7 सोमवार तक करें। व्यापार में वृद्धि होने लगेगी। इसके साथ-साथ सोमवार के दिन सफेद चंदन लाएं और उसे एक सप्ताह तक घर के मंदिर में रखें। धूप बत्ती दिखाएं और एक सप्ताह के बाद दुकान की तिजोरी में रख दें। व्यापार में निरंतर वृद्धि होगी।

कच्चे सूत का प्रयोग करें

आप कच्चे सूत का इस्तेमाल करके भी व्यापार में वृद्धि कर सकते हैं। इसके उपाय के लिए कच्चे सूत को केसर के घोल में भिगोकर रख दें। केसर जब अच्छी तरह सूत में रम जाए तो उसे अपने कार्यस्थल पर बांध दें। बांधने के लिए ऐसा स्थान चुनें जहाँ पर किसी की नजर न पड़े। आप इसे अपने गल्ले पर भी बांध सकते हैं। गल्ला कभी खाली नहीं होगा।

पीपल के पत्ते का उपाय

अपना व्यापार बढ़ाने के लिए शनिवार के दिन पीपल के पेड़ से एक पत्ता तोड़ कर दूकान या ऑफिस में ले आएं। इस पत्ते को धूप-दीप दिखाकर अपनी दूकान की गद्दी जिस पर आप बैठते हैं उसके नीचे रख दें। सात शनिवार तक इसी प्रक्रिया को दोहराएं। जब गद्दी के नीचे सात पीपल के पत्ते इकट्ठे हो जाएं तो उन्हें एक साथ किसी तालाब या कुएं में बहा दें। व्यवसाय पहले से बेहतर हो जाएगा।

नींबू-मिर्च का उपाय

व्यापार वृद्धि के लिए नींबू और हरी मिर्च का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए 7 हरी मिर्च और 7 नींबू लेकर एक माला बनाएं। इस माला को अपनी दूकान पर ऐसी जगह पर टांगे, जहाँ किसी ग्राहक की नजर पड़े। शनिवार के शनिवार इस माला को बदलें। दुकान में तरक्की होने लगेगी।

कील और उड़द का उपाय

आस-पास किसी दूकान से कील या नट ले आएं जो बहुत चलती है। ये कील शनिवार के दिन खरीदकर लाइन। काली उड़द के 10-15 दानों के साथ उस कील को एक शीशी में रख दें। रोजाना धूप-दीप से इसकी पूजा करें और ग्राहकों की नजर से बचाकर उसे दूकान में रख लें। व्यवसाय खूब चलेगा।

ये कुछ सामान्य ज्योतिषीय उपाय हैं जिनका प्रयोग करके व्यापार में वृद्धि होने लगेगी। इसके साथ-साथ दुकान की साफ-सफाई का ध्यान रखें, पूजा स्थल की सफाई करते रहें, सुबह शाम धूपदीप जलाएं, और घर में लड़ाई झगडे नहीं करें। ऐसा करने से माँ लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं।