Take a fresh look at your lifestyle.

योगिनी एकादशी 2019 व्रत डेट और पूजा विधि

Yogini Ekadashi 2019

हिन्दू पंचांग के अनुसार, हरेक माह के कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को एकादशी व्रत किया जाता है। इस व्रत को हिन्दू धर्म में बहुत ख़ास माना जाता है। किसी खास मनोकामना की पूर्ति के लिए भी एकादशी का व्रत करना फलदायी होता है। योगिनी एकादशी भी उन्ही में से एक है।

योगिनी एकादशी व्रत

शास्त्रों के अनुसार, योगिनी एकादशी का व्रत बहुत लाभकारी होता है। जो आषाढ़ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को किया जाता है। योगिनी एकादशी का व्रत करने से समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं और इस लोग में भोग और परलोक में मुक्ति मिलती है।

योगिनी एकादशी व्रत पूजा विधि

एकादशी व्रत के नियमानुसार, व्रत करने वाले को दशमी तिथि के दिन संध्या के समय सूर्यास्त के बाद भोजन नहीं करना चाहिए और रात्रि में भगवान का ध्यान करना चाहिए। एकादशी व्रत रखने वाले को अपना मन शांत रखना चाहिए। मन में किसी भी तरह का द्वेष और क्रोध न आने दें। अपनी इन्द्रियों पर संयम रखें।

अगले दिन प्रातःकाल सूर्योदय से पूर्व स्नान आदि से निवृत होकर साफ़-सुथरे वस्त्र पहन लें। पूजन के लिए भगवान विष्णु के सामने घी का दीपक जलाएं। पूजा में तुलसी, ऋतू फल और तिल का प्रयोग करें। अगर आप व्रत नहीं कर सकते तो एकादशी के दिन चावल का सेवन नहीं करें। पूजन समाप्त होने पर विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ करें। पूजन समाप्त होने के बाद पुरे दिन निराहार रखें। व्रत वाले दिन अन्न ग्रहण न करें। अगले दिन द्वादशी तिथि को ब्राह्मण भोजन कराने के बाद स्वयं भोजन कर लें।

योगिनी एकादशी का व्रत करने से अट्ठाईस हजार ब्राह्मणों को भोजन कराने का पुण्य मिलता है।

योगिनी एकादशी व्रत 2019 : When is Yogini Ekadashi in 2019?

2019 में योगिनी एकादशी 29 जून 2019, शनिवार को है।

योगिनी एकादशी व्रत पारण

आषाढ़ माह की योगिनी एकादशी व्रत का पारण = 30 जून 2019, रविवार को प्रातः 05:30 से 06:30 बजे।

पारण के दिन द्वादशी तिथि समाप्त होने का समय = प्रातः 06:11 बजे (30 जून 2019)

एकादशी तिथि आरंभ = 28 जून 2019, शुक्रवार को प्रातः 06:36 बजे।
एकादशी तिथि समाप्त = 29 जून 2019, शनिवार को प्रातः 06:45 बजे।