Business is booming.

वीरवार का व्रत करने के फायदे

वीरवार का दिन भगवान् हरि विष्णु जी को समर्पित होता है। वीरवार का मतलब होता है गुरूवार यानी की गुरु, और गुरु सबका स्वामी होता है। जो भी व्यक्ति वीरवार का व्रत करता है उसके जीवन में आ रही सभी परेशानियों को दूर करने में मदद मिलती है। साथ ही

शुक्रवार व्रत करने के फायदे

शुक्रवार का व्रत माता संतोषी व् माता वैभव लक्ष्मी के लिए किया जाता है। कुछ जातक माता वैभव लक्ष्मी का उपवास करते हैं। तो कुछ जातक माता संतोषी का उपवास करते हैं। और वो व्रत वह अपने मन की इच्छा से करते हैं। और ऐसा माना जाता है की जो जातक

मंगलवार व्रत करने के फायदे

मंगलवार का व्रत बजरंगबली यानी हनुमान जी के लिए रखा जाता है। इस व्रत को रखने से कुंडली में मंगल की दशा को ठीक करने के साथ मजबूत करने में मदद मिलती है। जिन जातक की कुंडली में मंगल ग्रह निर्बल होता है। उन जातक को यह व्रत रखने की सलाह दी जाती

सोमवार का व्रत करने के फायदे

सोमवार व्रत के फायदे, सोमवार का व्रत देवो के देव महादेव भोलेनाथ, भोलेबाबा के लिए रखा जाता है। सोमवार के पावन दिन व्रत रखने, शिवलिंग पर जल चढाने, भोलेबाबा की पूजा अराधना करने का बहुत अधिक महत्व होता है। जो जातक पूरे विधि विधान और श्रद्धा

जब शादी नहीं हो रही हो तो क्या करें?

शादी में देरी होने से जुडी जानकारी, शादी में आने वाली रूकावट या देरी के कारण लड़के या लड़की ही नहीं बल्कि पूरा परिवार परेशान रहता है। और यदि लड़का या लड़की की उम्र ज्यादा हो जाए। तो यह परेशानी और भी बढ़ जाती है साथ ही कई बार रिश्तेदार ताने भी

एकादशी व्रत कैसे किया जाता है?

एकादशी का व्रत विष्णु भगवान के लिए किया जाता है। हर महीने शुक्ल पक्ष के ग्याहरवें दिन एकादशी होती है। यह व्रत वैष्णव व् हिन्दू सम्प्रदाय के लोगो के लिए बहुत खास होता है। एकादशी का व्रत दशमी के दिन से ही शुरू हो जाता है और द्वादशी के दिन

जब कुंडली में शनि भारी हो, शनि दोष हो तो क्या करें?

शनि दोष, नौ ग्रहों में शनि का एक अलग व् खास स्थान होता है। शनि को संतुलन, सीमा व् न्याय का ग्रह भी कहा जाता है। क्योंकि ऐसा माना जाता है जहां सूर्य का प्रभाव समाप्त होता है वहीँ से शनि का प्रभाव शुरू होता है। शनि हमारे जीवन पर बहुत गहरा

जब गुरु कमजोर हो तो क्या करें?

गुरु कमजोर हो तो क्या करें, ग्रह नौ होते हैं, और पूरे नौ ग्रहों में गुरु यानी बृहस्पति को सबसे शुभ ग्रह माना जाता है। और किसी भी जातक की सफलता के पीछे का कारण कुंडली में गुरु की स्थिति का मजबूत होना हो सकता है। क्योंकि यदि किसी जातक की

सूर्य को जल देने का सही तरीका क्या है?

सूर्य को जल, हिन्दू मान्यताओं के अनुसार सूरज को जल का अर्ध्य देकर नमस्कार करना बहुत ही शुभ माना जाता है। पुरातन काल से ही सूर्य देव की उपासना लोग करते आ रहें हैं। और आज भी इनकी कृपा दृष्टि के लिए लोग सूरज को जल नियमित रूप से अर्पित करते

वैभव लक्ष्मी का व्रत कैसे किया जाता है?

वैभव लक्ष्मी का व्रत, माँ लक्ष्मी को उनके भक्त अनेक नामों से जानते हैं। जैसे कोई उन्हें धन लक्ष्मी तो कोई वैभव लक्ष्मी कहता है। माँ वैभव लक्ष्मी की पूजा के लिए शुक्रवार के दिन सबसे अच्छा माना जाता है। और माँ लक्ष्मी की कृपा के लिए कई लोग