धन और समृद्धि चाहते हैं तो घर में इन पौधों को जरूर लगाएं

धन पाने के अचूक उपाय व्यक्ति की कुंडली में मौजूद ग्रह और सितारे ही बताते हैं की आने वाले जीवन में कष्ट मिलेगा या सुख, समृद्धि मिलेगी या दरिद्रता? लेकिन हमेशा ग्रह ही इसके लिए उत्तरदायीं हो ये जरूरी नहीं। कई बार हमारे द्वारा किये गए कर्म भी हमारी जीवन के सुख-दुःख का कारण बनते हैं। समृद्धि भी ऐसी ही चीज है जिसके पास है उसे कोई कमी नहीं है और जिसके पास नहीं है उसके लिए सब कुछ वीरान है। परन्तु हमारे शास्त्रों में इसका भी उपाय बताया गया है। धन-समृद्धि के लिए भी कई उपाय शास्त्रों में लिखे हुए हैं। शास्त्रों के अनुसार, हमारे

निर्जला एकादशी 2019 : इस बार की एकादशी क्यों है इतनी खास?

Nirjala Ekadashi 2019 हिन्दू पंचांग के अनुसार, हरेक महीने के शुक्ल पक्ष और कृष्ण पक्ष की ग्यारहवीं तिथि को एकादशी मनाई जाती है। एकादशी के दिन उपवास रखना बहुत फलदायी माना जाता है। शास्त्रों के अनुसार, एकादशी का व्रत रखने से सभी पाप नष्ट हो जाते हैं और परलोक में मोक्ष की प्राप्ति होती है। जून महीने में आने वाली निर्जला एकादशी को भी बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। क्या है निर्जला एकादशी? हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को निर्जला एकादशी मनाई जाती है। निर्जला एकादशी के दिन निर्जला उपवास

योगिनी एकादशी 2019 व्रत डेट और पूजा विधि

Yogini Ekadashi 2019 हिन्दू पंचांग के अनुसार, हरेक माह के कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को एकादशी व्रत किया जाता है। इस व्रत को हिन्दू धर्म में बहुत ख़ास माना जाता है। किसी खास मनोकामना की पूर्ति के लिए भी एकादशी का व्रत करना फलदायी होता है। योगिनी एकादशी भी उन्ही में से एक है। योगिनी एकादशी व्रत शास्त्रों के अनुसार, योगिनी एकादशी का व्रत बहुत लाभकारी होता है। जो आषाढ़ माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को किया जाता है। योगिनी एकादशी का व्रत करने से समस्त पाप नष्ट हो जाते हैं और इस लोग में भोग और परलोक में मुक्ति

शुभ मुहूर्त जुलाई 2019 गृह प्रवेश, गृह निर्माण, वाहन और व्यापार मुहूर्त

July Shubh Muhurat 2019, July 2019 Griha Pravesh, Griha Nirman July 2019, Car Scooty Bike Commercial Vehicle Purchase Muhurat July 2019, Business Muhurat July 2019, Shop Office Opening Muhurat July 2019, As per date time nakshatra and tithi according to Hindu Panchang and Muhurat Chakra, Online Free Muhurat June 2019 for Shubh Kary. Shubh Muhurat July 2019 हिन्दू धर्म के अनुसार, किसी भी नए कार्य को आरंभ करने से पूर्व मुहूर्त देख लेना आवश्यक होता है। क्यूंकि शुभ मुहूर्त में किया गया कार्य सफल होता है और सुख-समृद्धि आती

गृह प्रवेश मुहूर्त जुलाई 2019

जुलाई गृह प्रवेश मुहूर्त, जुलाई 2019 गृह मुहूर्त, मुहूर्त गृह प्रवेश जुलाई, गृह प्रवेश मुहूर्त जुलाई 2019, Housewarming Muhurat July 2019, July Month me Griha Pravesh, Shubh Muhurat New House Puja July, Auspicious Date for Griha Pravesh July 2019 जुलाई 2019 गृह प्रवेश मुहूर्त नए घर में प्रवेश करना सभी के लिए बहुत खास होता है। क्यूंकि गृह प्रवेश के लिए चुना गया मुहूर्त और तिथि ही तय करती है की नया घर परिवार के लिए कैसा रहेगा? शुभ तिथि में किया गया गृह प्रवेश परिवार के लिए खुशियां और समृद्धि लाता है। वहीं अशुभ

आषाढ़ 2019 : आषाढ़ माह के पर्व त्यौहार, पूर्णमासी अमावस्या और एकादशी कब है?

आषाढ़ 2019 हिन्दू धर्म में आषाढ़ माह को बहुत खास माना जाता है। क्यूंकि इस महीने में साल की चार नवरात्रियों में से एक आषाढ़ की गुप्त नवरात्री मनाई जाती हैं। आज हम आपको आषाढ़ माह से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं। आषाढ़ 2019 कब से कब तक है? आषाढ़ 2019 पर्व-त्यौहार, आषाढ़ का महत्व, आषाढ़ महीने के व्रत, आषाढ़ माह की विशेषताएं और आषाढ़ गुप्त नवरात्रि की सम्पूर्ण जानकारी। आषाढ़ माह क्या है? हिन्दू पंचांग के अनुसार यह वर्ष के चौथा माह होता है। जिसे वर्षा ऋतू के आरंभ का माह भी माना जाता है। ज्येष्ठ महीने की गर्मी के बाद इसी महीने

2019 ज्येष्ठ पूर्णिमा, जून 2019 पूर्णिमा कब है?

पूर्णिमा 2019 हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, प्रत्येक हिंदी महीने के शुक्ल पक्ष की पंद्रहवीं तिथि को पूर्णिमा मनाई जाती है। धार्मिक रूप से पूर्णिमा तिथि को बहुत खास माना जाता है। पूर्णिमा के दिन उपवास रखना और गंगा स्नान करना बहुत फलदायी होता है। साल में 12 बार पूर्णिमा तिथि आती हैं जिसमे सभी का अपना-अपना महत्व है। ज्येष्ठ पूर्णिमा भी उन्ही में से एक है। ज्येष्ठ पूर्णिमा कब मनाते हैं? जेठ माह के शुक्ल पक्ष की पंद्रहवीं तिथि को ज्येष्ठ पूर्णिमा मनाई जाती है। ज्येष्ठ पूर्णिमा का हिन्दू धर्म में बड़ा महत्व है। इस दिन स्नान

जून के पर्व त्यौहार, जानें कब है निर्जला एकादशी, गंगा दशहरा

जून के पर्व त्यौहार, June 2019 Festivals, June 2019 Hindu Tyohar, Vat Savitri Vrat 2019, Shani Jayanti 2019, Hanuman Puja, Rambha Teej 2019, Sheetla Shashti 2019, Dhoomavati Jayanti, Ganga Dussehra 2019, Nirjala Ekadashi 2019, Gayatri Jayanti, Mithun Sankranti 2019, Jyesth Purnima, Kabirdas jayanti 2019, Yogini Ekadashi Vrat 2019, June Hindu Festivals जून, अंग्रेजी कैलेंडर का छठा महीना है जिसे धार्मिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस महीने में हिन्दू धर्म के कई पर्व मनाए जाते हैं। हिन्दू कैलेंडर के ज्येष्ठ और

वट सावित्री व्रत 3 जून 2019 पूजा मुहूर्त, क्या खास है? और कौन-कौन से संयोग बन रहे हैं?

ज्येष्ठ माह की अमावस्या को वट सावित्री व्रत मनाया जाता है। इस साल ज्येष्ठ महीने में 3 तारीख को अमावस्या है। तो 3 तारीख को ही महिलाएं वट सावित्री व्रत का पूजन करेंगी। क्या संयोग हैं? इस साल 3 जून 2019 अमावस्या के दिन सोमवार है। इसको सोमवती अमावस्या कहते हैं। सोमवती अमावस्या के दिन पूजा करने से पितृगण प्रसन्न होते हैं। जिनको पितृदोष होता है या जिनके जीवन में परेशानियां चल रही हो उन परेशानियों से मुक्ति मिल सकती है। इसके लिए पीपल पेड़ के नीचे पांच तरह की मिष्ठान चढ़ाएं। और पीपल के पत्ते पर ही चढ़ाएं। और इसको घर नहीं

कब है दिवाली, भाई दूज, विश्वकर्मा डे और गोवर्धन पूजा

त्यौहारों का महत्व भारत देश में बहुत से त्यौहार मनाएं जाते हैं और हर एक त्यौहार का अपना अलग मतलब और अपनी एक अलग ख़ुशी होती है। और त्यौहार चाहे कोई भी हो बस इसके आने से घर में ख़ुशी का आगमन हो जाता है। और साल एक का एक महीना ऐसा होता है जिसमे एक साथ बहुत से त्यौहार आते है इस माह में धनतेरस से त्यौहार की शुरुआत होती है, और दिवाली, भाई दूज, गोवर्धन पूजा जैसे त्यौहार एक साथ आते हैं। और दिवाली को तो वर्ष का सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है, और इस दिन हर जगह दीपक से रौशनी की जाती है इसीलिए इसे रौशनी का त्यौहार भी माना जाता है। तो