Call us: +91-9599248466
Astrology, Muhurat, Kundali Milan Match Making, Prediction
गृह प्रवेश के बाद घर को कब तक खाली नहीं छोड़ें

गृह प्रवेश के बाद घर को कितने दिनों तक खाली नहीं छोड़ने चाहिए

गृह प्रवेश के बाद घर को खाली न छोड़ने के महत्व को जानें। समझें कि कितने दिनों तक आपको नए घर में रहना चाहिए और कौन-कौन से आवश्यक अनुष्ठान करने चाहिए ताकि घर में समृद्धि और सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे। इस वीडियो को देखें और अपने नए घर में शुभ शुरुआत सुनिश्चित करें! गृह प्रवेश के बाद कब तक घर को खाली न छोड़ें | Post Griha Pravesh Rituals

गृह प्रवेश, जिसे गृह प्रवेश पूजा भी कहा जाता है, भारतीय संस्कृति में एक महत्वपूर्ण धार्मिक और सांस्कृतिक रस्म है। इस पूजा का मुख्य उद्देश्य नए घर में शुभता, समृद्धि और सुख-शांति की कामना करना होता है। गृह प्रवेश के बाद घर को कितने दिनों तक खाली नहीं छोड़ना चाहिए, इस बारे में भारतीय परंपराओं और ज्योतिषीय मान्यताओं में कुछ दिशानिर्देश दिए गए हैं।

गृह प्रवेश के बाद घर को खाली न छोड़ने के कारण

1. शुभता और सकारात्मक ऊर्जा

गृह प्रवेश पूजा के दौरान घर में देवी-देवताओं और सकारात्मक ऊर्जा का आह्वान किया जाता है। इस समय घर को खाली न छोड़ने से यह सकारात्मक ऊर्जा बरकरार रहती है और नकारात्मक शक्तियों का प्रवेश नहीं होता।

2. रसोई का प्रयोग

परंपरानुसार, गृह प्रवेश के बाद घर में रसोई का उपयोग अनिवार्य होता है। ऐसा माना जाता है कि रसोई में पहला भोजन बनाना और ग्रहण करना घर में समृद्धि और सुख-शांति लाता है। इसके लिए जरूरी है कि घर खाली न हो और रसोई का नियमित उपयोग हो।

3. स्थायित्व और समृद्धि

घर में निवास करने से उसका वातावरण जीवंत और सक्रिय रहता है। यह घर की स्थायित्व और समृद्धि के लिए आवश्यक है। जब घर खाली रहता है, तो उसमें नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश हो सकता है, जिससे घर की समृद्धि और खुशहाली पर असर पड़ सकता है।

गृह प्रवेश के बाद कितने दिनों तक घर को खाली नहीं छोड़ना चाहिए?

1. पहले तीन दिन

अधिकांश परंपराओं में यह माना जाता है कि गृह प्रवेश के बाद कम से कम पहले तीन दिनों तक घर को खाली नहीं छोड़ना चाहिए। इस अवधि में घर में निवास करना, रसोई का प्रयोग करना, और दैनिक गतिविधियों को जारी रखना महत्वपूर्ण होता है।

2. पहला सप्ताह

कुछ मान्यताओं के अनुसार, गृह प्रवेश के बाद पहले सप्ताह तक घर को खाली नहीं छोड़ना चाहिए। इस समय के दौरान घर में नियमित रूप से पूजा-पाठ, भोजन पकाना, और अन्य घरेलू कार्य करना आवश्यक होता है ताकि घर में सकारात्मक ऊर्जा और स्थायित्व बना रहे।

3. पहला महीना

कुछ ज्योतिष और धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, गृह प्रवेश के बाद पहला महीना घर में रहना और उसे सक्रिय रखना महत्वपूर्ण होता है। इस अवधि में घर को छोड़ना अशुभ माना जाता है और इससे घर की समृद्धि और सुख-शांति प्रभावित हो सकती है।

महत्वपूर्ण सावधानियाँ

1. पूजा और हवन

गृह प्रवेश के बाद नियमित रूप से पूजा और हवन का आयोजन करना शुभ माना जाता है। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और नकारात्मक शक्तियाँ दूर रहती हैं।

2. साफ-सफाई

घर की नियमित साफ-सफाई करना महत्वपूर्ण है। स्वच्छता से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बना रहता है और निवासियों का स्वास्थ्य और समृद्धि बनी रहती है।

3. दीपक जलाना

गृह प्रवेश के बाद घर के मुख्य द्वार पर नियमित रूप से दीपक जलाना शुभ माना जाता है। इससे घर में रोशनी और सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है।

निष्कर्ष

गृह प्रवेश के बाद घर को खाली न छोड़ने की मान्यता भारतीय परंपराओं और ज्योतिषीय सिद्धांतों में गहराई से निहित है। यह मान्यता घर में शुभता, समृद्धि और सुख-शांति को बनाए रखने के लिए होती है। गृह प्रवेश के बाद कम से कम पहले तीन दिन, एक सप्ताह या एक महीने तक घर में निवास करना और उसे सक्रिय रखना आवश्यक है। इन मान्यताओं का पालन करने से नए घर में सुख-शांति और समृद्धि का वास होता है।

Shopping cart

0
image/svg+xml

No products in the cart.

Continue Shopping