Browsing Category

पर्व त्यौहार

2018 Rakha Bandhan : Rakhi Festival Date and Muhurat 2018

रक्षाबंधन एक हिंदू त्यौहार है। इसे हर साल श्रावण (सावन) मास की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। बहने बड़े प्यार से अपने भाइयों को राखी (रक्षासूत्र) बांधती है जो रंगीन कलावे, डोरी, रेशमी धागे का बना हुआ होता है। भाई बहन को सुरक्षा का वचन देता है। इससे भाई-बहन का रिश्ता और मजबूत होता है। पुत्री अपने पिता को भी राखी बांध सकती है। कभी कभी देश की बेटियाँ जवानो, नेताओं या प्रतिष्ठित व्यक्ति को राखी बाँधती है। रक्षाबंधन को राखी, श्रावणी और सलूनो कहकर भी पुकारा जाता है। आधुनिक काल में पेड़ो को भी राखी बांधी जाती है और उनकी सुरक्षा का…

जन्माष्टमी 2018 कब है: ऐसे करें जन्माष्टमी की पूजा

हिन्दू धर्म में बहुत से त्यौहार मनाएं जाते है जिनमे से जन्माष्मी भी बहुत अहम है। यह त्यौहार श्री कृष्ण के जन्मके उत्सव के रूपों में बहुत ही धूमधाम से पूरे भारतवर्ष में मनाया जाता है। और अब यह केवल भारतवर्ष में ही नहीं बल्कि विदेशो में भी मनाया जाता है। जो भारीय संस्कृति की अनमोल छवि को प्रदर्शित करता है। यह त्यौहार भाद्रपद में अष्टमी तिथि को मनाया जाता है, ऐसा कहा जाता है की विष्णु के अवतार श्री कृष्ण का जन्म इस दिन रात को बारह बजे हुआ था। कृष्ण जी का जन्म मथुरा के राजा के अत्याचारों का विनाश करने के लिए हुआ था। देवकी की…

हिन्दू धर्म में सावन के महीने का क्या महत्व है

हिन्दू पंचांग के अनुसार चैत्र मास से प्रारंभ होने वाले महीने को श्रावण माह कहा जाता है। सावन, श्रावण, और वर्षा ऋतू इसे तीनो के नाम से जाना जाता है। श्रावण माह में हर जगह भगवान् शिव के नाम की धूम होती है। हर कोई अलग अलग तरीको से भगवान् शिव को प्रसन्न करने की कोशिश करते है। इस पूरे महीने में व्रत, पूजा, नदियों में स्नान, शिव की आराधना का विशेष महत्व होता है। सावन का महीना हिन्दू धर्म में बहुत ही अधिक मान्यता रखता है, खासकर इस महीने में सावन के सोमवार की बहुत अधिक मान्यता होती है। ऐसा माना जाता है की जो व्यक्ति पूरे साल सोमवार…

रोजा में भूलकर भी न करें ये काम

रमजान का पाक महीना शुरू हो गया है ऐसा माना जाता है की यह महीना अल्लाह के रहमत पाने के लिए सबसे उत्तम होता है। और कहा भी जाता है की इस माह में जन्नत के दरवाज़े खुल जाते है और जहुन्नम के दरवाज़े बंद हो जाते है। रमजान में अल्लाह की इबादत से दूर रहने वाला इंसान भी अल्लाह की इबादत करता है। और यह महीना रोजा रखने वालों के लिए त्याग, दान, अल्लाह की इबादत, समर्पण, और भक्ति का प्रतिक होता है। रोजा के इस महीने में व्यक्ति को अपने सब्र, इंसानियत, खुशियों का सही पता चलता है। और इस महीने में व्यक्ति की आत्मा पवित्र हो जाती है। लेकिन रोजा…

नवरात्री का व्रत कैसे करें? ध्यान रखने योग्य बातें, क्या करें क्या नहीं करें?

नवरात्री का ही एक ऐसा व्रत है जिसमे घर के अधिकांश सदस्य रखते है, चाहे छोटे हो या घर के बड़े सदस्य। घर-घर में नवरात्री का पूजा बड़े ही हर्षोलाश से मनाया जाता है। और व्रत भी बड़े नियम धर्म से रखे जाते हैं। व्रत से मन और शरीर दोनों पवित्र होता है। व्रत से मनुष्य को एक अलग ऊर्जा आती है। मन शांत होता है, मन और शरीर दोनों संतुलित रहता है। इसलिए हरेक इंसान को व्रत करनी चाहिए। चाहे व्रत किसी भी पर्व का हो। अगर नवरात्री का हो तो और भी बढ़िया, क्यों की नवरात्री का व्रत नौ दिनों तक चलता है इसलिए आप अपने सामर्थ्य के अनुसार रख सकते है। कोई…

हनुमान जयंती कब है 2018, हनुमान जयंती को कैसे करें पूजा?

हनुमान जयंती कब है 2018 Hanuman Jayanti 2018 Pooja Muhurat : हनुमान जयंती चैत्र माह की पूर्णिमा को मनाई जाती है। चैत्र माह की पूर्णिमा को हनुमान जी का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन को हनुमान जयंती के रूप में मनाते है। हनुमान जयंती के दिन श्रद्धालु हनुमान मंदिर में दर्शन करने जाते है, कुछ लोग इस दिन व्रत भी रखते है। इस दिन हनुमान जी की मूर्तियों को सिंदूर, चांदी का वर्क, जनेऊ आदि से सुसज्जित करके मंदिरों को सजाया जाता है और पूजा पाठ के साथ-साथ कीर्तन आदि भी किया जाता है। बहुत से हनुमान मंदिरों में इस दिन विशेष भंडारे का आयोजन…

चैती छठ 2018 डेट, 2018 में चैती छठ कब मनाई जाएगी और छठ का क्या महत्व है?

कार्तिक महीने का छठ 2018  के बारे में जानकारी  यहाँ क्लिक करेंचैती छठ 2018 कब है? छठ का महत्व छठ पूजा हिन्दू धर्म में मनाया जाने वाला महत्वपूर्ण त्यौहार है जिसे भारत में बड़े हर्ष और उत्साह के साथ मनाया जाता है। लेकिन पूर्वी भारत में इस पर्व का अलग ही उत्साह देखने को मिलता है। यह पर्व मुख्य रूप से सूर्य देव की आराधना के रूप में मनाया जाता है। वर्ष में कुल 2 बार छठ पर्व मनाया जाता है - 1. चैत्र में जिसे चैती छठ कहते है और 2. कार्तिक में जिसे छठ पूजा कहा जाता है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार नए साल के पहले महीने यानी चैत्र की…