Auspecious Muhurat, Daily Panchang and Festivals

शरीर में अगर इस स्थान पर तिल है तो यह शुभ व् अशुभ फल मिलता है?

आपके शरीर के अंगो पर कई जगह आपको काले काले छोटे छोटे तिल दिखाई देते होंगे। जरुरी नहीं है की तिल सभी को हो लेकिन कुछ लोगो को तिल हो सकते है। यह तिल शरीर के जिस भी हिस्से पर होते हैं तो उसका एक अलग महत्व होता है या मतलब होता है। जैसे की किसी की हथेली पर यदि तिल है तो उसका एक महत्व होता है या फिर किसी के तलवे पर यदि तिल है तो उसका भी अलग महत्व होता है। क्या आप इसके बारे में जानते हैं? यदि नहीं तो आइये इस आर्टिकल में हम आपको शरीर के अलग अलग हिस्सों पर तिल होने का क्या महत्व होता है उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

माथे पर तिल

माथे के मध्य में यदि तिल होता है तो यह निर्मल प्रेम और बलवान होने की निशानी होती है। साथ ही यदि माथे के दाहिने तरफ तिल होता है तो यह किसी विशेष विषय में निपुणता के साथ धन वृद्धिकारक का सूचक होता है। लेकिन यदि माथे के बाईं तरफ तिल होता है तो यह फिजूलखर्ची और निराशापूर्ण जीवन का सूचक होता है।

भौहों यानी की आइब्रो के पास तिल

यदि किसी व्यक्ति के दोनों भौहों के बीच में तिल होता है तो यह इस बात की और संकेत करता है की व्यक्ति की यात्रा होती रहती है। लेकिन यदि तिल दाहिने तरह की आइब्रो के पास होता है तो यह सुखमय दाम्पत्य जीवन की और संकेत करता है। वहीँ यदि तिल बाईं और की आइब्रो के पास हो तो यह दुखमय दाम्पत्य जीवन की और संकेत करता है।

आँखों पर तिल

कुछ लोगो की आखों पर भी तिल होते हैं और दोनों ही आँखों पर तिल होना अलग अलग चीजों का प्रतिक होता है जैसे की यदि दाहिनी आँख पर यदि तिल होता है तो यह स्त्री से प्रेम का प्रतीक होता है तो वहीँ यदि बाईं आँख पर तिल होता है तो यह स्त्री से कलह होने की तरफ इशारा करता है।

आँख की पुतली पर तिल

कुछ लोगो की आँख की पुतली पर भी तिल होता है और आँख की पुतली पर तिल होना जातक के भावुक होने का संकेत देता है लेकिन साथ ही यदि किसी व्यक्ति की दाहिनी पुतली पर तिल होता है तो व्यक्ति के विचार उच्च होते हैं। जबकि यदि बाईं और पुतली पर तिल होना व्यक्ति के विचार उच्च नहीं होते हैं बल्कि वो हमेशा गलत ही सोचता है।

पलकों पर तिल

पलकों पर तिल होने वाले व्यक्ति बहुत संवेदनशील होते हैं लेकिन दाईं तरफ की पलक पर तिल होने वाले लोग बाईं पलक की तरह तिल होने वाले व्यक्ति से ज्यादा संवेदनशील होते है।

होंठ पर तिल

यदि किसी व्यक्ति के होंठों पर तिल होता है तो वह प्रेमी हदय वाला होता है और उनका स्वभाव काफी प्यार भरा होता है। लेकिन यदि तिल होंठों के नीचे हो तो यह गरीबी का संकेत देता है।

नाक पर तिल

नाक पर तिल का होना यात्रा होते रहने की तरफ इशारा करता है साथ ही यदि पुरुष की नाक पर तिल होता है तो यह प्रतिभासम्पन्न और सुखी होने का संकेत देता है। वहीँ यदि महिला की नाक पर तिल होता है तो यह उनके सौभाग्यशाली होने की तरफ इशारा करता है।

कान पर तिल

यदि किसी महिला या पुरुष के कान पर तिल होता है यह उनकी दीर्घायु का संकेत देता है।

ठुड्ढी पर तिल

यदि किसी पुरुष की ठुड्ढी पर तिल होता है तो उस उसका स्त्री से प्रेम का सम्बन्ध नहीं रहता है जबकि यदि महिला की ठुड्ढी पर यदि तिल होता है तो यह महिला में मिलनसारिता की कमी की और इशारा करता है।

गाल पर तिल

यदि किसी जातक के दाएं गाल पर तिल होता है तो यह उसके धनवान होने की तरफ इशारा करता है जबकि यदि किसी जातक के यदि बाएं गाल पर तिल होता है तो यह उसके खर्चीले व् निर्धन होने का संकेत होता है।

मुँह पर तिल

यदि किसी महिला या पुरुष के मुँह पर तिल होता है तो यह उनके सज्जन स्वाभाव, धनवान, प्रेमी व्यवहार, भाग्य के धनी होते हैं साथ ही ऐसे लोगो के जीवनसतही भी बहुत सज्जन होते हैं।

जबड़े पर तिल

यदि किसी व्यक्ति के जबड़े पर तिल होता है तो उस व्यक्ति के स्वास्थ्य में अनुकूलता सदा बनी रहती है।

गर्दन पर तिल

जिन जातकों के गर्दन पर तिल होता है और आरामतलब होते हैं लेकिन यदि गर्दन पर तिल सामने की और होता है तो व्यक्ति के घर में मित्रो का जमावड़ा लगा रहता है जबकि यदि गर्दन के पृष्ठ यानी पिछले भाग की तरफ तिल होता है तो जातक कर्मठ होता है।

कन्धों पर तिल

जिन लोगो के कंधे पर तिल होता है तो वो भी उनके मिजाज या व्यवहार के बारे में संकेत देता है जैसे की यदि किसी जातक के कंधे के दाहिने तरफ तिल होता है तो वह दृढ़ता का सूचक होता है साथ ही यदि जातक के बाएं कंधे पर तिल होता है तो यह जातक के तुनकमिजाज व्यवाहर की और संकेत करता है।

छाती पर तिल

यदि किसी महिला या पुरुष की छाती के बीचों बीच तिल होता है तो यह उनके जीवन के सुखी होने की और इशारा करता है। साथ ही यदि महिला की दाहिनी छाती पर तिल होता है तो यह बहुत ही शुभ होता है ऐसी स्त्रियां भाग्यशाली होती हैं और पुरुष भी भाग्यशाली होते हैं साथ ही उनका स्त्री से प्रेम बना रहता है। जबकि छाती के बाईं और तिल का होना असहयोग की भावना को दर्शाता है साथ ही ऐसे पुरुष का हमेशा स्त्री से झगड़ा होता रहता है।

भुजा पर तिल

जिन लोगो की दाहिनी भुजा पर तिल होता है वह व्यक्ति बहुत ही प्रतिष्ठित, बुद्धिमान व् मान सम्मान प्राप्त करने वाला होता है। जबकि जिन व्यक्तियों के बाईं भुजा पर तिल होता है वो बहुत ही झगड़ालू होते हैं। साथ ही उनका हमेशा हर जगह निरादर होता रहता है।

कोहनी पर तिल

जिन लोगो की कोहनी पर तिल होता है तो वह तिल विद्वता का सूचक होता है।

पेट पर तिल

पेट पर तिल होना व्यक्ति के खाने पीने के शौकीन होने की और संकेत करता है। ऐसे व्यक्ति बहुत ही चटोरे होते हैं लेकिन उनकी दूसरों को खिलाने की इच्छा कम ही होती है।

कमर पर तिल

यदि किसी व्यक्ति की कमर पर तिल होता है तो ऐसा माना जाता है की उस व्यक्ति का जीवन सदा परेशानियों से घिरा रहता है। लेकिन यदि किसी व्यक्ति की दाहिनी कमर की तरफ तिल होता है तो यह व्यक्ति के धनवान होने की तरफ इशारा करता है जबकि यदि कमर का तिल बाईं तरफ होता है तो यह व्यक्ति के कम खर्चे करने की तरफ इशारा करता है।

हथेली पर तिल

ऐसा माना जाता है की जिनकी हथेली में तिल होता है वो बहुत ही भाग्यशाली होते हैं लेकिन यह पूरी तरह सच नहीं होता है। क्योंकि कई बार हथेली का तिल अशुभ फल भी देता है। इसके अलावा यदि दाहिनी हथेली में तिल होता है तो यह व्यक्ति के बलवान होने की तरफ इशारा करता है और दाहिनी हथेली के पीछे के भाग में यदि तिल हो तो यह व्यक्ति के धनवान होने की तरफ इशारा करता है। जबकि यदि बाईं हथेली में तिल होता है तो यह व्यक्ति के खर्चीले स्वाभाव की तरफ इशारा करता है और बाईं हथेली के पीछे के भगा की तरफ यदि तिल हो तो यह व्यक्ति के कंजूस होने की तरफ इशारा करता है।

हाथ की ऊँगली पर तिल

यदि जातक के अंगूठे पर तिल होता है तो यह व्यक्ति के कुशल व्यवाहर और न्यायप्रिय होने का संकेत होता है। तर्जनी पर तिल होना व्यक्ति के गुणवान, धनवान, विद्यावान होने का संकेत होता है लेकिन वह व्यक्ति शत्रुओं से पीड़ित रहता है। मध्यमा ऊँगली पर तिल होना बहुत ही फलदायी होता है, उस व्यक्ति का जीवन बहुत ही सुखी और शांतिपूर्ण होता है। अनामिका ऊँगली पर तिल होना व्यक्ति के ज्ञानी, धनी, यशस्वी, पराक्रमी होने का संकेत होता है। कनिष्ठा ऊँगली पर तिल होना व्यक्ति के सम्पत्तिवान होने की तरफ इशारा करता है लेकिन उस व्यक्ति का जीवन बहुत ही दुःखमयी होता है।

पैर में तिल

यदि किसी जातक के पैरों में तिल होता है तो यह व्यक्ति के यात्रा के शौकीन होने का संकेत देता है साथ ही दाहिने पैर में तिल होना व्यक्ति के बुद्धिमान होने की तरफ इशारा करता है। साथ ही बाएं पैर में तिल होना व्यक्ति के खर्चीले स्वाभाव की तरफ इशारा करता है।

तो यह है शरीर के अलग अलग हिस्सों पर तिल होने का क्या महत्व होता है उससे जुडी जानकारी, यदि आपके शरीर के किसी हिस्से पर भी तिल है तो आप भी इस जानकारी को पढ़कर यह जान सकते हैं की आपके शरीर पर होने वाले तिल का क्या महत्व है।

Auspicious or inauspicious results of moles on body

Leave a comment