Auspecious Muhurat, Daily Panchang and Festivals

लड्डू गोपाल को घर में रखने के फायदे और इन नियम को जानना है जरुरी

0

लड्डू गोपाल को घर में रखने का प्रचलन आज कल बहुत बढ़ रहा है कोई उन्हें अपना बेटा, कोई सखा और कोई पूजा के लिए उन्हें घर में लेकर आता है। और उनके आने के बाद केवल उन्हें मंदिर में ही नहीं रखा जाता है बल्कि उन्हें अपने घर का सदस्य मान कर बिल्कुल वैसे ही रखा जाता है जैसे की वो लोग खुद रहते हैं। उन्हें भी उतना ही प्यार व् आदर देते हैं जितना व् घर के अन्य सदस्यों को देते हैं।

इसके अलावा कई लोग तो कहीं पर जब आते जाते भी है तो भी वो अपने लड्डू गोपाल जी को अपने साथ लेकर जाते हैं, जिस तरह अपने बच्चों का जन्मदिन मनाते हैं उसी तरह जन्माष्टमी के अलावा उनके घर में आने की तारीख के अनुसार ही उनका जन्मदिन मनाते हैं। तो आइये आज इस आर्टिकल में हम आपको लड्डू गोपाल को घर में लाने के क्या फायदे होते हैं और उन्हें रखने के क्या नियम होते हैं उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

किस दिन लाएं लड्डू गोपाल को घर?

लड्डू गोपाल को घर में लाने के लिए वैसे कोई शुभ मुहूर्त नहीं होता है लेकिन अधिकतर लोग जन्माष्टमी के दिन इन्हे अपने घर में लाते हैं। इसके साथ ही ऐसा नहीं है की इस दिन के अलावा आप लड्डू गोपाल को घर में नहीं ला सकते हैं। बल्कि आपका जिस दिन मन करें उसी दिन आप लड्डू गोपाल को घर में ला सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें की जब भी आप लड्डू गोपाल को घर में लाएं तो पूरी प्राण प्रतिष्ठा के साथ उनकी स्थापना करें।

किस रूप में लाएं लड्डू गोपाल?

लड्डू गोपाल को घर में बाल स्वरुप में लाया जाता है और घर में लाने के बाद बिल्कुल बच्चे की तरह उनकी सेवा की जाती है। इसके अलावा बाल रूप में भी लड्डू गोपाल की प्रतिमा के साइज होते हैं आप जो साइज भी लाना चाहते हैं वो साइज घर में ला सकते हैं।

लड्डू गोपाल को रखने के क्या नियम होते हैं?

जब आप घर में लड्डू गोपल को लाते हैं वैसे तो इन्हे रखने के कुछ कठोर नियम नहीं है बस जरुरी है की आप कुछ बातों का ध्यान रखें जिससे इनके प्रति आपके आदर भाव और प्यार में कोई कमी नहीं हो। तो आइये अब उन नियमों के बारे में जानते हैं जिनका ध्यान आपको लड्डू गोपाल की सेवन के समय रखना चाहिए।

नियम इस प्रकार है:

  • नियमित रूप से आप जिस तरह अपने बच्चों को नहलाते हैं इन्हे भी आपको स्नान करवाना चाहिए आप इन्हे दूध, दही, शहद, गंगाजल, चीनी, आदि से स्नान करवा सकते हैं। इसके साथ ही नहलाने के बाद आप इन्हे अच्छे से साफ़ करके इन्हे साफ़ सुथरे वस्त्र पहनाएं और श्रृंगार करें।
  • श्रृंगार करने के बाद आप इनकी पूजा अर्चना करें।
  • उसके बाद ध्यान रखें की घर में जो भी सात्विक खाना बनता है उनका सबसे पहले भोग इन्हे लगाएं, हमेशा एक पानी का गिलास इनके पास रखें, कान्हा के खाने में तुलसी का पत्ता जरूर रखें।
  • घर में कोई भी खाने की चीज आये तो सबसे पहले भोग कान्हा को लगाएं क्योंकि यह आपके घर के सदस्य होते हैं साथ ही ध्यान रखें की उस चीज में प्याज लहसुन आदि नहीं हो।
  • फिर रात के समय कान्हा को सुलाएं और सुबह फिर से वही प्रक्रिया करें।
  • कुछ लोग घर के मंदिर में रखने के लिए कान्हा की प्रतिमा लाते हैं वो चाहे तो इन नियमों का पालन कर सकते हैं नहीं तो सिर्फ पूजा और भोग लगाकर ही इन्हे मान सकते हैं।
  • यदि आप कान्हा को अपना बेटा बनाकर लाएं है या उनकी सेवन उठाकर लेकर आये हैं, तो आप लड्डू गोपाल को कभी भी घर में अकेला छोड़कर नहीं जाएँ क्योंकि यह उनका बाल स्वरुप होता है और आपको यह पता होगा की छोटे बच्चे को घर में अकेला नहीं छोड़ते हैं। ऐसे में या तो आप उन्हें अपने साथ लेकर जाएँ या फिर किसी भरोसे वाले व्यक्ति के पास उन्हें छोड़कर जाएँ जो उनकी अच्छे से और पूरे भाव से पूजा करें।
  • लड्डू गोपाल को कभी भी जूते हाथों से नहीं छुएं और न ही किसी को छूने दें क्योंकि ऐसा करना अच्छा नहीं माना जाता है।
  • ध्यान रखें की पूजा के बाद माफ़ी जरूर मांगे क्योंकि यदि कोई गलती हो भी गई होगी तो कान्हा उसे जरूर माफ़ कर देंगे।

घर में लड्डू गोपाल को रखने के क्या फायदे होते हैं?

यदि आप अपने घर में लड्डू गोपाल को रखते हैं तो आपको बहुत से फायदे मिलते हैं। जो आपके घर, परिवार, व्यापार आदि को सफल बनाएं रखने में मदद करते हैं। तो आइये अब जानते हैं की घर में लड्डू गोपाल को रखने के क्या फायदे होते हैं।

  • घर में पॉजिटिव एनर्जी बनी रहती है।
  • यदि आपको ऐसा लगता है की आप अपने मन की बात किसी से नहीं कह सकती है आपके घर के इस सदस्य यानी लड्डू गोपाल से आप बात कर सकती है और वो अपनी लीलाओं से आपकी सभी परेशानियों को दूर करने में मदद करते हैं।
  • जब आप पूरे श्रद्धा भाव से लड्डू गोपाल की सेवन करती है और अपने मन की इच्छा को उनके सामने जाहिर करती है तो वह आपके मन की सभी इच्छाओं को पूरा करने में आपकी मदद करते हैं।
  • लड्डू गोपाल को घर में रखने से कलह, धन संबंधी समस्या, व् अन्य परेशानियां आपके घर के आस पास भी नहीं आती है।

यदि लड्डू गोपाल की मूर्ति खंडित हो जाये तो क्या करें?

कई बार हो जाता है किसी कारण मूर्ति खंडित हो जाती है तो उसके बाद आपको उन्हें घर में नहीं रखना चाहिए बल्कि फूलों में लपेटकर उनका प्रभाव कर देना चाहिए। क्योंकि खंडित मूर्तियों को घर में रखना शुभ नहीं माना जाता है आप चाहे तो इसके बाद दोबारा से घर में कान्हा को बाल स्वरुप में ला सकते हैं।

तो यह हैं घर में लड्डू गोपाल को रखने के नियम, व् उससे जुडी अन्य जानकारी। यदि आप भी कान्हा को घर में लाने की सोच रहे हैं तो जब आप पूरे मन से, पूरे विश्वास से, उनकी सेवा भाव कर सकते हैं तो आप भी लड्डू गोपाल को अपने घर का सदस्य बनाकर घर में ला सकते हैं।

Leave a comment