Auspecious Muhurat, Daily Panchang and Festivals

काला धागा क्यों बांधा जाता है पैरों में

पुराने समय से ही लोग हाथों पैरों में काला धागा बांधते हैं और काला धागा बाँधने के साथ बच्चों को काला टीका लगाने का भी प्रचलन रहा है। क्योंकि ऐसी मान्यता है की पैरों में काला धागा बाँधने से काला टीका लगाने से बुरी नज़र से बचे रहने में मदद मिलती है और पुराने समय से ही लोग इसे सच भी मानते हैं। इसके अलावा आज कल कुछ लोग फैशन के लिए भी ऐसा करते हैं लेकिन ऐसा करने से उन्हें बहुत फायदा मिलता है।

हाथों पैरों में काला धागा बाँधने के कुछ नियम होने के साथ धार्मिक व् वैज्ञानिक कारण है जिससे आपको फायदे मिलते हैं। पैरों में काला धागा बच्चे, बड़े, महिला पुरुष सभी बाँध सकते हैं। तो आइये अब इस आर्टिकल में जानते हैं की पैरों में काला धागा बाँधने के क्या नियम होते हैं और इसके धार्मिक व् वैज्ञानिक महत्व के बारे में भी जानते हैं ताकि काला धागा बाँधने के सही कारण के बारे में आपको पता चल सके।

पैरों में काला धागा बाँधने के नियम

यदि आप पैरों में धागा पहनना चाहते हैं तो ध्यान रखें की महिलाओं को अपने बाएं पैर में या हाथ में काला धागा पहनना चाहिए। जबकि पुरुषों को दाएं हाथ या पैर में काला धागा पहनना चाहिए।

किस दिन काला धागा बांधना शुभ होता है?

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिवार के दिन काला धागा पहनना सबसे शुभ माना जाता है। ऐसे में आप चाहे तो पंडित द्वारा मन्त्र जाप करके काला धागा पहन सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें की काला धागा पहनने के बाद कोई और धागा आपको नहीं धारण करना चाहिए।

पैरों में काला धागा बाँधने का धार्मिक महत्व

यदि आप पैरों में काला धागा बांधते हैं तो इसके बहुत से धार्मिक महत्व होते हैं तो आइये अब जानते हैं की पैरों में धागा बाँधने के कौन-कौन से धार्मिक महत्व होते हैं।

बुरी नज़र से होता है बचाव

पैरों में काला धागा पहनने से आपको बुरी नज़र, नेगेटिव एनर्जी से बचे रहने में मदद मिलती है। कई बार ऐसा होता है की आपके बच्चे को नज़र लग जाती है, आपके व्यापार को टोक लग जाती है, आप कुछ नया लेकर आते हैं लोग उसे नज़र लगा देते हैं, तो इन सभी से बचाव के लिए काला धागा बाँधा एक आसान व् असरदार विकल्प होता है क्योंकि काला धागा बाँधने से आपको बुरी नज़र से बचे रहने में मदद मिलती है।

ग्रह होते हैं मजबूत

जब भी आपका कोई काम नहीं बनता है, आपको सफलता नहीं मिलती है, आपके बनते हुए काम भी अटक जाते हैं, तो ऐसा होने का एक कारण आपकी कुंडली में ग्रहों का कमजोर होना भी होता है। ऐसे में यदि आप पैरों में काला धागा पहनते हैं तो इससे आपके ग्रहों की दशा मजबूत होती है। साथ ही यदि आप किसी पंडित को अपनी कुंडली दिखाते हैं और आपकी कुंडली में राहु केतु या किसी अन्य ग्रह की दशा कमजोर होती है तो पंडित द्वारा भी आपको पैरों में काला धागा पहनने की सलाह दी जाती है।

शनि की दशा से मिलता है छुटकारा

यदि आपकी कुंडली में शनि कमजोर हो, शनि की साढ़ेसाती हो, शनि की ढैय्या से आप पीड़ित हो तो ऐसे में भी पैरों में काला धागा बाँधने से फायदा मिलता है और आपकी कुंडली में शनि को मजबूत ग्रह रहने में मदद मिलती है।

बच्चे बीमार कम होते हैं

ऐसा माना जाता है की जो बच्चे ज्यादा बीमार पड़ते हैं यदि उनके हाथों पैरों पर काला धागा बाँध दिया जाये तो ऐसा करने से बच्चे बीमार कम पड़ते हैं।

आर्थिक लाभ मिलता है

ऐसा माना जाता है की जो व्यक्ति मंगलवार के दिन काले धागे को धारण करता है ऐसा करने से उसके घर में धन धान्य की कमी नहीं होती है हमेशा घर में सुख समृद्धि का वास होता है।

काला धागा बाँधने का वैज्ञानिक महत्व

आप सभी जानते हैं हमारा शरीर पंच तत्वों से मिलकर बना है। और इन पंच तत्वों से मिलने वाली एनर्जी से हमारे शरीर का संचालन होता है और हमारे शरीर को सही तरीके से काम करने में मदद मिलती है। लेकिन सूर्य की किरणों में बहुत सारी ऐसी एनर्जी होती है जो हम तक नहीं पहुँच पाती है। और काला रंग ऊष्मा का अवशोषक होता है जो हमारे शरीर में सूर्य की किरणों द्वारा निकलने वाली एनर्जी को अवशोषित करके हमारे शरीर में पहुंचाता है। जिससे शरीर में कई सकारात्मक बदलाव आते हैं, हम पॉजिटिव रहते हैं और शरीर में कई सारे रोगों से भी मुक्ति मिलती है।

तो यह हैं पैरों में काला धागा बाँधने के फायदे, यदि आप भी चाहे तो पैरों में काला धागा बाँध सकते हैं ताकि आपको भी पैरों में काला धागा बाँधने के फायदे मिल सकें। पैरों के साथ कुछ लोग हाथ, कमर, गले आदि में भी काला धागा बाँध लेते हैं और इससे भी आपको फायदा ही मिलता है।

काला धागा क्यों बाँधा जाता है पैरों में, काला धागा पहनने के फायदे, Why is black thread tied in feet

Leave a comment